• Hindi News
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Jalandhar News ardas to protect the water from the villages the rain will increase the crisis in himachal the elders said that after 1988 now there is so much water

गांवों में लाेग कर रहे पानी से बचाव की अरदास, हिमाचल में बारिश से बढ़ेगा संकट, बुजुर्गों ने कहा कि 1988 के बाद अब अाया इतना पानी

Jalandhar News - भास्कर टीम | शाहकोट, फिल्लौर, नकोदर सतलुज में हर घंटे रोपड़ हेडवर्क्स से पानी छोड़ा जा रहा था। पहली सूचना सुबह 6...

Bhaskar News Network

Aug 19, 2019, 07:50 AM IST
Jalandhar News - ardas to protect the water from the villages the rain will increase the crisis in himachal the elders said that after 1988 now there is so much water
भास्कर टीम | शाहकोट, फिल्लौर, नकोदर

सतलुज में हर घंटे रोपड़ हेडवर्क्स से पानी छोड़ा जा रहा था। पहली सूचना सुबह 6 बजे अाई थी। तभी गांवों में मुनादी कर कहा गया कि दोपहर 12 बजे तक फिल्लौर को एक लाख क्यूसिक पानी छू लेगा। इसके साथ ही नदी के किनारे के गांवों को खाली कराने का प्रोसेस शुरू हुअा। फिल्लौर में गांव अचणचक्कर, छोले बाजार अौर गन्ना में मुनादी कर घर खाली करने के अादेश दिए थे। इसी तरह नकोदर के गांव भूटे दा छन्ना, माधोपुर, संगोवाल अौर गादरा बोदा जैसे गांवों में सुरक्षित स्थानों पर जाने के अादेश हो गए। सबसे प्रभावित शाहकोट है। इसके 63 गांव बाढ़ के खतरे में हैं।

इनमें शामिल लासरा, महाजावाला, कोटली कंबोअां से लेकर मानो मच्छी अौर लोहगढ़ में चौकीदारों, पटवारियों व सरपंचों के जरिये गांव खाली कराने की मुनादी कर दी गई थी। लेकिन देर रात तक लोग गांव में ही थे, फिल्लौर के लोगों ने जरूर पशु व बाकी सामान उठा लिया था। सबसे बड़ी चिंता इस बात की है कि अगर हिमाचल में अौर बारिश होती है तो पानी का लेवल अौर भी बढ़ेगा। लोगों को अभी भी यही अास थी कि पानी सुरक्षित बह जाएगा व नुकसान नहीं होगा। कई गांवाें में दलिया बांटकर ईश्वर से सुरक्षा की अरदास की गई।

उफनते दरिया को देखकर बुजुर्गों ने कहा कि 1988 में एेसा बहाव अाया था। सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि जब बाढ़ अाती है तो ये रेत को बहाकर खेतों में जमा कर देती है। पहले तो वर्तमान धान की फसल बर्बाद हो गई। अब खेतों में जो रेत जमा हो जाएगी, इसे बाहर करने में कई दिन लगते हैं, तब जाकर ये फसल बोने लायक बन जाते हैं। वहीं, अापातकाल में पुलिस बल को भी तैनात कर दिया गया है।

सबसे ज्यादा प्रभावित शाहकोट, इसके 63 गांव बाढ़ के खतरे में, फिल्लौर के भी कई गांवों को खतरा

धुस्सी बांध के पास जिला प्रशासन के मुलाजिमों और राहत कर्मचारियों की तरफ से मिट्‌टी के बोरियां लगाकर किनारों को मजबूत किया जा रहा है।

कम्युनिटी हाल में राहत कैंप

जिला प्रशासन ने सरकारी स्कूलों, मेहतपुर की दाना मंडी, कम्यूनिटी इमारतों में राहत कैंप बनाए हैं।

अार्मी को लोकेशन समझाई

सारा दिन डीसी अाफिस में बाढ़ जैसे हालात निपटने के लिए तैयारी की गई। एनडीअारएफ व अार्मी को सतलुज नदी की लोकेशन, रूट व ग्रामीण हलकों की जानकारी दी गई।

रात 8 बजे दोबारा मुनादी रात 8 बजे जिला प्रशासन ने दोबारा गांवों के गुरुघरों के माध्यम से लोगों को जागरूक किया कि वह सुरक्षित स्थानों में चले जाएं।

12 बजे : राहत शिविर खाली

रात 12 बजे तक प्रशासन के 31 राहत शिविरों में केवल बाढ़ राहत में जुटा स्टाफ नजर अाया। शाहकोट में सूचना थी कि तड़के पानी पहुंचेगा। इससे पहले सभी लोग घरों में टिके थे।

दानेवाल बांध का काम जारी

बांध पर एसडीएम चारूमिता अौर विधायक लाडी शेरोवालिया बैठे थे। बांध के किनारे पक्के करने का काम जारी रहा। रात को फ्लड लाइटें लगाकर रिपेयर की गई है। खबर लिखे जाने तक काम जारी था।

सांसद चौधरी ने सतलुज किनारे फिल्लौर के गांवों का किया दौरा

जालंधर | सतलुज का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर आने के अलर्ट के बाद सांसद चौधरी संतोख सिंह ने रविवार दोपहर को फिल्लौर हलके में सतलुज किनारे वाले संवेदनशील गांवों छोले बाजार, मऊ साहिब, गांधी धाम, झंडी पीर, कंडियाना का दौरा किया। इस दौरान पंजाब कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी चौधरी विक्रमजीत सिंह, एडीसी जसबीर सिंह, एसडीएम फिल्लौर राजेश शर्मा और तहसीलदार तपन भनोट के साथ सांसद चौधरी ने नदी और आसपास के क्षेत्रों में जल स्तर का निरीक्षण किया। इलाका निवासियों से बात कर पूरी स्थिति पर उनकी प्रतिक्रिया ली। साथ ही प्रशासनिक अधिकारियों से अलर्ट के अनुरूप सभी संसाधन तत्काल मुहैया कराने को कहा। सांसद ने लोगों को भरोसा दिलाया कि वो घबराएं नहीं सरकार 24 घंटे स्थिति की निगरानी कर रही है।

कांग्रेस के जिला प्रधान भी वर्करों को साथ लेकर बाढ़ प्रभावित इलाके में करेंगे सहयोग

बांध की कई साल से सही तरीके से नहीं हुई रिपेयर

सतलुज के जलस्तर का जायजा लेते सांसद चौधरी संतोख सिंह।

Jalandhar News - ardas to protect the water from the villages the rain will increase the crisis in himachal the elders said that after 1988 now there is so much water
Jalandhar News - ardas to protect the water from the villages the rain will increase the crisis in himachal the elders said that after 1988 now there is so much water
Jalandhar News - ardas to protect the water from the villages the rain will increase the crisis in himachal the elders said that after 1988 now there is so much water
Jalandhar News - ardas to protect the water from the villages the rain will increase the crisis in himachal the elders said that after 1988 now there is so much water
X
Jalandhar News - ardas to protect the water from the villages the rain will increase the crisis in himachal the elders said that after 1988 now there is so much water
Jalandhar News - ardas to protect the water from the villages the rain will increase the crisis in himachal the elders said that after 1988 now there is so much water
Jalandhar News - ardas to protect the water from the villages the rain will increase the crisis in himachal the elders said that after 1988 now there is so much water
Jalandhar News - ardas to protect the water from the villages the rain will increase the crisis in himachal the elders said that after 1988 now there is so much water
Jalandhar News - ardas to protect the water from the villages the rain will increase the crisis in himachal the elders said that after 1988 now there is so much water
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना