Hindi News »Punjab »Jalandhar» रबड़ फैक्टरी में लगी भीषण आग, लाखों का नुकसान

जालंधर: रबड़ फैक्टरी में लगी भीषण आग, कई किलोमीटर से दिखाई दे रही थी लपटें

श्रम विभाग के डिप्टी डायरेक्टर द्वारका दास ने मामले की जांच करवाने की बात कही है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Aug 12, 2018, 04:31 PM IST

जालंधर: रबड़ फैक्टरी में लगी भीषण आग, कई किलोमीटर से दिखाई दे रही थी लपटें

जालंधर। जालंधर के लम्बा पिंड चौक के पास स्थित रबड़ की चप्पल बनाने वाली लांबा रबड़ इंडस्ट्री में शनिवार देर रात करीब 10 बजे भीषण आग लग गई। आग इतनी जबरदस्त लगी थी कि उसकी लपटें कई किलोमीटर दूर तक दिखाई दे रही थी। सूचना मिलते ही दमकल विभाग की गाड़ियां मौके पर पहुंची। करीब चार घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। फैक्टरी मालिक रमेश लाबा ने लाखों रुपए के नुकसान की बात कही है। आग लगने की वजह शाॅर्ट सर्किट को माना जा रहा है, वहीं कई और तरह की बातें भी सामने आई जैसे फैक्टरी में उपयुक्त उपकरण नहीं होना, धुएं की वजह से आग पर काबू पाने में दिक्कत आना और पुलिस की हदबंदी के चलते कार्रवाई में देरी वगैरह।

तेज लपटों ने इस कदर भीषण रूप ले लिया कि आसपास के घरों को भी नुकसान पहुंचने की आशंका बढ़ गई। कई घरों में दरारें आनी शुरू हो गई थी। दहशत में देर रात तक लोग परिवार समेत सड़कों पर खड़े रहे। रात करीब 1.30 बजे तक लोग घरों से बाहर ही थे।

फैक्टरी के मालिक रमेश लांबा के मुताबिक उन्हें करीब 10 बजे फोन आया कि फैक्टरी से आग की लपटें निकल रही हैं। वो तुरन्त मौके पर पहुंचे तो देखा कि आग बुरी तरह से फैल चुकी थी। उन्होंने दमकल विभाग को फोन किया तो तुरन्त पानी से भरी गाड़ियां मौके पर पहुंच गई। रमेश का कहना था कि आग की वजह से उनका लाखों का नुकसान हो गया है। आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है, लेकिन बताया जा रहा था कि आग शाॅर्ट सर्किट से लगी है। रमेश लांबा ने बताया कि फैक्टरी में कोई रहता नहीं था, जिस कारण कोई जानी नुकसान नहीं हुआ।

फैक्टरी में नहीं थे अग्निशमन यंत्र, मजदूरों से निकलवाया बचा सामान

बताया जाता है कि इस रबड़ फैक्टरी के सुरक्षा इंतजामों में कई गंभीर खामियां भी थी। फैक्टरी में रबड़ के साथ-साथ कैमिकल भी रखा होता है। बावजूद इसके अंदर अग्निशमन यंत्र नहीं थे। मौके पर पहुंचे फायर अफसर राजिंदर कुमार सहोता ने बताया कि आग बुझाने के दौरान अंदर कोई भी अग्निशमन यंत्र नजर नहीं आया। उन्होंने बताया कि वो इस मामले की जांच करवाएंगे। वहीं प्रत्यक्षदर्शियों का आरोप था कि फैक्टरी मालिक ने अपना सामान बचाने के लिए श्रमिकों की जिंदगी दांव पर लगा दी। फैक्टरी मालिक ने अपने श्रमिकों को छत के रास्ते अंदर भेजा और बचा हुआ सामान बाहर लाने को कहा। ऐसे में कोई गंभीर हादसा हो सकता था।

हदबंदी में उलझी रही पुलिस

फैक्टरी में आग लगने की सूचना मिलने के बाद करीब डेढ़ घंटा पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। लोगों का कहना था कि कई बार थाना 8 और थाना 3 की पुलिस को फोन किया गया लेकिन काफी देर तक कोई नहीं पहुंचा। दोनों थानों की पुलिस अपनी हदबंदी न होने की बात कह रही थी। बाद में इलाका थाना रामामंडी का निकला।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jalandhar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×