क्राइम / सेनेटरी व्यापारी और केमिस्ट में टाइल वापसी को लेकर झगड़ा, कांग्रेसी नेता ने चलाईं गोलियां



हादसे के बाद आरोपी को पकड़ने के लिए हाथापाई करते हुए लोग। हादसे के बाद आरोपी को पकड़ने के लिए हाथापाई करते हुए लोग।
आरोपी गुरप्यार सिंह। आरोपी गुरप्यार सिंह।
मामले की जानकारी देते हुए हरिद्वारी यादव। मामले की जानकारी देते हुए हरिद्वारी यादव।
मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारी। मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारी।
अस्पताल में भर्ती घायल लवली। अस्पताल में भर्ती घायल लवली।
X
हादसे के बाद आरोपी को पकड़ने के लिए हाथापाई करते हुए लोग।हादसे के बाद आरोपी को पकड़ने के लिए हाथापाई करते हुए लोग।
आरोपी गुरप्यार सिंह।आरोपी गुरप्यार सिंह।
मामले की जानकारी देते हुए हरिद्वारी यादव।मामले की जानकारी देते हुए हरिद्वारी यादव।
मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारी।मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारी।
अस्पताल में भर्ती घायल लवली।अस्पताल में भर्ती घायल लवली।

  • नकोदर रोड पर झगड़ा 2 गुट भिड़े, 3 लोगों को लगी चोटें, फायरिंग का केस दर्ज
     

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 01:11 PM IST

जालंधर. नकोदर रोड पर नारी निकेतन के पास शनिवार देर शाम करीब 7 बजे टाइल्स की वापसी को लेकर गोलियां चला दी गईं। गोलियां मिट्ठू बस्ती के केमिस्ट दिलजान सिंह के कांग्रेसी नेता भतीजे गुरप्यार सिंह ने चलाई थी। इससे पहले दोनों पक्षों में मारपीट हुई, जिसमें बीएसएफ से रिटायर्ड असिस्टेंट कमाडेंट हरिद्वारी यादव उर्फ हैरी का सेनेटरी व्यापारी बेटा शिवम, केमिस्ट दिलजान सिंह और उनका बेटा लवली सिंह जख्मी हुए हैं। केमिस्ट ने कहा कि उनके भतीजे ने सेल्फ डिफेंस में गोली चलाई थी, वरना हमलावर उन्हें जान से मार देते। वहीं हरिद्वारी यादव ने कहा कि उनकी फैमिली पर सीधी गोलियां चलाई गईं पर उनका बचाव हो गया। यादव ने कहा कि उनकी शॉप में सीसीटीवी लगे हैं।

 

देर रात कांग्रेस नेता ने थाने में किया सरेंडर

  1. पुलिस जांच करके सच सामने लेकर आए। गोलियां चलने की सूचना मिलने पर एडीसीपी सिटी-2 डी. सुडरविजी, भार्गव कैंप के एसएचओ बरजिंदर सिंह और सीआईए स्टाफ के इंचार्ज अजय सिंह पुलिस दल के साथ क्राइम सीन पर पहुंच गए। देर रात कांग्रेस नेता गुरप्यार सिंह ने थाने में आकर सरेंडर कर दिया।

  2. उससे उसका लाइसेंसी रिवॉल्वर भी मिला है। एसएचओ बरजिंदर सिंह ने कहा कि हरिद्वारी यादव की शिकायत पर केमिस्ट और अन्यों के खिलाफ मारपीट और फायरिंग का केस दर्ज किया गया है। गोली दुकान के अंदर नहीं चली है। गोली किन हालात में चली, इस बारे जांच की जा रही है। उधर, केमिस्ट पक्ष की तरफ से रात 12 बजे तक कोई स्टेटमेंट नहीं दी गई।

  3. मेरी बीवी को धक्का मार कर गिराया तो शुरू हुआ झगड़ा

    बीएसएफ से रिटायर्ड असिस्टेंट कमाडेंट हरिद्वारी यादव ने कहा कि शॉप के साथ ही उनका घर है। देर शाम वे पत्नी अल्का और बेटे शिवम के साथ शॉप में बैठे थे। तभी करीब एक महीना पहले उनसे टाइल खरीदने वाले दिलजान आ गए।

  4. उनका कहना था कि 25 डिब्बे वापस करने हैं। यादव ने कहा कि ग्राहक को डिब्बे बेचते समय कहा था कि 4 दिन में ही डिब्बे वापस हो सकेंगे। वे एक महीने बाद 25 डिब्बे ले आए। मना करने पर दिलजान दादागिरी पर उतर आए। तब तक शॉप बंद करने का टाइम हो गया था तो वह दुकान बंद करने लगे तो बीवी को धक्का मार दिया गया। वह जमीन पर गिर गई तो झगड़ा शुरू हो गया।

कांग्रेसी नेता गुरप्यार सिंह ने चला दीं तीन गोलियां

  1. यादव ने कहा कि अभी विवाद शुरू हुआ ही था कि देखते ही देखते एक दर्जन से ज्यादा लोग आ गए। यहां पर उनके बेटे शिवम के सिर में तलवार और बेसबैट मार कर गिरा दिया। वह बेटे को बचाने लगे तो उनके पीछे कोई चीज मारी गई। इस बीच ग्राहक के भतीजे ने एक के बाद तीन गोलियां चला दीं मगर कोई हताहत नहीं हुआ।

  2. उधर, शिवम के भाई राजीव यादव ने कहा कि गोलियां चलने की आवाज सुनकर वह दौड़ कर आए तो हाथ में रिवॉल्वर लिए युवक ललकारे मार रहा था। उसने हिम्मत जुटा कर रिवॉल्वर छीनने की कोशिश की ताकि किसी को गोली न लग जाए।

पुलिस के सामने ही निकल गया कांग्रेसी नेता

  1. सिविल अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में जख्मी लवली और दुकानदार शिवम यादव पहुंच गए। दोनों के हाथ में भी जख्म थे। इमरजेंसी में स्थिति तनावपूर्ण हुई तो डॉ. भूपिंदर कौर ने हूटर बजा दिया। इस पर पुलिस ने वार्ड में जमा लोगों को बाहर निकाला। बीच गोली चलाने के आरोप से घिरे गुरप्यार सिंह बड़े आराम से वहां से निकल गए।

  2. इस बीच जख्मी शिवम के भाई राजीव यादव ने शोर मचाया कि लवली के पास खड़ा साहिब सिंह भी हमलावर है तो पुलिस ने उसे पूछताछ के लिए थाने ले गई। हालांकि पुलिस दबाव में गुरप्यार सिंह खुद ही थाने आ गया।

हमलावर जान लेना चाहते थे भतीजे ने फायर कर बचाई जान

  1. मिट्ठू बस्ती के अर्जुन नगर के रहने वाले 52 साल के दिलजान सिंह ने कहा कि वह एरिया में केमिस्ट शॉप चलाते हैं। बेटी की शादी को लेकर घर में कंस्ट्रक्शन चल रही थी, जिसके चलते करीब दस दिन पहले उन्होंने नकोदर चौक के पास यादव बिल्डिंग मैटीरियल से करीब 70 हजार की फ्लोरिंग टाइल खरीदी थीं।

  2. दुकानदार से बिल मांगा तो उसने नहीं दिया मगर कहा था कि बचत वापस हो जाएगी। देर शाम करीब 7 बजे वे अपने बेटे लवली सिंह और नौकर वीरू के साथ उक्त शॉप में आए थे। यहां पर मौजूद दुकानदार बहस शुरू कर दी। हाथापाई के दौरान उनकी पगड़ी उतार दी गई। उनका भतीजा गुरप्यार सिंह मौके पर आ गया। उसने हवाई फायर करके उनकी जान बचाई।

COMMENT