रैश ड्राइविंग, ओवर स्पीड, गलत कट लिया तो होगी रिपोर्ट, ड्राइवर-कंडक्टर के व्यवहार पर भी रहेगी नजर

Jalandhar News - पंजाब ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की तरफ से राज्य की सरकारी बसों में व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम (वीटीएस) की इंस्टालेशन...

Dec 04, 2019, 08:12 AM IST
पंजाब ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की तरफ से राज्य की सरकारी बसों में व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम (वीटीएस) की इंस्टालेशन का काम पूरा किया गया है और जालंधर के दोनों डिपो में इसका ट्रायल शुरू किया गया है। अकसर यात्रियों की रैश ड्राइविंग को लेकर शिकायत रहती थी। इसे रोकने के लिए पंजाब ट्रांसपोर्ट विभाग की तरफ से राज्य की सभी सरकारी व पन बसों की बसों पर उक्त सिस्टम लगाया गया है। इस सिस्टम को सीधे संबंधित डिपो और हेड आॅफिस के सरवर से कनेक्ट किया गया है।

अगर ड्राइवर ओवर स्पीड गाड़ी चलाएगा या फिर अचानक ब्रेक लगाने के अलावा बस को ऐसे मोड़गा, जिससे यात्रियों को परेशानी हो और उसका मैसेज सीधा संबंधित बस डिपो के अधिकारियों और हेड आॅफिस में पहुंच जाएगा। इसके अलावा सही समय पर न चलने वाले ड्राइवर और सरकार की तरफ से निर्धारित बस स्टॉप पर न रुकने या फिर उस जगह पर रोकना यहां पर बस को रोकने की परमिशन नहीं होगा उसका मैसेज भी मौके पर ही भेजा गया है।

अब अगर कोई बस नियमों के विपरीत चली तो उस बस का नंबर डिपो अधिकारियों को मिलेगा, जिससे सुनिश्चित किया जाएगा कि कौन-सी बस, कौन-सा ड्राइवर और उसके साथ कौन कंडक्टर चल रहा है। एेसे ड्राइवर और कंडक्टर पर लिखित जवाब मांगा जाएगा और कार्रवाई भी की जाएगी। इस रूल को तोड़ने वाले रोजाना कंडक्टर, ड्राइवरों से लिखित में जवाब मांगा जा रहा है।

पंजाब रोडवेज के पास इस समय पंजाब रोडवेज और पनबस की कुल 1500 से ज्यादा बसें हैं, जिनमें वीटीएस सिस्टम को पूरी तरह से इंस्टाल किया जाना बाकी है। शुरुआती दौर में जालंधर के दोनों डिपो जिनकी करीब 225 से ज्यादा बसों पर वीटीएस सिस्टम को इंस्टाल कर ट्रायल शुरू किया गया है।

जालंधर डिपो-1 व डिपो-2 में ट्रायल शुरू, उल्लंघन करने पर भेजे जा रहे नोटिस

18 गतिविधियों पर रहेगी नजर, मौके पर पहुंचेगा एसएमएस

व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम के माध्यम से ट्रिप रिपोर्ट, स्टॉपेज रिपोर्ट, लेट व जल्दी डिपार्चर, ओवर स्पीड, नाइट हाल्ट, कंडक्टर व ड्राइवर व्यवहार, रूट असाइनमेंट, रूट डेविएशन, बाईपास-फ्लाईओवर अलर्ट, डिस्टेंस कवर, रैश ब्रेक, रैश कट मारना, वीटीएस डिस्कनेक्ट, डिटेंड व्हीकल, एसओएस अलर्ट की जानकारी मिलेगी।

जीपीएस का लेटेस्ट वर्जन वीटीएस

पंजाब रोडवेज की तरफ से पहले गाड़ियों में जीपीएस सिस्टम इंस्टाल किया गया था, जिससे सिर्फ गाड़ियों की लोकेशन और स्पीड के बारे में पता चल पाता था लेकिन सरकार की गाइड लाइन के बाद इस सिस्टम में और सुधारा लाया गया और अब व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम को इंस्टाल किया गया है, जिससे बसों की लोकेशन, स्पीड के साथ तेल की पोजीशन सहित तमाम जानकारी मिलेगी। इस सिस्टम को पंजाब रोडवेज, पनबस, पेप्सू ट्रांसपोर्ट सहित प्राइवेट बसों में भी सरकार की गाइड लाइन के बाद लगाया जाएगा। इसके बाद पंजाब में चलने वाली अवैध बसों को पकड़ने में और आसानी होगी, कोई भी अपनी बस के परमिट का दुरुपयोग नहीं कर पाएगा।

गाड़ी की हर छोटी-बड़ी गतिविधि पर रहेगी नजर


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना