पंजाब / 5 दिन की पढ़ाई करके पेपर देंगे बीएड व लॉ के स्टूडेंट्स, सोचिए कैसे बनेंगे शिक्षक और वकील



प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

Dainik Bhaskar

Nov 08, 2019, 04:03 AM IST

बठिंडा (प्रदीप शर्मा). अध्यापन में कैरियर बनाने वाले और कानून की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थी महज 5 दिन की पढ़ाई करके ही पहले सेमेस्टर की परीक्षा देंगे। सरकार के निर्देशों पर पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला और पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ ने इन बीएड व लॉ के फर्स्ट ईयर में दाखिला की तारीख बढ़ाकर 15 नवंबर तक कर दी है जबकि 29 नवंबर से पहले सेमेस्टर की परीक्षाएं हैं और कॉलेजों में यूनिवर्सिटी नियमानुसार 20 नवंबर से बच्चों को फ्री कर दिया जाएगा। यूनिवर्सिटी कैलेंडर मुताबिक नए सेशन की क्लास 1 अगस्त से शुरू हो चुकी हैं लेकिन अभी तक दाखिला प्रक्रिया चल रही है। इसके चलते अभी सही तरीके से पढ़ाई शुरू नहीं हो सकी है।

 

शिक्षा मंत्री के निर्देश पर बढ़ी दाखिले की तारीख
इस बार उच्च शिक्षामंत्री तृप्त प्रताप सिंह बाजवा के निर्देशानुसार पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला व पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ ने छठी बार दाखिले की तारीख बढ़ाई गई है। कॉलेजों में बीएड और लॉ के लिए 15 नवंबर तक दाखिला लिया जा सकेगा। पहले कॉलेजों में 9 से 20 जुलाई तक दाखिला तारीख थी जिसे बढ़ाकर 21 से 31 जुलाई कर दी। फिर 1 अगस्त से 7 अगस्त, इसके बाद 31 अगस्त कर दी जबकि इसके बाद 14 सिंतबर तक और कैंपस में 16 सितंबर तक दाखिला तारीख रखी गई।
 

नया दाखिला लेने वालों को होगी ज्यादा परेशानी:  

सरकार ने यह फैसला प्राइवेट कॉलेजों में सीटें खाली रहने के तहत किया है लेकिन इससे कॉलेजों में डमी एडमिशन को प्रोत्साहन मिलेगा। हालांकि यूनिवर्सिटी नियमानुसार 75 प्रतिशत हाजिरी के अलावा बायोमैट्रिक अटेंडेंस का प्रावधान है लेकिन लगातार तारीख बढ़ाने की वजह से कॉलेज क्लासों में हाजिरी लगाने के नियम बेमानी साबित हो रहे हैं। दाखिला लेकर विद्यार्थी रोल नंबर इश्यू करवाकर सीधा पेपरों में बैठने की रवायत बढ़ेगी। यही नहीं, यूनिवर्सिटी के लिए एग्जाम के ऐन मौके पर दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों के लिए रोल नंबर के अलावा क्वेश्चन पेपर संबंधी अनेक तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। हालांकि यूनिवर्सिटी की एटानाॅमिस बॉडी है जिसके पास अकादमिक स्तर पर पढ़ाई, सिलेबस व एग्जाम आदि करवाने की स्वायत्तता है लेकिन सरकार के दखलअंदाजी की वजह से यूनिवर्सिटी के फैसले को चुनौती मिली है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना