पंजाब / दरियाओं के उफान से कई जिलों में हालात बिगड़े, सीएम ने ऐलाने 100 करोड़



फिल्लौर में सतलुज नदी के इलाके में बाढ़ की चपेट में आए लोगों को बचाती एनडीआरएफ की टीम। फिल्लौर में सतलुज नदी के इलाके में बाढ़ की चपेट में आए लोगों को बचाती एनडीआरएफ की टीम।
Flood Situation in several Districts of Punjab after heavy rainfall
Flood Situation in several Districts of Punjab after heavy rainfall
X
फिल्लौर में सतलुज नदी के इलाके में बाढ़ की चपेट में आए लोगों को बचाती एनडीआरएफ की टीम।फिल्लौर में सतलुज नदी के इलाके में बाढ़ की चपेट में आए लोगों को बचाती एनडीआरएफ की टीम।
Flood Situation in several Districts of Punjab after heavy rainfall
Flood Situation in several Districts of Punjab after heavy rainfall

हिमाचल प्रदेश में जारी बारिश के कारण भाखड़ा बांध से लगातार तीसरे दिन छोड़ना पड़ा पानी

सतलुज समेत कई नदी-नाले उफान पर, करीब 200 गांव खाली करवाने के निर्देश

Dainik Bhaskar

Aug 19, 2019, 05:20 PM IST

जालंधर. पहाड़ों और मैदानी हिस्‍सों में तीन दिनों से बारिश जारी रहने से पंजाब में नदियों ने विकराल रूप धारण कर लिया है। सतलुज सहित सारी नदियां उफान पर हैं और कई क्षेत्रों में बाढ़ आ गई है। वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बाढ़प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा करके राहत और पुनर्वास के लिए 100 करोड़ का ऐलान किया है।

 

जालंधर के फ‍िल्लौर के पास सतलुज नदी के किनारे बना बांध टूट गया। इससे नजदीकी गांवों ओवाल और भोलेवाल व आसपास के क्षेत्र में नदी का पानी घुस गया। इससे इन गांवों का संपर्क अन्‍य क्षेत्रों से टूट गया। इन गांवों में कुछ लोग पानी में फंसे हुए हैं। उन्हें निकालने के लिए प्रशासन, सेना और एनडीआरएफ ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया है। प्रशासन के अनुसार अभी तक रेस्क्यू टीम ने बाढ़ में फंसे चार लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया है। जालंधर के डीसी वरिंदर कुमार शर्मा का कहना है कि पानी में फंसे लोगों को निकालने के लिए रेसक्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया गया है। फंसे लोगों को जल्द की बाहर निकाल लिया जाएगा।

 

प्रदेश में अधिकतर जगहों पर शनिवार और रविवार के बाद सोमवार सुबह भी जोरदार बारिश हुई। दूसरी ओर हिमाचल प्रदेश में जारी बारिश के कारण भाखड़ा बांध से लगातार तीसरे दिन पानी छोड़ना पड़ा। इससे सतलुज समेत कई नदी-नाले उफान पर हैं। करीब 200 गांव खाली करवाने के निर्देश दिए गए हैं।

 

भाखड़ा बांध में पानी की आवक

सोमवार को भाखड़ा डैम का जलस्तर 1680.80 फीट तक पहुंच गया। 24 घंटे में पानी की आवक 130936 क्यूसेक दर्ज की गई है। इस दौरान जलस्‍तर 3.86 फीट बढ़ा है।

 

कहां कैसे है हालात?

  • जालंधर के 81, नवांशहर के 67, फिरोजपुर के 17, लुधियाना के 17, मोगा के चार व तरनतारन के तीन गांव शामिल हैं। लोगों को राहत कैंपों में भेजा गया है।
  • रूपनगर के 28 गांवों में बाढ़ जैसी स्थिति है। रेलवे ट्रैक पर पानी होने के कारण हिमाचल एक्सप्रेस रद्द कर दी गई है।
  • गुरदासपुर के मकौड़ा पत्तन में रावी नदी के पार फंसे 15 शिक्षकों को सुरक्षित निकाल लिया गया।
  • सतलुज में उफान के कारण सोमवार को भी फिरोजपुर में बने हुसैनीवाला हेड पाकिस्‍तान की ओर पानी छोड़ा जा रहा है।

 

इन रेलगाड़ियों पर पड़ा असर

बाढ़ के कारण जालंधर फिरोजपुर 54643, जालंधर से फिरोजपुर जाने वाली 74931, फिरोजपुर से जालंधर जाने वाली 74932, फिरोजपुर से जालंधर जाने वाली 74934, फिरोजपुर से जालंधर आने वाली 54644, जालंधर-होशियारपुर 54638,जालंधर-फिरोजपुर आने वाली 74935 और जालंधर-होशियारपुर 54637 हैं। जोधपुर कैंट से जालंधर डीएमयू को केवल लोहियां खास तक ही चलाया जा रहा है। आगे के लिए इसे रद्द कर दिया गया है।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना