पंजाब / न्यूजीलैंड में भिड़ थे कबड्‌डी प्रोमोटर्स, एक पक्ष ने गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया से करवाई पंजाब में घर पर फायरिंग

होशियारपुर में फायरिंग की एक घटना के संबंध में गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया को अदालत में पेश करने ले जाती पुलिस। होशियारपुर में फायरिंग की एक घटना के संबंध में गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया को अदालत में पेश करने ले जाती पुलिस।
X
होशियारपुर में फायरिंग की एक घटना के संबंध में गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया को अदालत में पेश करने ले जाती पुलिस।होशियारपुर में फायरिंग की एक घटना के संबंध में गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया को अदालत में पेश करने ले जाती पुलिस।

  • न्यूजीलैंड में कबड्‌डी प्रोमोटर्स हैं गुरदासपुर के मनजोत और हरकमलजोत, होशियारपुर के गुरविंदर बैंस के साथ हुई थी बहस
  • दोनों ने जग्गू भगवानपुरिया से संपर्क साधा, जग्गू ने बिन्नी गुज्जर और बिन्नी ने घोड़ी को सौंपा काम
  • पीड़ित गुरविंदर की शिकायत के आधार पर पुलिस ने पहले घोड़ी को पकड़ा, फिर जग्गू तक जुड़ी कड़ियां

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2020, 10:12 PM IST

होशियारपुर. पंजाब में कबड्डी पर गैंगस्टरों का साया पड़ चुका है। यह खुलासा पंजाब के कुख्यात गिरोहबाज जग्गू भगवानपुरिया ने किया है। मामला कुछ महीने पहले होशियारपुर जिले के गांव माणक ढेरी में एनआरआई साहिब सिंह के घर पर गोलीबारी का है। आरोपी के मुताबिक न्यूजीलैंड में साहिब सिंह के बेटे और एक अन्य कबड्‌डी प्रमोटर के बीच बहस के बाद दूसरी गैंग जग्गू से मदद मांगी। इसके बाद जग्गू ने अपने संपर्क इस्तेमाल करके यहां साहिब सिंह के घर पर गोलियां चलवाई। कड़ियां जोड़ने के बाद पटियाला जेल में बंद जग्गू भगवानपुरिया को रिमांड पर लेकर पूछताछ की।


माणक ढेरी में एनआरआई साहिब सिंह के घर फायरिंग के मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी तरसेम सिंह ने बताया कि साहिब सिंह और उनके पुत्र गुरविंदर सिंह बैंस न्यूजीलैंड में कबड्डी कप करवाते हैं। पिछले साल गुरविंदर की वहां रह रहे जिला गुरदासपुर के गांव सुक्खा राजू से ताल्लुक रखने वाले मनजोत और हरकमलजोत के साथ बहस हो गई थी। वो दोनों भी कबड्‌डी प्रोमोटर हैं। 

गैंगस्टर बोला- डराने तक सीमित थी फायरिंग
इस घटना के बाद मनजोत और हरकमलजोत ने पुराने जानकार गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया से संपर्क साधकर गुरविंदर सिंह बैंस पर तब हमला करने के लिए कहा, जब उसे भारत आना था। मनजोत और हरकवलजोत का कहना था कि गुरविंदर सिंह बैंस उन खिलाड़ियों को ज्यादा पैसे देकर अपने टूर्नामेंट में खेलने के लिए बुला रहा है जो पिछले समय के दौरान सिर्फ उन्हीं की तरफ से करवाए जाने वाले कबड्डी कप में पहुंच रहे थे। पुलिस अधिकारी की मानें तो जग्गू ने फायरिंग को सिर्फ डराने तक ही सीमित रखा, जबकि उसके परिचितों ने हमले की बात कही थी। 

एसएसपी को की थी पीड़ित ने शिकायत
साहिब सिंह के पुत्र गुरविंदर सिंह बैंस की तरफ से ई-मेल के जरिये होशियारपुर के एसएसपी को की गई शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने जनवरी में गोलियां चलाने वाले घोड़ी नाम के नौजवान को पकड़ा। उसने बिन्नी गुज्जर के कहने पर गोली चलाने की बात कही और फिर थाना बुल्लोवाल की पुलिस को बिन्नी ने जग्गू भगवानपुरिया का नाम लिया था। इसके बाद पुलिस ने जग्गू को पटियाला से प्रोडक्शन वारंट पर लाकर यहां कोर्ट में पेश किया। दो दिन के रिमांड पर पूछताछ के दौरान जग्गू ने यह खुलासा किया। इसके बाद पुलिस ने जग्गू को वापस पटियाला जेल भेज दिया है।


कबड्डी से पिछले साल जुड़ा जग्गू का नाम
कबड्डी के साथ गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया का नाम नवंबर 2019 में तब जुड़ा, जब नॉर्थ इंडिया सर्कल स्टाइल कबड्डी फेडरेशन के मेंबर सुरजन सिंह ने डीजीपी पंजाब को एक शिकायत देते हुए कहा था कि गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया पंजाब या विदेश में होने वाले कबड्डी के बड़े खेल मुकाबलों पर पैसे और डरा धमकाकर अपनी पकड़ बना रहा है। इस दौरान उसके साथ हरकमलजोत का नाम सामने आया तो पूर्व अकाली मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने दावा किया था कि हरकमलजोत पंजाब सरकार में मौजूदा जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा का करीबी है। हालांकि मंत्री ने इस संबंध से इनकार कर दिया था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना