सदमा / भाजपा के दिल्ली के सांसद हंसराज हंस की माता का निधन, विदेश से परिजनों के आने पर होगा अंतिम संस्कार

सूफी गायक एवं भाजपा सांसद हंसराज हंस। सूफी गायक एवं भाजपा सांसद हंसराज हंस।
हंसराज हंस की माता अजीत कौर की फाइल फोटो। हंसराज हंस की माता अजीत कौर की फाइल फोटो।
X
सूफी गायक एवं भाजपा सांसद हंसराज हंस।सूफी गायक एवं भाजपा सांसद हंसराज हंस।
हंसराज हंस की माता अजीत कौर की फाइल फोटो।हंसराज हंस की माता अजीत कौर की फाइल फोटो।

  • हंस के छोटे भाई परमजीत हंस और उनकी पत्नी पिंकी कनाडा में हैं तो बहन हरबंस कौर यूके में
  • जालंधर के लिंक रोड स्थित घर पर सुबह करीब ढाई 2 बजे ली अजीत कौर ने अंतिम सांस

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2019, 03:15 PM IST

जालंधर. भारतीय जनता पार्टी के सांसद एवं गायक हंसराज हंस की 80 साल की मां अजीत कौर का बुधवार कोर निधन हो गया। उन्होंने लिंक रोड स्थित निवास स्थान में सुबह 2.30 बजे अंतिम सांस ली। माता के निधन की खबर मिलते ही हंसराज हंस दिल्ली से जालंधर पहुंचे। इस खबर से इलाके में शोक की लहर है।

अजीत कौर के परिवार में बेटों हरबंस लाल, अमरीक सिंह, पदमश्री हंसराज हंस, परमजीत हंस के अलावा बहनों दर्शना कौर व हरबंस कौर के परिवार के सदस्य शामिल हैं। सांसद हंस को मां के देहांत की खबर सुबह उनकी पत्नी रेशम कौर ने दी। हंस तुरंत दिल्ली से जालंधर रवाना हो गए थे। सुबह उनके घर पर शोक व्यक्त करने वालों का तांता लग गया। सांसद हंस के प्रबंधक कुलविंदर सिंह के अनुसार माता जी का अंतिम संस्कार शुक्रवार को उनके पैतृक गांव सफीपुर में किया जाएगा। अभी परिवार के कई सदस्य विदेश में हैं और उनके लौटने का इंतजार किया जाएगा। हंस राज हंस के छोटे भाई परमजीत हंस और उनकी पत्नी पिंकी कनाडा में हैं। उनकी बहन हरबंस कौर यूके में है। उनके आने के बाद अंतिम संस्कार किया जाएगा।

कौन हैं हंसराज हंस और क्या राजनैतिक सफर?

  • गायक हंस राज हंस पंजाब के दोआबा क्षेत्र में अच्छा प्रभाव रखते हैं। पंजाबी गायक हंस का जन्म 30 नवंबर, 1953 को शफीपुर (जालंधर) में हुआ। हंस 1983 से लगातार म्यूजिक इंडस्ट्री में काम कर रहे हैं। उन्होंने ऊपर खुदा आसमां नीचे, टोटे-टोटे हो गया, तेरे बिन नई जीना मर जाना जैसे गानों से अपनी खास पहचान बनाई है।
  • हंस ने 2009 में शिरोमणि अकाली दल के टिकट पर लोकसभा इलेक्शन भी लड़ा था लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इसलिए प्रभावित हुए, क्योंकि वे देश के गरीब लोगों के लिए कल्याणकारी सोच व देश के विकास व प्रगति की सोच रखते हैं।
  • 2014 में कांग्रेस ज्वाइन कर ली। इसके बाद 10 दिसंबर 2016 को उन्होंने भाजपा ज्वाइन की। वह उत्तर-पश्चिम दिल्ली के भाजपा सांसद हैं। उन्हें टिकट दिए जाने की वजह 2017 में हुए एमसीडी चुनाव के लिए किया गया उनका प्रदर्शन माना जा रहा है। पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले ये संभावना जताई गई थी कि हंस भाजपा के टिकट पर अमृतसर से चुनाव लड़ सकते है, हालांकि ऐसा हुआ नहीं था।
  • इससे पहले हंसराज हंस ने भाजपा ज्वाइन करते समय ही कहा था कि, जहां मोदी हैं, वहां कमजोरी नहीं हो सकती। मोदी बब्बर शेर हैं। उन्होंने पीएम मोदी पर एक गाना भी बनाया, जिसे हंसराज हंस एमसीडी चुनावों की रैलियों में गाते हुए भी दिखाई दिए थे।

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना