वाहन-4 सॉफ्टवेयर से नहीं जुड़ रहे पॉल्यूशन चेकिंग सेंटर

Jalandhar News - पंजाब के समूह पॉल्यूशन चेक सेंटर वेलफेयर एसोसिएशन के सदस्यों ने स्टेट ट्रांसपोर्ट कमिश्नर गुरप्रीत सिंह खैहरा...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:51 AM IST
Jalandhar News - pollution checking center not connecting to vehicle 4 software
पंजाब के समूह पॉल्यूशन चेक सेंटर वेलफेयर एसोसिएशन के सदस्यों ने स्टेट ट्रांसपोर्ट कमिश्नर गुरप्रीत सिंह खैहरा के साथ मुलाकात कर पॉल्यूशन सेंटरों को ऑनलाइन करने की तारीख को आगे बढ़ाने की मांग की है। खैहरा ने कहा कि मेंबर्स ने बताया कि पॉल्यूशन सेंटरों को ऑनलाइन करने के लिए आरटीए द्वारा सख्ती की जा रही है। उनसे कहें कि सॉफ्टवेयर अपडेट करने के लिए कुछ समय दिया जाए। खैहरा ने बताया कि इस मामले का जल्द ही समाधान निकाला जाएगा। अगर समय दिया जाता है तो उसके बाद किसी हालत में ये बर्दाश्त नहीं किया जाएगा कि पॉल्यूशन सेंटर वाले अपने सॉफ्टवेयर को अपडेट और वाहन-4 सॉफ्टवेयर के साथ अटैच नहीं कर रहे तो सख्ती की जाएगी।

एसटीसी गुरप्रीत खैहरा बाेले, जल्द निकालेंगे समस्या का हल

मशीन को अपग्रेड करने में लगेगे 80 हजार रुपए... पाल्यूशन सेंटर के मालिकों ने बताया कि टू व्हीलर के 30 रुपए और फोर व्हीलर के 50 से 70 रुपए वसूले जाते हैं। पॉल्यूशन सेंटर खोलने के लिए 2.5 से 3 लाख रुपए के करीब खर्च आता है। जिन्होंने पहले 3 लाख रुपए खर्च कर पॉल्यूशन सेंटर खोले हैं। अब वाहन-4 साफ्टवेयर के साथ जुड़ने और मशीन को अपग्रेड करने में 80 हजार के करीब खर्च आएगा। पॉल्यूशन चैक सेंटरों के पदाधिकारियों का कहना है कि पंजाब सरकार ने पॉल्यूशन चेक सेंटरों को ऑनलाइन करने के लिए तो कह दिया है, लेकिन खुद पंजाब सरकार की वाहन-4 का पोर्टल पॉल्यूशन सर्टिफिकेट के लिए ऑनलाइन नहीं है। पंजाब में ऑनलाइन होने के बाद आरजी तौर पर आईडी पासवर्ड बनाकर आरटीए के पास पक्के आई और पासवर्ड सेव होंगे।

111 पॉल्यूशन सेंटरों में से अब तक 4 सेंटरों ने अपनाया वाहन-4 सॉफ्टवेयर

पंजाब सरकार द्वारा पॉल्यूशन चेक सेंटरों को ऑनलाइन करने की तारीख 31 जुलाई निर्धारित की गई की गई थी और सभी पॉल्यूशन सेंटरों के मालिकों को हिदायत दी गई थी कि वे 31 जुलाई तक पॉल्यूशन सेंटरों को वाहन सॉफ्टवेयर के साथ अटैच कर लें। तीन महीने बीत जाने के बाद 111 पॉल्यूशन सेंटरों में से केवल 4 पॉल्यूशन सेंटर ही वाहन सॉफ्टवेयर के साथ जुड़ पाए हैं। पॉल्यूशन सर्टिफिकेट जारी करने के रेट बढ़ाने के बारे में रीजनल ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी (आरटीए), स्टेट ट्रांसपोर्ट कमिशन (एसटीसी), प्रिंसिपल सेक्रेटरी ट्रांसपोर्ट और ट्रांसपोर्ट मंत्री को एसोसिएशन द्वारा पत्र भी लिखा गया कि पंजाब सरकार द्वारा पॉल्यूशन चेक सेंटरों को ऑनलाइन करने की तारीख को बढ़ाने की मांग की है।

पुराने सॉफ्टवेयर से दिए जा रहे सर्टिफिकेट

जालंधर में 111 पॉल्यूशन सेंटरों में केवल 4 पॉल्यूशन सेंटरों पर ही वेलिड सर्टिफिकेट मिल रहा है। बाकी 107 पॉल्यूशन सेंटर पुराने सॉफ्टवेयर के हिसाब से ही ग्राहकों को सर्टिफिकेट जारी कर रहे हैं। जो की सरकार की नजर में मान्य नहीं है। क्योंकि वाहन-4 सॉफ्टवेयर को लांच किए हुए 4 महीने का समय हो चुका है। पॉल्यूशन सेंटर अगर वाहन-4 के साथ लिंक है तो केवल उन्हीं वाहनों को सर्टिफिकेट जारी होगें। जिनका सारा डाटा ऑनलाइन होगा। पॉल्यूशन सेंटर मालिक सर्टिफिकेट बनाने के लिए वाहन का नंबर जैसे ही सॉफ्टवेयर में डालेंगे तो सारी जानकारी कंप्यूटर पर आ जाएगी। अगर गाड़ी का सारा डाटा ऑनलाइन होगा तब ही पॉल्यूशन सर्टिफिकेट बन पाएगा। जिन गाड़ियों का डाटा ऑनलाइन नहीं है। उनका पॉल्यूशन सर्टिफिकेट नहीं बनेगा।

X
Jalandhar News - pollution checking center not connecting to vehicle 4 software
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना