वारदात / गर्लफ्रेंड को बर्थडे पार्टी देने ले गया चंडीगढ़, लांडरां से युवती के परिजनों ने युवक को उठाया; पैर सूए से गोदे, हाथ व नाक तोड़ी



लुधियाना के डीएमसी में उपचाराधीन अमन। लुधियाना के डीएमसी में उपचाराधीन अमन।
X
लुधियाना के डीएमसी में उपचाराधीन अमन।लुधियाना के डीएमसी में उपचाराधीन अमन।

  • गंभीर हालत में थाने के सामने फेंका, युवक पर ही युवती को अगवा करने का केस
  • हालत गंभीर हुई तो हंगामे के बाद आरोपियों पर दर्ज किया हत्या के प्रयास का पर्चा

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 04:13 AM IST

संगरूर. संगरूर की प्रेम बस्ती मोहल्ले के 18 साल के अमन अरोड़ा को अपनी 17 साल की दोस्त को अपने जन्मदिन की पार्टी देना महंगा पड़ गया। अमन के परिजनों का आरोप है कि युवती के परिजनों ने पहले अमन के पैरों को सूए से गोदा, हाथ और नाक तोड़ी फिर गाड़ी में डालकर थाने के सामने फेंक दिया। मौजूदा समय में वह बोल भी नहीं पा रहा है व न ही उसे कुछ दिखाई दे रहा है। अमन की हालत गंभीर है। वह लुधियाना डीएमसी में जिंदगी और मौत से लड़ रहा है। पुलिस ने उलटा अमन और उसके दोस्त पर लड़की को अगवा करने का केस दर्ज किया। लड़के की हालत गंभीर होती देख लड़के के परिजनों और दोस्तों ने पुलिस के विरुद्ध नारेबाजी की गई तो पुलिस ने लड़की के 5 परिजनों पर भी धारा 307 का केस दर्ज कर लिया। 

 

लुधियाना डीएमसी में लड़ रहा जिंदगी और मौत से जंग

अमन अरोड़ा के चाचा राजेश ओशो ने बताया कि उसका भतीजा प्रेम बस्ती में एक वकील के पास सहायक है। उसका 9 सितंबर को जन्मदिन था। उसके साथ पढ़ती युवती जन्मदिन की पार्टी मांग रही थी। काम में बिजी होने से उसने मना कर दिया। बार-बार फोन करने पर वह उसे गाड़ी में बिठाकर चंडीगढ़ पार्टी के लिए ले गया। दोनों को गाड़ी में बैठते हुए लड़की के जानकार ने देख लिया। उसने लड़की के परिवार को बता दिया। लड़की के परिजनों ने दोनों को लांडरां जिला मोहाली के पास घेर लिया और घेरकर दोनों को अपने साथ संगरूर अपने घर ले आए। घर पहुंचते ही उन्होंने अमन को पीटना शुरू कर दिया। फिर अमन को सिटी पुलिस स्टेशन के सामने फेंक दिया। अमन लुधियाना डीएमसी में जिंदगी और मौत से लड़ रहा है। 
 

अमन ने लड़की को अगवा नहीं किया बल्कि लड़की मर्जी से गई : परिजन
अमन के परिजनों ने आरोप लगाया कि लड़की के परिजनों ने अमन पर चोरी का झूठा मामला दर्ज करवाने प्रयास किया था परंतु उन्होंने पुलिस को पूरी सच्चाई बता थी। अमन ने लड़की को अगवा नहीं किया बल्कि लड़की मर्जी से गई थी।
 

सोशल मीडिया पर भी अमन को इंसाफ दिलाने की मांग
लड़के को इंसाफ दिलाने के लिए लोग सोशल मीडिया पर भी मांग कर रहे हैं। तर्क दिया जा रहा है कि यदि लड़के का कोई कसूर था तो बैठ कर बात की जा सकती थी। बेरहमी से मारपीट के कारण अमन जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहा है।
 

अमन शादी का झांसा देकर ले गया था साथ
युवती के परिजनों की ओर से पुलिस को दी गई शिकायत में बताया गया है कि उनकी लड़की की उम्र 17 साल है। 9 सितंबर को वह सहेली के घर गई थी परंतु वापस नहीं आई। उन्होंने जब लड़की की तलाश की तो पता चला कि लड़की को अमन अरोड़ा व रोहित गर्ग शादी का झांसा देकर अपने साथ ले गए हैं। पुलिस ने शिकायत के आधार पर अमन अरोड़ा व रोहित गर्ग के विरुद्ध मंगलवार को मामला दर्ज कर लिया था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना