निगम का दावा- नहीं भरता पानी कोर्ट में फोटो समेत पेश होगा मुद्दई

Jalandhar News - बस्ती गुजां 120 फुटी रोड पर स्थित बाग आहलुवालिया मोहल्ला में बरसात का पानी जमा होने के बाद हाईकोर्ट में पिटीशन दायर...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:55 AM IST
Jalandhar News - claim of corporation no issue to be filed in court including photo with court
बस्ती गुजां 120 फुटी रोड पर स्थित बाग आहलुवालिया मोहल्ला में बरसात का पानी जमा होने के बाद हाईकोर्ट में पिटीशन दायर करने वाले राकेश कुमार ने फोटोग्राफी करके पेश होने की तैयारी कर ली है। इलाके में पानी जमा होने से परेशानी और प्रॉपर्टी डैमेज होने संबंधी राकेश कुमार ने 2015 से केस कर रखा है। इसकी अगली तारीख 23 अगस्त है। इस केस में निगम के एक्सईएन निगम को लिखकर दे चुके हैं कि समस्या हल हो चुकी है लेकिन समस्या जस की तस है। अब राकेश कुमार हाईकोर्ट में दोबारा अपना पक्ष रखेंगे।

जिक्रयोग है कि इस इलाके में साल बरसात का पानी लोगों के घरों अंदर घुस जाता है। इलाके के लोगों ने सीनियर डिप्टी मेयर व निगम अधिकारियों को लिखित में शिकायत भी दे रखी है, लेकिन समस्या का हल नहीं हो रहा। बरसात से लोगों के मकान डैमेज हो रहे हैं और उनका सामान खराब हो रहा है। बाग आहलुवालिया निवासी राकेश कुमार ने बताया कि उन्होंने समस्या के हल के लिए जब निगम अधिकारियों को 2015 में बोला था तो निगम एक्सईएन ने अपने निगम को लिखा कि उन्होंने 24 घंटे में समस्या का हल करवा दी गई है।

राकेश कुमार ने बताया कि 2015 में उन्होंने हाईकोर्ट में निगम के खिलाफ सिविल रिट पिटीशन (सीडब्ल्यूपी 8676) दायर की हुई है, जिसकी तारीख अब 23 अगस्त पड़ी है। हर साल बरसात के कारण उनके घर में 2-2 फीट पानी घुस जाता है। 15 साल पुरानी उनकी प्राॅपर्टी डैमेज हो रही है, जिसका जिम्मेदार निगम है। राकेश कुमार ने बताया कि उन्होंने रिट में हाईकोर्ट को साफ साफ लिखा है कि निगम को स्टॉर्म सीवरेज डालना चाहिए ताकि लोगों के घर बच सकें। निगम के एक्सईएन ने गलत रिपोर्ट बनाकर अपने अधिकारियों को भेजी थी कि ट्रीटमेंट प्लांट सही है और इलाके में पानी जमा नहीं होता और समस्या का हल 24 घंटे में करवा दिया गया है, जबकि ऐसा कुछ नहीं है। ट्रीटमेंट प्लांट से लोगों का कुछ लेना-देना नहीं है। बल्कि उन्हें तो बरसाती पानी से छुटकारा पाना है।

राकेश कुमार।

कहा- 15 साल से बरसात का पानी घुस रहा घरों में, डैमेज हो रही प्रॉपर्टी

बाग आहलुवालिया मोहल्ले की गली में जमा बरसाती पानी।

भास्कर न्यूज | जालंधर

बस्ती गुजां 120 फुटी रोड पर स्थित बाग आहलुवालिया मोहल्ला में बरसात का पानी जमा होने के बाद हाईकोर्ट में पिटीशन दायर करने वाले राकेश कुमार ने फोटोग्राफी करके पेश होने की तैयारी कर ली है। इलाके में पानी जमा होने से परेशानी और प्रॉपर्टी डैमेज होने संबंधी राकेश कुमार ने 2015 से केस कर रखा है। इसकी अगली तारीख 23 अगस्त है। इस केस में निगम के एक्सईएन निगम को लिखकर दे चुके हैं कि समस्या हल हो चुकी है लेकिन समस्या जस की तस है। अब राकेश कुमार हाईकोर्ट में दोबारा अपना पक्ष रखेंगे।

जिक्रयोग है कि इस इलाके में साल बरसात का पानी लोगों के घरों अंदर घुस जाता है। इलाके के लोगों ने सीनियर डिप्टी मेयर व निगम अधिकारियों को लिखित में शिकायत भी दे रखी है, लेकिन समस्या का हल नहीं हो रहा। बरसात से लोगों के मकान डैमेज हो रहे हैं और उनका सामान खराब हो रहा है। बाग आहलुवालिया निवासी राकेश कुमार ने बताया कि उन्होंने समस्या के हल के लिए जब निगम अधिकारियों को 2015 में बोला था तो निगम एक्सईएन ने अपने निगम को लिखा कि उन्होंने 24 घंटे में समस्या का हल करवा दी गई है।

राकेश कुमार ने बताया कि 2015 में उन्होंने हाईकोर्ट में निगम के खिलाफ सिविल रिट पिटीशन (सीडब्ल्यूपी 8676) दायर की हुई है, जिसकी तारीख अब 23 अगस्त पड़ी है। हर साल बरसात के कारण उनके घर में 2-2 फीट पानी घुस जाता है। 15 साल पुरानी उनकी प्राॅपर्टी डैमेज हो रही है, जिसका जिम्मेदार निगम है। राकेश कुमार ने बताया कि उन्होंने रिट में हाईकोर्ट को साफ साफ लिखा है कि निगम को स्टॉर्म सीवरेज डालना चाहिए ताकि लोगों के घर बच सकें। निगम के एक्सईएन ने गलत रिपोर्ट बनाकर अपने अधिकारियों को भेजी थी कि ट्रीटमेंट प्लांट सही है और इलाके में पानी जमा नहीं होता और समस्या का हल 24 घंटे में करवा दिया गया है, जबकि ऐसा कुछ नहीं है। ट्रीटमेंट प्लांट से लोगों का कुछ लेना-देना नहीं है। बल्कि उन्हें तो बरसाती पानी से छुटकारा पाना है।

Jalandhar News - claim of corporation no issue to be filed in court including photo with court
X
Jalandhar News - claim of corporation no issue to be filed in court including photo with court
Jalandhar News - claim of corporation no issue to be filed in court including photo with court
COMMENT