विरोध / होशियारपुर के 2 टीचर्स को व्हाट्सएप ग्रुप छोड़ने पर नोटिस के बाद टीचर्स ने एक साथ छोड़ा ग्रुप

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2018, 05:14 AM IST



saanjha adhyaapak morcha threat to education department
X
saanjha adhyaapak morcha threat to education department

  • एक्शन-रीएक्शन- सांझा अध्यापक मोर्चा की शिक्षा विभाग को धमकी-लो अब सबको करो नोटिस जारी

पटियाला. पढ़ो पंजाब अभियान के तहत हर जिले में शिक्षा विभाग द्वारा टीचर्स के बनाए गए व्हाट्सएप ग्रुप छोड़ने पर होशियारपुर के 2 टीचर्स को नोटिस जारी करने के बाद शनिवार को एसएसए/रमसा के 8886 टीचर्स ने एक साथ अपने-अपने जिले में सभी ग्रुप लेफ्ट कर दिए।

 

इसके साथ ही उन्होंने विभाग को चेतावनी दी कि दो नहीं सभी टीचर्स को नोटिस जारी करें। इससे पहले पंजाब भर से इकट्ठा हुए एसएसए और रमसा टीचर्स ने अपने परिवारों के साथ त्रिपड़ी से रोष मार्च निकाला। शहर के फब्बारा चौक पर पुलिस ने उन्हें आगे जाने से रोक दिया।

 

यहां आंदलोनकारियों ने करीब एक घंटा नारेबाजी की और जाम लगाए रखा। अधिकारियों के सीएम से मुलाकात करवाने के आश्वासन पर टीचर्स ने जाम खोल दिया। सांझा अध्यापक मोर्चा के मेंबर अौर कंप्यूटर टीचर्स यूनियन के उपप्रधान हनी गर्ग ने बताया कि सरकार की नीतियों से अाहत सूबेभर में टीचर्स स्टेट अवार्ड वापस कर रहे हैं, वहीं होशियारपुर के दो टीचर्स सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल हाजीपुर में एसएस मास्टर गोपी चंद अौर सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल मजारा धींगरा होशियारपुर के एसएस मास्टर भाग सिंह ने यह व्हाट्सएप ग्रुप लेफ्ट कर दिया तो विभाग ने दोनों ने नोटिस जारी कर जवाब तलब कर लिया।

 

गवर्नमेंट टीचर यूनियन के जिला प्रधान रणजीत मान ने कहा कि विभाग एेसी हरकतों से खुद का मजाक बना रहा है। सरकार व्हाट्सएप ग्रुपों की चिंता छोड़ हजारों अध्यापकों के भविष्य की चिंता करें तो बात समझ अाती है, लेकिन सरकार उस पर गौर करने की बजाय बेतुकी बातों में समय बर्बाद कर रही है।

COMMENT