श्री अमरनाथ यात्रा / 46 दिन की होगी यात्रा, 1 जुलाई से 15 अगस्त तक करें बाबा बर्फानी के दर्शन



Registration from April for Amarnath Yatra
X
Registration from April for Amarnath Yatra

  • पवित्र गुफा के दर्शन के लिए श्राइन बोर्ड ने किया तारीखों का एलान, एक अप्रैल से शुरू होगा पंजीकरण
  • डॉक्टरों को निर्देश-  सर्जरी और स्टंट डलवा चुके लोगों को जारी न करें मेडिकल सर्टिफिकेट

Dainik Bhaskar

Mar 13, 2019, 06:48 AM IST

होशियारपुर. श्री अमरनाथ यात्रा व पवित्र गुफा के दर्शन के लिए श्राइन बोर्ड ने तारीखों का एेलान कर दिया है। इस साल यात्रा एक जुलाई से शुरू व 15 अगस्त को समाप्त होगी। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक और श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड की मीटिंग में तारीखों का एेलान किया गया।

 

हालांकि पिछले श्राइन बोर्ड ने जनवरी में ही यात्रा की तारीख का एेलान कर दिया था। पुलवामा में सेना पर अटैक के कारण इस साल यात्रा 46 दिन की रहेगी। पिछले साल 2.85 लाख भक्तों ने अमरनाथ गुफा के दर्शन किए थे। श्राइन बोर्ड द्वारा सुरक्षा प्रबंधों के लिहाज से सारी तैयारियां की जा रही हैं। भक्त एक अप्रैल से यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

 

बाबा बर्फानी की यात्रा के लिए जेएंडके बैंक, पीएनबी व यस बैंक में रजिस्ट्रेशन करवाई जा सकेगी। यात्री ऑनलाइन भी रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। इस बार श्राइन बोर्ड ने मान्यता प्राप्त डॉक्टरों के लिए भी निर्देश जारी किए हैं कि 14500 फीट की ऊंचाई व 5 डिग्री से कम के तापमान वाली इस यात्रा पर उन्हीं आवेदकों को मेडिकल सर्टिफिकेट जारी करें, जो शारीरिक तौर पर फिट हैं। जिन लोगों की सर्जरी हो चुकी है या स्टेंट डलवाया है, उन्हें मेडिकल सर्टिफिकेट न दें।

 

यात्रा से पहले इन बातों का रखें ध्यान 

यात्रा के एक महीना पहले रोज 4 से 5 किलोमीटर सैर करें। किसी बीमारी से ग्रस्त हैं तो प्रॉपर इलाज करवाएं। लंबी सांस की प्रक्रिया को बेहतर करने के लिए योगा करें। तले और बाहर के खाने से परहेज करें। साधा भोजन ही ग्रहण करें। खाने में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज्यादा रखें। अधिक से अधिक पानी का सेवन करें। 

 

यात्रा दौरान इन बातों का रखें ध्यान
पुरुष ट्रैक सूट और महिलाएं सलवार-कमीज पहन कर यात्रा करें। रास्ते में लगे चेतावनी चिन्हों पर ही रुकें। नंगे पांव और बिना ऊनी कपड़ों के यात्रा न करें। खाली पेट यात्रा न करें। यात्रा पर जाने से पहले अपना स्वास्थ्य जरूर चेक करवा लें।

 

 

मान्यता प्राप्त डॉक्टरों के मेडिकल सर्टिफिकेट ही मान्य
श्राइन बोर्ड की मीटिंग में निर्देश जारी करते बोर्ड के सदस्यों ने कहा कि यात्रा के दौरान सिर्फ मान्यता प्राप्त डॉक्टरों और अस्पतालों के ही मेडिकल मान्य होंगे। इस साल 13 साल के कम उम्र के बच्चों को यात्रा पर जाने की इजाजत नहीं होगी। यात्रा करने के इच्छुक भक्तों को श्राइन बोर्ड की वेबसाइट से अपने राज्य के अस्पतालों की लिस्ट देखकर वहीं से मेडिकल सर्टिफिकेट बनवाना होगा।
 

 

श्राइन बोर्ड वेबसाइट पर डाॅक्यूमेंटरी देखें, यात्रा के रास्ते का पता चलेगा

इस बार यात्रा के लिए 15 फरवरी के बाद किए गए आवश्यक स्वास्थ प्रमाणपत्र ही स्वीकार किए जाएंगे। मेडिकल सर्टिफिकेट के लिए आवेदक को मौजूदा शारीरिक स्थिति और पुराने रोग का विवरण देना होगा। 13 साल से कम और 75 साल से ज्यादा उम्र के आवेदक और 6 महीने की गर्भवती महिला को यात्रा करने पर पाबंदी है। पंजतरणी कैंप से 3 बजे के बाद पवित्र गुफा की तरफ जाना वर्जित है। शाम 6 बजे के बाद पवित्र गुफा में दर्शन बंद कर दिए जाते हैं।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना