पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जालंधर से रोपड़ जाकर महिला सतलुज में कूदी, गोताखोरों को 5 घंटे बाद भी नहीं िमली

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
हाउसिंग बार्ड कॉलोनी में रहने वाली चरणजीत कौर ने रोपड़ के सतलुज दरिया पर बने हेड वर्क्स पुल से छलांग लगा दी। महिला ने छलांग लगाने से पहने अपना नीले रंग का छोटा बैग वहीं पर छोड़ दिया। मौके पर मौजूद लोगों से खबर मिलने पर पहुंचे एएसआई सुभाष चंद्र ने बैग को कब्जे में लेकर जांच शुरू की। पुलिस को बैग में से महिला का आधार कार्ड व एक सुसाइड नोट बरामद हुआ। आधार कार्ड से महिला की पहचान चरणजीत कौर (30) प|ी जगरूप सिंह निवासी मकान नंबर 747-ए हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी नजदीक जीटीबी नगर जालंधर के रूप में हुई। पुलिस ने गोताखोरों की मदद से महिला की तलाश शुरू की। सिटी एसएचओ सुनील कुमार ने बताया कि पांच घंटे तक गोताखोर तलाश करते रहे पर महिला के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। चरणजीत कौर बुधवार सुबह एक्टिवा पर काम के लिए निकली थीं। इसके बाद एक्टिवा जालंधर बस स्टैंड पर खड़ी कर चली गईं। पुलिस ने महिला के भाई के बयान के आधार पर केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

चरणजीत कौर

महिला के बैग की जांच करती पुलिस।

बेटे काे उसके पिता काे साैंप देना...

चरणजीत कौर जालंधर में एक मॉल में काम करती थीं और उनका एक 10 साल बेटा भी है। घर में चरणजीत कौर का भाई बब्बा, उसका बेटा और उसकी मां रहती हैं। बब्बा शहर में किसी दवा व्यापारी के पास काम करता है। पति के साथ तलाक के बाद से वह डिप्रेशन में थीं। चरणजीत कौर का अंग्रेजी में एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें उसने लिखा कि वह अपनी जिंदगी से परेशान हैं। उसकी मौत के लिए कोई जिम्मेवार नहीं। बेटे विमन काे बहुत प्यार करती हूं। बेटा विमन मुझे माफ करना। मेरे बाद अगर बेटे को उसके पिता ने स्वीकार किया तो उसको साैंप देना।

खबरें और भी हैं...