सावधान रहें! ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ में चल रहा ठगी का धंधा

Jalandhar News - ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ एजुकेशन स्कीम के नाम पर ठगी के मामले होने लगे हैं। फॉर्म की फोटोकॉपी और फॉर्म भरने के नाम पर...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 08:01 AM IST
Jalandhar News - be careful 39beti bachao beti padhao39 business running fraud
‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ एजुकेशन स्कीम के नाम पर ठगी के मामले होने लगे हैं। फॉर्म की फोटोकॉपी और फॉर्म भरने के नाम पर 500 रुपए तक की वसूली की जा रही है। जालसाजों द्वारा लेटर तक लोगों के घर भेजे जा रहे हैं। जिले में इस योजना के नाम पर बढ़ती जालसाजी को रोकने के लिए खुद जिला प्रशासन को सामने आना पड़ा है। इसके लिए प्रशासन की ओर से शहर में बड़े बड़े हाेर्डिंग लगवाएं गए हैं। इनमें ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ स्कीम के नाम पर हो रही ठगी से लोगों को आगाह किया गया है। प्रशासनिक परिसर के बाहर लगे हाेर्डिंग में प्रशासन की ओर से बताया गया है कि महिला और बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार के संज्ञान में आया है कि ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ स्कीम के तहत नकद धन मिलने के नाम पर कुछ गलत लोगों और गैर-सरकारी संगठनों द्वारा फॉर्म बेचे जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ स्कीम के तहत किसी को भी नकद राशि का भुगतान नहीं किया जाता है। योजना के तहत नकद भुगतान करने का वादा करने वाला व्यक्ति या संगठन लोगों को धोखा दे रहा है।

ऐसे कर रहे ठगी : जालसाज बता रहे हैं कि 8 से 32 वर्ष तक की लड़कियों का बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का पंजीकरण फॉर्म भरकर भारत सरकार को भेजने पर लड़कियों के खाते में दो-दो लाख आ जाएंगे। फॉर्म पर भेजने का पता भारत सरकार रक्षा मंत्रालय का डाला है।

अगर कोई पैसे लेकर योजना का लाभ दिलाने की बात कहे तो पुलिस को बताएं

जिला प्रशासन का कहना है कि इस तरह के धोखे से काम करने वाले व्यक्ति या संगठन के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जहां भी इस तरह की धोखाधड़ी होती है, उनके खिलाफ पुलिस रिपोर्ट दर्ज की जाएगी। लोगों को ऐसी योजनाओं के धोखे में नहीं पड़ने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा बिना जाने व समझे किसी को अपनी व्यक्तिगत जानकारी जैसे आधार कार्ड, बैंक विवरण, बोनस नंबर, ईमेल आईडी न भेजें। अपराध में शामिल व्यक्ति या संगठन के बारे में नजदीकी पुलिस स्टेशन को सूचित करें।

फर्जी स्कीम के नाम पर भराए जा रहे फार्म

कंज्यूमर राइट एंड प्राेटेक्शन के प्रधान भूपिंदर पॉल का कहना है कि कुछ दिनों पहले शहर के कई क्षेत्रों में फर्जी तरीके से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ स्कीम के तहत लोगों को दो लाख मिलने के नाम पर लूटा जा रहा है। जबकि केंद्र सरकार की ऐसी कोई स्कीम नहीं चल रही है। इसकी शिकायत भी जिला प्रशासन से की गई थी पर काेई ठाेस कार्रवाई नहीं हुई।

सरपंच को भी मिला था स्कीम का लेटर

नकोदर क्षेत्र के एक पूर्व सरपंच को सुखविंदर को कुछ समय पहले ही एक लेटर मिला था, जिसमें एक फार्म का प्रारूप के साथ इस योजना के तहत दो लाख रुपए मिलने की जानकारी दी गई थी। लेटर में अधिक से अधिक लोगों को योजना का लाभ दिलाने की बात कही गई थी। जब सरपंच ने इस मामले में जानकारी हासिल की तो मामला फ्राड निकला।

X
Jalandhar News - be careful 39beti bachao beti padhao39 business running fraud
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना