जालंधर / 60 किमी रफ्तार से चली आंधी-तूफान से हजारों एकड़ फसल बिछी, 2 की मौत



फाजिल्का में तेज बारिश व अंधड़ से जमीन पर बिछी गेहूं की फसल। फाजिल्का में तेज बारिश व अंधड़ से जमीन पर बिछी गेहूं की फसल।
X
फाजिल्का में तेज बारिश व अंधड़ से जमीन पर बिछी गेहूं की फसल।फाजिल्का में तेज बारिश व अंधड़ से जमीन पर बिछी गेहूं की फसल।

  • सूबे में आंधी के बाद तेज बारिश, कई जिलों में पेड़ व खंभे गिरे, बिजली रही गुल
  • किसानों की कैप्टन सरकार से मांग, गिरदावरी कर मिले मुआवजा

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2019, 06:20 AM IST

जालंधर. सूबे में सोमवार देर रात 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चली धूलभरी आंधी व तूफान से कई जिलों में हजारों एकड़ फसल बिछ गई। फरीदकोट, अबोहर, फाजिल्का, जालंधर, होशियारपुर, अमृतसर, गुरदासपुर में आंधी से सैकड़ों पेड़ गिरने से यातायात बाधित हुआ और बिजली सप्लाई भी प्रभावित रही। फाजिल्का मंे आंधी से अब तक 2 की मौत हो चुकी है। मंगलवार को शेड गिरने से 1 की मौत और 2 व्यक्ति जख्मी हो गए। कई जगह सोमवार रात से गुल बिजली मंगलवार दोपहर तक बहाल हो पाई। बुधवार को बादल छाए रहने के आसार हैं।

 

कटाई खर्च बढ़ा : गेहूं की फसल बिछने से किसानों को इसका झाड़ कम मिलेगा। गेहूं की कंबाइन से कटाई के अलावा उनको 1000 रुपए प्रति एकड़ अतिरिक्त खर्च यानी कुल खर्च 2500 रुपए प्रति एकड़ आएगा। किसानों की मांग है कि गेहूं की फसल की गिरदावरी कर मुआवजा दिया जाए।

 

फल और सब्जियों को नुकसान : गेहूं की फसल के अलावा सरसों की फसल पर भी मार पड़ी है। वहीं, सब्जी और किन्नू की फसल पर भी बारिश का असर पड़ा है। हरी-मिर्च, पेठा व कई सब्जियों के 30 फीसदी तक फूल गिर गए हैं।

 

फरीदकोट में 10.2 एमएम बारिश : सोमवार को बारिश के बाद गर्मी से राहत मिली है। सबसे ज्यादा बारिश फरीदकोट में 10.2 एमएम दर्ज की गई । लुधियाना में 9.1 एमएम, बठिंडा में 8.6 व सबसे कम बारिश अमृतसर में 0.5 एमएम रिकॉर्ड हुई।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना