पंजाब / कच्चे बिल से सालाना 1800 करोड़ का लकड़ी का अवैध व्यापार, प्लाई फैक्ट्रियां नंबर-2 में कर रहीं खरीद

प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • लकड़ी के व्यापार पर टैक्स चोरी का दीमक 
  • रात में फैक्ट्रियों में चुपके से पहुंचती हैं ट्रॉलियां 

दैनिक भास्कर

Nov 15, 2019, 05:04 AM IST

होशियारपुर (गुरप्रीत बैंस). पंजाब की सबसे बड़ी लक्कड़ मंडी  नौशहरा को डीरेल (फेल) करने में आढ़तियों और मार्किट कमेटी के अधिकारियों की मिलीभगत   का खुलासा होने के बाद वीरवार को होशियारपुर-दसूहा रोड, नलोइया चौक से लेकर गढ़दीवाला कस्बे तक रोड पर ही चलने वाली अवैध मंडी में हलचल मची रही।

 

 गौरतलब है कि होशियारपुर-दसूहा रोड पर चलाई जा रही पंजाब की सबसे बड़ी अवैध लक्कड़ मंडी में सालाना 1800 करोड़ रुपए से भी ज्यादा का व्यापार होता है और रोजाना लक्कड़ की खरीदो-फरोखत कच्चे बिलों पर की जाती हैं,जिसका कोई रिकॉर्ड नहीं रखा जाता। हैरानी वाली बात यह है कि आज तक आयकर विभाग के अधिकारियों ने भी इस पर कोई कार्रवाई नहीं की।

 

अवैध लक्कड़ के  व्यापार के बारे मंे मार्किट कमेटी के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि लक्कड़ मंडी में कई आढ़तियों की  पहुंच सरकार और प्रशासन में है, इसलिए कोई अधिकारी इसमें हस्तक्षेप नहीं करता। उक्त अधिकारी ने यह भी बताया कि जब मार्कीट कमेटी के अधिकारी किसानों और आढ़तियों को लक्कड़ की ट्रालियां नौशहरा मंडी में लेकर जाने को कहते हंै तब उन्हंे धमकियां भी दी जाती है। भास्कर ने गत दिवस ही रिपोर्ट में खुलासा किया था कि अधिकारियों की मिलीभगत से करोड़ों का टैक्स चोरी हो रहा है। 

 

रोज आती हैं 800 ट्रॉलियां

गौरतलब है कि सड़क के किनारे चल रहे अवैध लक्कड़ मंडी में रोज तकरीबन 800 से 1000 ट्रालियां आती हैं। लेकिन आढ़ती पहले ही सभी लक्कड़ की बोलियां लगा लेते हैं जिससे दिन भीर में केवल 10 ट्रालियां ही नौशहरा लक्कड़ मंडी में पहुंच पाती हैं। 

 

न बिल न रिकॉर्ड तो टैक्स भी नहीं : होशियारपुर-दसूहा रोड पर लगभग 30 प्लाई की छोटी-बड़ी फैकट्रियां अब तक खुल चुकी हैं, जो रोजाना लक्कड़ की खरीद कर रही हैं और इन फैक्ट्रियों के मालिकों की तरफ से भी दो नंबर में लक्कड़ की खरीद की जा रही है। कई फैकट्रियों के मालिक व्यपारियों से सीधे लक्कड़ खरीदते हंै और बिना किसी बिल और रिर्काड के उसे प्रयोग कर रहे हैं, जिससे कि लाखों का टैक्स बच रहा है। 


 

कार्रवाई होगी

अवैध लक्कड़ मंडी का संचालन गलत है। यदि ऐसा हो रहा है तो इस पर प्रशासन कार्रवाई जरूर करेगी।’ 

 

-मेजर अमित सरीन, एसडीएम

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना