लोकसभा चुनाव / पैराशूट कैंडिडेट न कहलाएं, इसलिए जाखड़ ने पठानकोट में एक महीने पहले ही खरीदी कोठी, तेजी से बन रही है सड़क

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 08:04 AM IST



जाखड़ की कोठी, जहां चल रही रंगाई-पुताई जाखड़ की कोठी, जहां चल रही रंगाई-पुताई
दिन-रात चल रहा सड़क का काम दिन-रात चल रहा सड़क का काम
X
जाखड़ की कोठी, जहां चल रही रंगाई-पुताईजाखड़ की कोठी, जहां चल रही रंगाई-पुताई
दिन-रात चल रहा सड़क का कामदिन-रात चल रहा सड़क का काम
  • comment

  • निगम-इंप्रूवमेंट ट्रस्ट का ध्यान सिर्फ पॉश इलाके पर 

पठानकोट .  एक महीने पहले ही कांग्रेस के गुरदासपुर के सांसद व मौजूदा लोकसभा कैंडिडेट सुनील जाखड़ ने लगभग सवा करोड़ रुपए में पठानकोट के पॉश इलाके सियाली रोड पर एक कोठी खरीदी है। गौरतलब है कि गुरदासपुर सीट में ज्यादातर कैंडिडेट पैराशूट ही कहलाए जाते हैं, कारण उन्हें बाहर से लाकर उतारा जाता है। यही धारणा तोड़ने के लिए जाखड़ ने कोठी खरीदी है, ताकि पैराशूट कैंडिडेट का आरोप उन पर न लगे। उन्होंने 2014 में भी चुनाव तक एक कोठी किराए पर ली थी, वहीं से ही इन्होंने चुनावों को संचालित किया था।


पटेल चौक से लेकर सियाली रोड का निर्माण 42 लाख खर्च कर किया जा रहा है क्योंकि, इसी रोड पर सुनील जाखड़ के अलावा भाजपा की कविता खन्ना और विधायक अमित विज की भी कोठी पड़ती हैं। दूसरी तरफ शहर में सबसे खस्ताहाल ढाकी रोड है, जिसकी तरफ किसी का ध्यान नहीं है। ढाकी रोड के लोगों का कहना है कि सांसद के एरिया की सड़क बन रही हैं, जिसकी हालत भी ठीक थी, लेकिन उनकी ओर निगम ध्यान नहीं दे रहा। वहीं, नगर निगम और इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के अधिकारियों का तर्क है कि इन सड़कों के काम के टेंडर आचार संहिता लागू होने के पहले के हैं। गौरतलब है कि सड़क बनाने को लेकर भाजपा और कांग्रेस में क्रेडिट वॉर भी शुरू हो गया है। इसको लेकर दोनों दलों के वर्करों में मारपीट तक हो चुकी है।

 

शोकसभाओं में बादल दे रहे सिरोपा, चुनाव खर्च में जुड़ेगा : चुनावी माैसम में पूर्व सीएम परकाश सिंह बादल के रोजाना 15-16 शाेकसभाअाें में जाने का चुनाव अायाेग ने नाेटिस लिया है। अायाेग काे खबर मिली थी कि गांव तरमाला में शोकसभा के दाैरान अन्य पार्टियों के लोगों को पार्टी में शामिल कर सिरोपे भेंट किए गए। एआरओ व मुक्तसर के एडीसी डॉ. रिचा ने बताया कि मामला 12 अप्रैल का है। चुनाव अायाेग ने पूर्व सीएम बादल द्वारा गांव तरमाला के रहने वाले शिअद नेता मनदीप सिंह पप्पी के घर पर गांव दियोण खेड़ा से आए कुछ लोगों को पार्टी में शामिल कर सिरोपे भेंट करने पर एतराज जताया है। जितने भी सिरोपे दिए गए उनकी गिनती कर खर्च शिअद के चुनाव खर्च में जाेड़ने के निर्देश हैं। फिलहाल यह नहीं बताया कि कितने लोगों को सिरोपा दिया गया है।

 

सिर्फ वही बोर्ड उतारा जिसका फोटो सी-विजिल पर डाला : जिन कंधों पर निष्पक्ष चुनाव की जिम्मेदारी है, वे अधिकारी तथा कर्मचारी आंखें बंद किए हैं। शिकायत मिलने पर सिर्फ उतना ही काम किया जा रहा है, जिसकी शिकायत मिली है। भास्कर टीम द्वारा जब पक्का कॉलेज रोड का दौरा किया गया तो पता चला कि सिर्फ उसी जगह से बोर्ड उतारा गया था, जिसकी शिकायत सी-विजिल पर की गई थी। जबकि दूसरे बोर्ड पर कर्मचारियों की नजर नहीं पड़ी। पक्का कॉलेज रोड पर लगे बोर्ड के 25 फीट पहले पेट्रोल पंप के बिल्कुल पास एक बोर्ड पहले की तरह लगा था और उसके 25 फीट बाद गोशाला वाली गली के पास भी दूसरा बोर्ड वैसे ही नजर आया। इन बोर्ड को उतारने के लिए आयोग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने जहमत नहीं दिखाई। बोर्ड की फोटो सी-विजिल पर डालने के 2 घंटे बाद मैसेज आया कि अापकी शिकायत पर कार्रवाई हो गई है।

 

मोदी-शाह की जोड़ी देश के लिए बड़ा खतरा: उन्होंने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान लोगों को अवगत करवाया जाएगा कि नरिंदर मोदी व अमित शाह की जोड़ी कैसे देश के लिए बड़ा खतरा है। पंजाब में नशा व किसान खुदकुशियां सबसे बड़े मुद्दे हैं, परंतु कैप्टन सरकार ने धार्मिक सोगंध खाकर भी इन मुद्दों के हल के लिए किए वादे पूरे नहीं किए। यह मुद्दे लेकर लोगों में जाया जाएगा। 
आप द्वारा गठबंधन को पहल देने संबंधी किए गए सवाल पर सिसोदिया ने कहा कि मोदी व अमित शाह की जोड़ी को सत्ता से हटाना ही लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि पंजाब के लोग अकाली-भाजपा गठबंधन व कांग्रेस से नाराज हैं।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन