पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

10 मिनट में 3 बोगियों में फैली आग, 80 तापमान में शाॅर्ट सर्किट से ये संभव नहीं, आग लगाई गई

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिछली रात सरयू-यमुना एक्सप्रेस में लगी आग।
  • फ्लाइंग मेल में आग का मामला फॉरेंसिक और पुलिस को आशंका
  • अंदेशा या तो किसी ने आग जलाई या किसी केमिकल से भड़की आग
  • नागरिकता एक्ट के विरोध के चलते किसी की शरारत भी मान रहीं सुरक्षा एजेंसियां

जालंधर. जय नगर से अमृतसर जा रही सरयू-यमुना एक्सप्रेस (फ्लाइंग मेल) बुधवार रात बर्निंग ट्रेन क्यों बनी, इसका कारण जानने के लिए वीरवार सुबह करतारपुर रेलवे स्टेशन पर फोरेंसिक टीम जांच के लिए पहुंची। टीम ने एस-2 में लगी आग के कारणों को पता लगाने के लिए इलेक्ट्रिक बोर्ड व अन्य बिजली का सामान जांच के लिए चंडीगढ़ भिजवाया।


आग लगने के कारणों के सैंपल लेने के बाद जांच पूरी होने तक के लिए तीनों बोगियों को सीलकर दिया गया है। जांच में शार्ट सर्किट से आग, एसी में आग, बैटरी फटने या फिर पुर्जों के लीक किए आयल से आग लगने जैसे कारणों पर फोकस सेकेंडरी है लेकिन बेहद सर्द रात में आग लगी है तो पहला फोकस इस बात पर है कि किसी ने जानबूझकर तो आग नहीं लगाई। इस संदेह को बल इस बात से भी मिल रहा है कि महज 5 मिनट में 21 बोगी वाली ट्रेन की 6,7,8 नंबर बोगी (एस-1,2,3) में आग लग गई।

अभी क्लियर नहीं हुआ कि हादसा है या सोची-समझी साजिश।
फोरेंसिक टीम सैंपल लेकर गई है। नागरिकता एक्ट को लेकर विरोध को हुए शरारती तत्वों का हाथ होने की भी आशंका है। सुरक्षा एजेंसियां शक जता रही हैं कि आतंकी घटना तो नहीं है।

आज भी रद्द रहेगी सरयू यमुना एक्सप्रेस
ट्रेन में आगजनी के बाद अमृतसर से जयनगर ट्रेन को रद्द कर दिया गया। स्टेशन सुपरिंटेंडेंट अक्षय पठानिया ने कहा कि शुक्रवार को यह ट्रेन जानी थी, लेकिन इसे रद्द कर दिया गया है।

हादसा...चश्मदीद की जुबानी
सुखदेव सिंह ने बताया कि वे अंबाला से अमृतसर की तरफ एस-4 बोगी में बैठे हुए थे। 10:25 मिनट पर जैसे ही ट्रेन करतारपुर स्टेशन पर पहुंची तो एस-2 कोच में आग की लपटें निकलती देखीं। उन्होंने एस-4 में सो रहे लोगों को उठाना चाहा तो वे उठ नहीं रहे थे। जोर-जोर से चिल्लाए कि आग लग गई तो लोग अपना-अपना सामान लेकर भागने लगे। अगर आग तेज रफ्तार चल रही ट्रेन में लगती तो कई जानें जा सकती थीं। यात्री यही बात बार-बार कर रहे थे कि जालंधर से फिल्लौर में और अमृतसर से पहले ब्यास दरिया आता है। इनके आसपास घटना होती तो कूदने को जमीन भी न मिलती।

जाॅइंट सेक्रेटरी लेवल की तीन सदस्यीय कमेटी करेगी जांच
डीआरएम राजेश अग्रवाल ने बताया कि जैसे ही ट्रेन को आग लगी तो तुरंत जीएम टीपी सिंह और उन्होंने रेलवे अधिकारियों को मौके पर पहुंचने के लिए कहा। जीएम के आदेश पर उच्च स्तरीय जांच के लिए जाॅइंट सेक्रेटरी लेवल के अधिकारियों की तीन मेंबरी कमेटी बनाई गई है। डीआरएम के मुताबिक कोचों की सीटें, सनमाइका बोर्ड, लकड़ी के पट्‌टे आदि जले हैं। रेलवे का करीब 3 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें