जालंधर

--Advertisement--

संस्कृति अपनाने से ही है हमारी पहचान

आर्य समाज मंदिर शहीद भगत सिंह नगर में साप्ताहिक यज्ञ हुआ। मुख्य यजमान राजीव शर्मा, सोनू शर्मा, रैना शर्मा, हर्ष...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:20 AM IST
संस्कृति अपनाने से ही है हमारी पहचान
आर्य समाज मंदिर शहीद भगत सिंह नगर में साप्ताहिक यज्ञ हुआ। मुख्य यजमान राजीव शर्मा, सोनू शर्मा, रैना शर्मा, हर्ष लखनपाल, प्रवीण, निखिल थे। पं. शिवा शास्त्री ने यज्ञ करवाया। सोनू भारती, सीमा अनमोल, रवि ने भजन गायन किया। प्रधान रणजीत आर्य ने कहा कि हमारी संस्कृति ही हमारी पहचान है धन्य है वो जिनकी संतानें जो अपना जन्मदिन पवित्र पावन वेद मंत्रों से आहुतिया प्रदान करते हैं ओर अपनी संस्कृति से जुडे रहते हैं।

नहीं तो हम प्राय देखते हैं जो लोग ऋषियों मुनियों की परंपरा को छोड़ ओर अन्य मार्ग चलते हैं वह संतान सुखी नहीं रहती। हमें ईश्वर से जुड़ना चाहिए और साथ-साथ अपने माता-पिता का सम्मान करना चाहिए।

ईश्वर से साक्षात्कार करने के लिए इंसान बने धार्मिक : आचार्य नारायण सिंह

जालंधर | आर्य समाज मंदिर मॉडल टाउन में मासिक सत्संग करवाया। सबसे पहले यज्ञ किया गया। जिस के मुख्य यजमान तृप्ता गोयल, कमलजीत, जसीना थे। पंडित सत्या प्रकाश शास्त्री, पंडित बुद्ध देव वेदालंकार ने यज्ञ करवाया। बाद में हुए सत्संग में दयानंद मॉडल स्कूल के विद्यार्थियों विशाखा, सलीना, खुशी, भव्य ने गीत भजन सुनाए। मंच संचालन रजिंदर देव विज और नंदिता विज ने किया।

शाम को हुए सत्संग में पवन कुमार ने भजन “मेरे रोम रोम में बसने वाले ओम जगत के स्वामी तुम अंतर्यामी “, सुरेंद्र सिंह गुलशन ने गज़ल “क्यों भुला प्रभु का नाम“, राजेश अमर प्रेमी ने “प्रभु याद आए“, और रश्मि घई ने “प्रभु से लग्न लगाते चलो“ आदि भजन सुनाए। आचार्य नारायण सिंह ने कहां ईश्वर का साक्षात्कार करने के लिए इंसान को धार्मिक बनना होगा। वेद का मार्ग वैदिक धर्म है। उन्होंने सभी को ऋषि दयानंद सरस्वती जैसे महापुरुषों के अनुयाई बनने के लिए प्रेरित किया। इस मौके प्रधान अजय महाजन, जोगिंदर भंडारी, ओम प्रकाश महाजन, सुशीला भगत, रजनी सेठी, सोनिया वर्मा, रमा नागपाल, केवल कृष्ण नागपाल, रजनीश मधोक, रमेश चोपड़ा, सरिता, हिंद पाल सेठी, प्रोमिला अरोड़ा मौजूद थे ।

प्रधान रणजीत आर्य ने कहा हमें ईश्वर से जुड़ना चाहिए और अपने माता-पिता का सम्मान करना चाहिए। -भास्कर

ये रहे मौजूद : यहां ईश्वर चंद्र, सतपाल मल्होत्रा, अश्विनी डोगरा, भूपेंद्र उपाध्याय, सुरेंद्र अरोड़ा, चौधरी हरिशचंद्र, विजय सेठी, विजय चावला, मोहनलाल, केदार नाथ शर्मा, रजनीश सचदेव, आशु, कविता मितु, संदीप अरोड़ा, प्रिया, नलिनी उपाध्याय, उर्मिला भगत, मनु आर्य, अनु आर्य, सुभाष आर्य, इंदु आर्य, गीतिका अरोड़ा, सुनीता भाटिया, मदन लाल, विजय शेट्टी, ओम प्रकाश, श्रुति शर्मा, स्नेहा तिवारी, राकेश बावा, विनोद तिवारी, संगीता तिवारी, रानी अरोड़ा, स्नेह लता, ललित मोहन, सुदर्शन आर्य, स्वर्ण शर्मा आदि थे।

बगलामुखी धाम गुलमोहर सिटी में मासिक हवन

जालंधर|मां बगलामुखी धाम गुलमोहर सिटी ओल्ड होशियारपुर रोड में मासिक हवन हुआ। भक्तों ने श्री गोरी गणेश पूजन, कलश पूजन और मां बगलामुखी की माला जाप किया। संस्थापक नवजीत भारद्वाज ने कहा कि मां बगलामुखी जी का ध्यान करने मात्र से ही सभी प्रकार के कष्टों का निवारण हो जाता है। कलयुग में मां बगलामुखी जी के हवन का बहुत महत्व है। तदोपरांत लगाए गए ज्योतिष कैंप के पं. सूरज भान शास्त्री अतिथि थे। यहां श्रीकंठ जज, दिनेश बहल, बलजिंदर सिंह, मुनीश शर्मा, हंसराज राणा, अरुण जलोटा, सोहित शर्मा, रोहित बहल, मोहित बहल, गुरबाज सिंह, वरुण बाली, गुलशन शर्मा, नीरज पाठक, अमन दीप, बलजीत खोसला, सुनील जग्गी, सौरभ मल्होत्रा, अरविंदर सिंह, एडवोकेट राज कुमार, बलदेव सिंह, पवन शर्मा, लवली शर्मा पं. पिंटू शर्मा, पं अविनाश, गौतम, केके खरबंदा, एसएस वाजवा, काका साईं आदि थे।

संस्कृति अपनाने से ही है हमारी पहचान
संस्कृति अपनाने से ही है हमारी पहचान
X
संस्कृति अपनाने से ही है हमारी पहचान
संस्कृति अपनाने से ही है हमारी पहचान
संस्कृति अपनाने से ही है हमारी पहचान
Click to listen..