पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पूर्व सीजेएम की गाइडेंस से पाई कामयाबी : कुणाल

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अपनी फैमिली मेंबर्स के साथ कुणाला लांबा।

जालंधर | कुणाल लांबा को पंजाब में 36वां रैंक मिला है। उनके पिता रविंदर लांबा जालंधर में बिजनेसमैन हैं।

कुणाल ने पहली ही बार में परीक्षा पास कर ली। इसके लिए उन्होंने रिटायर्ड सीजेएम आरएल चौहान की मदद से तैयारी की। पिता रविंदर लांबा, माता रजनी और बहन ने हमेशा सपोर्ट किया। 2016 में केसीएल इंस्टीट्यूट आफ लॉ से एलएलबी की आैर उसके बाद से ही एग्जाम की तैयारी कर रहे थे।

खबरें और भी हैं...