एसीपी ने शुरू की जांच, एएसआई बलजीत नहीं करेंगे पब्लिक डीलिंग

Jalandhar News - उपकार नगर में बच्चे को थप्पड़ मारने के मामले की जांच शनिवार को एसीपी हरसिमरत सिंह ने जांच शुरू की है। वहीं, किशनलाल...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:50 AM IST
Jalandhar News - acp launches probe asi will not accept public dealing
उपकार नगर में बच्चे को थप्पड़ मारने के मामले की जांच शनिवार को एसीपी हरसिमरत सिंह ने जांच शुरू की है। वहीं, किशनलाल शर्मा पर एएसआई बलजीत सिंह को थाने में जातिसूचक शब्द कहने की भी जांच की जा रही हैं। जांच शुरू होते ही एएसआई बलजीत सिंह को पब्लिक डीलिंग करने से रोक किया गया है,

मगर वह थाने में जरनल ड्यूटी करेंगे। डीसीपी गुरमीत सिंह ने कहा कि जांच रिपोर्ट आने के बाद ही वह कुछ कह सकते हैं। बच्चे को थप्पड़ मारने का मामला संगीन हैं। उधर, किशनलाल शर्मा पीड़ित फैमिली के साथ पुलिस लाइन में डीसीपी से मिले। यहां पर एसीपी हरसिमरत सिंह और एसएचओ सुखजीत सिंह थे। डीसीपी ने रजनी की पूरी बात सुनी और कहा कि वह टेंशन न ले। उसके पति पर हमले करने वाले पड़ोसी विपिन को जल्द पकड़ लिया जाएगा। किशनलाल ने कहा कि मेरी किसी नेता किसी पुलिस अधिकारी के साथ निजी रंजिश नहीं है। इस मामले में उन पर झूठे आरोप लगाकर उनकी छवि को धूमिल करने की कोशिश की गई हैं। किशन लाल के समर्थन में पंजाब भाजपा के कार्यकारिणी सदस्य अशोक गांधी, मंडल भाजपा प्रधान डॉ. विनीत शर्मा, मंडल प्रधान राजिंदर शर्मा, युवा भाजपा प्रधान संजीव मनी, बाबा दविंदर कलेर, तजिंदर वालिया, अश्वनी अटवाल, बंटी अटवाल, चंदन भनोट, रणवीर नन्ना, जसविंदर सिंह, अजमेर सिंह बादल, नरिंदर सिंह, प्रदीप कुमार, जसवीर सिंह, संतोख सिंह, सरवन कुमार, ममता रानी, जसबीर कौर अौर नवीन भल्ला से साथ गए थे।

किशन लाल शर्मा पीड़ित फैमिली के साथ डीसीपी गुरमीत सिंह से मिले।

एेसे विवाद में फंस गया था एएसआई

रजनी के पति सचिन पर पड़ोसी विपिन ने अपने भाई और भाभी के साथ मिलकर हमला कर दिया। इनके खिलाफ केस दर्ज किया गया था। केस में विपिन के भाई और भाभी को बेल मिल गई थी, मगर वह फरार चल रहा है। वीरवार को एएसआई बलजीत सिंह आरोपी विपिन की तलाश में उसके घर गए थे। यहां पर पुलिस को देखकर सचिन के बेटे ने उनकी वीडियो बनानी शुरू कर दी। एएसआई पर आरोप है कि उसने बच्चे को थप्पड़ मारते हुए फोन छीन लिया। थप्पड़ से उसके कान से खून आ गया था। एएसआई मोबाइल लेकर थाना रामामंडी आ गए थे। यहां पर मामला गरमा गया था।

एएसआई के सर्मथन में आए वाल्मीकि नेता

किशन लाल शर्मा के खिलाफ और एएसआई बलजीत सिंह के समर्थन में वाल्मीकि नेता आ गए हैं। शनिवार को नेता राजपाल सिद्धू, सोमा गिल अौर लक्की थापर एक प्रतिनिधिमंडल के साथ डीसीपी गुरमीत सिंह से मिले। डीसीपी को एक दरखास्त देकर किशन लाल पर केस दर्ज करने की मांग की। उन्होंने कहा कि एएसआई बलजीत सिंह उनके समाज के है और उनके प्रति गलत शब्द बोलकर उनका अपनाम किया गया हैं। किशन लाल पर सख्त एक्शन न लिया गया तो वह संघर्ष करेंगे। डीसीपी को दरखास्त देने के बाद सीपी दफ्तर के बाहर नारेबाजी भी की गई।

Jalandhar News - acp launches probe asi will not accept public dealing
X
Jalandhar News - acp launches probe asi will not accept public dealing
Jalandhar News - acp launches probe asi will not accept public dealing
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना