मानसून / पंजाब में अगले 3 दिन भारी बारिश की संभावना, सभी जिलों में प्रशासन को अलर्ट रहने के निर्देश



यह तस्वीर सिर्फ भारी बारिश की संभावना को प्रदर्शित करने के लिए इस्तेमाल की गई है। यह तस्वीर सिर्फ भारी बारिश की संभावना को प्रदर्शित करने के लिए इस्तेमाल की गई है।
X
यह तस्वीर सिर्फ भारी बारिश की संभावना को प्रदर्शित करने के लिए इस्तेमाल की गई है।यह तस्वीर सिर्फ भारी बारिश की संभावना को प्रदर्शित करने के लिए इस्तेमाल की गई है।

  • जालंधर, नवांशहर, पठानकोट, गुरदासपुर, लुधियाना, पटियाला, फतेहगढ़ साहिब को हाई अलर्ट जोन में
  • संगरूर इलाके में घग्गर दरिया में फिर से आ सकता है उफान

Dainik Bhaskar

Jul 24, 2019, 03:22 PM IST

जालंधर. पंजाब में अगले तीन दिन में भारी बारिश होने की संभावनाएं जताई जा रही है। इसके चलते पंजाब सरकार ने प्रदेश के सभी जिलों के डीसी को नोटिस जारी कर अलर्ट घोषित किया है। मौसम विभाग की मानें तो 25 से 27 जुलाई तक प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश हो सकती है। ऐसे में पहले से जलभराव की मार झेल रहे बठिंडा और पटियाला में पानी और बढ़ सकता है।

 

बीते दिनों मानसून की दस्तक के साथ भारी बारिश के बाद पंजाब के कई इलाकों में जलभराव से बाढ़ जैसे हालात पैदा हो चुके हैं। बठिंडा में भी 7 घंटे में 178 मिली मीटर बारिश हुई थी। फिर अगले दिन 100 मिली मीटर बारिश हुई, जिसके चलते कई दिन तक पानी नहीं निकला। लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। इसके अलावा घग्धर दरिया के तटबंध टूट जाने की वजह से पटियाला और संगरूर जिलों में सबसे ज्यादा हालत खराब हुई। यहां के कई गांवाें में लोग बेघर हो चुके हैं। फसलें डूब चुकी हैं। मंगलवार को इन्हीं सबके बीच मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा हवाई दौरा किया था।

 

इसी के चलते प्रदेश में फिर से हालात गड़बड़ाने की आशंका उस वक्त बढ़ गई, जब सूबे में फिर से गुरुवार से शनिवार तक तेज बारिश का अलर्ट जारी किया गया। विभाग के मुताबिक 25 से 27 जुलाई तक राज्य में बरसात होगी, लेकिन 25 व 26 को बहुत तेज बरसात के आसार बन रहे हैं। बारिश के साथ-साथ सूबे में तेज हवाएं भी चलेंगी और टेंपरेचर भी गिरेगा।

 

मौसम विभाग के चंडीगढ़ केंद्र के अनुसार जालंधर, नवांशहर, पठानकोट, गुरदासपुर, लुधियाना, पटियाला, फतेहगढ़ साहिब को हाई अलर्ट जोन में रखा गया है। सभी जिलों में प्रशासन ने आपदा प्रबंधन टीमों को सतर्क रहने के आदेश जारी किए हैं। चंडीगढ़ स्थित पंजाब मौसम विभाग के कार्यालय के निदेशक डाॅ. सुरिंदर पाल ने कहा कि मानसून अभी एक्टिव है। पंजाब के दोआबा व सटे क्षेत्र पर घने बादल बने हुए हैं। अगर मौसम विभाग की चेतावनी सही साबित होती है तो संगरूर में घग्‍घर नदी का बांध टूटने से आई बाढ़ के बाद अब एक और मुसीबत सामने आ सकती है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना