• Hindi News
  • Punjab
  • Jalandhar
  • तिकाेना पार्क तोड़ने का मामला : केस दर्ज होने के 2 महीने बाद भी जांच नहीं
--Advertisement--

तिकाेना पार्क तोड़ने का मामला : केस दर्ज होने के 2 महीने बाद भी जांच नहीं

सिटी रिपोर्टर

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 04:20 AM IST
तिकाेना पार्क तोड़ने का मामला : केस दर्ज होने के 2 महीने बाद भी जांच नहीं
सिटी रिपोर्टर
मास्टर तारा सिंह नगर में तिकोने पार्क को बर्बाद करने के मामले में राजनीतिक दबाव के कारण कार्रवाई नहीं हो रही है। जनवरी में पार्क तोड़ा गया था, लेकिन 2 महीने तक कार्रवाई नहीं हुई। फिर 2 महीने बाद मार्च में ठेकेदार पर एफआईआर दर्ज की गई, लेकिन अभी तक कोई एक्शन नहीं हुआ है। 29 जनवरी को कमिश्नर डॉ. बसंत गर्ग ने केस दर्ज करवाने के आदेश दिए थे, लेकिन जांच में ही लंबा समय निकाल दिया गया। 21 मार्च 2018 को थाना बारादरी में एफआईआर दर्ज की गई, लेकिन अभी तक ठेकेदार पर एक्शन नहीं हुआ।

एफआईआर मास्टर तारा सिंह कल्याण समिति के जनरल सेक्रेटरी विनोद सलवान के बयान पर दर्ज हुई है। विनोद सलवान ने कहा है कि ठेकेदार ने कहा है कि पार्क तोड़ने और ग्रिल रखने का हुक्म अफसरों का था। जब अफसरों से बात की तो उन्होंने इससे साफ इंकार किया। विनोद ने कहा कि पुरानी कचहरी के पास तिकोने पार्क से ट्यूबवेल हटाना थी, लेकिन कमरा और बाउंड्रीवाल तोड़ दी गई और ग्रिलें गायब कर दी गई। सरकारी प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ कार्रवाई हो।

राजनीतिक दबाव में नहीं हो रही कार्रवाई

तिकाेने पार्क को तोड़कर पार्क की जगह पार्किंग बनाने की कोशिश की गई थी। पार्क के पास ही एक कॉमर्शियल बिल्डिंग बनाने की प्लानिंग चल रही है। पार्क को रातों-रात बर्बाद करने पर इलाके के लोगों ने मामला उठाया था। विधायक राजिंदर बेरी ने भी इस पर रिपोर्ट तलब की थी और बेरी के सख्त स्टेंड के बाद केस दर्ज हुआ था।

ठेकेदार की गिरफ्तारी से सच सामने आएगा : बेरी

विधायक राजिंदर बेरी ने कहा कि पब्लिक प्रॉपर्टी को साजिश के तहत नुक्सान पहुंचाया गया है। ठेकेदार ने किसकी शह पर यह किया इसका सच सामने आना चाहिए। विधायक ने कहा कि ठेकेदार को गिरफ्तार करके पूछताछ होनी चाहिए।

X
तिकाेना पार्क तोड़ने का मामला : केस दर्ज होने के 2 महीने बाद भी जांच नहीं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..