नन जबरदस्ती केस / नहीं दूंगा इस्तीफा, पुलिस के पास कोई सबूत नहीं : बिशप

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 03:08 AM IST


nun case, bishop say Police have no evidence
X
nun case, bishop say Police have no evidence
  • comment

  • बिशप डॉ. फ्रेंको मुलक्कल गिरफ्तारी की मांग पर बोले- नन के खिलाफ कार्रवाई के लिए कहा था, इसलिए वो लगा रही है झूठे आरोप

जालंधर
डायोसिस ऑफ जालंधर के बिशप फ्रेंको मुलक्कल ने कोच्चि में दो दिन पहले ननों के धरने को पुलिस पर प्रेशर बनाने की साजिश करार दिया है। उन्होंने कहा है कि चर्च विरोधी ताकतों के इशारे पर ये सब हो रहा है। 

 

मंगलवार को जालंधर में मीडिया से बातचीत में बिशप मुलक्कल ने कहा कि पिछले दिनों केरल पुलिस की टीम ने उनसे 9 घंटे तक पूछताछ की थी। पुलिस के पास उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं था, इसीलिए उन्हें जांच टीम ने गिरफ्तार नहीं किया।

 

बिशप ने कहा कि उन्होंने नन के खिलाफ कार्रवाई के ऑर्डर किए थे, जिसका बदला लेने के लिए वह झूठ बोल रही है। शिकायतकर्ता नन को दूसरी ननों के सपोर्ट पर उन्होंने कहा कि इसके पीछे चर्च के खिलाफ एक बड़ी ताकत काम कर रही है, जिसके इशारे पर ये खेल हो रहा है। ये लोग ननों के उनके खिलाफ इस्तेमाल कर रहे हैं।

 

कहा- इस्तीफा देकर वे चर्च विरोधी ताकतों के हाथ में नहीं खेलना चाहते

पिछले दिनों कोच्चि में ननों के बिशप फ्रेंको के खिलाफ प्रदर्शन और उन्हें पद से हटाने की मांग पर बिशप ने कहा कि वह इस्तीफा देकर चर्च विरोधी ताकतों के हाथ में नहीं खेलना चाहते। उन्होंने कहा कि पुलिस ने करीब नौ घंटे तक उनसे पूछताछ की और इसके बाद आरोप लगाने वाली नन के बयान भी लिए। बिशप ने दावा किया कि नन की स्टेटमेंट में भी विरोधाभास है। इसी कारण केरल पुलिस हर तथ्य की जांच कर रही है। जिक्रयोग है कि केरल में एक नन ने बिशप मुलक्कल के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी, जिसमें मई 2014 के बाद दो साल तक करीब 13 बार जबरदस्ती करने का आरोप लगाया था। केरल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।  

 

नन ने बिशप को पदमुक्त करने की मांग की

बिशप फ्रेंको मुलक्कल के खिलाफ जबरदस्ती के आरोप लगाने वाली नन ने वेटिकन स्थित चर्च अथाॅरिटी को एक चिट्ठी लिखी है। इसके अलावा भारत में वेटिकन के प्रतिनिधि से भी मुलाकात की है। नन ने चर्च की सुप्रीम अथाॅरिटी से पूरे मामले की त्वरित जांच करवाने और बिशप को पदमुक्त करने की मांग की है। नन ने आरोप लगाया है कि बिशप की तरफ से पुलिस जांच को दबाने के लिए पैसों और राजनीतिक दबदबे का इस्तेमाल किया जा रहा है। नन ने आरोप लगाया है कि कुछ लोग उस पर अटैक करने और पावर के दम पर जांच को प्रभावित करने की कोशिश में लगे हुए हैं। इसलिए मामले की निष्पक्ष जांच के लिए बिशप को पदमुक्त किया जाए।  
 

 

...इधर, पीसीएम ने मांगा बिशप का इस्तीफा 
मंगलवार को जालंधर के सर्किट हाउस में पंजाब क्रिश्चियन मूवमेंट की एक बैठक हुई, जिसकी अगुवाई सूबा प्रधान हमीद मसीह ने की। उन्होंने कहा कि नन द्वारा बिशप पर लगाए गए आरोपों से पूरा भाईचारा आहत हुआ है। उन्होंने कहा कि बिशप को चर्च की मर्यादा का ध्यान रखते हुए अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए। प्रदेश उपाध्यक्ष डॉक्टर विलियम, महासचिव तरसेम मसीह काहनूवान, संगठन सचिव इलियास मसीह समेत कई पदाधिकारी मौजूद थे।

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन