जालंधर / फिरोजपुर के गांव फत्तेवाला हिठार का सरपंच एक किलो हेरोइन के साथ जालंधर से गिरफ्तार



Sarpanch arrested with one kg of heroin from Jalandhar
X
Sarpanch arrested with one kg of heroin from Jalandhar

  • आरोपी सरपंच की जमीन सीमा के पास होने से पाकिस्तान से आई हेरोइन आसानी से मिल जाती थी
  • सरपंच और उसका साथी स्कार्पियाे में हेरोइन की डिलीवरी देने आए थे 
  • विक्रम का पिता राज सिंह भी नशा तस्करी के मामले में राजस्थान की जेल में बंद है

Dainik Bhaskar

Sep 10, 2019, 07:03 AM IST

जालंधर. बस्ती बावा खेल की नहर पुली के पास से पुलिस ने स्कॉर्पियो गाड़ी से 24 साल के सरपंच विक्रम सिंह विक्की और उसके साथी करनवीर सिंह को एक किलो हेरोइन के साथ पकड़ा है। फिरोजपुर के गांव फत्तेवाला हिठार के सरपंच विक्रम सिंह और गांव किशोर सिंह वाले के करनवीर सिंह के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा-21 के तहत केस दर्ज किया है। विक्रम का बाप पहले ही ड्रग तस्करी में राजस्थान की जेल में कैद काट रहा है। सरपंच के तार सीमा पार से चल रहे ड्रग रैकेट से जुड़े हैं। पुलिस नेटवर्क को ब्रेक करने के लिए दोनों से पूछताछ कर रही है। 

 

पुलिस कमिशनर गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि सिटी के अंदर एक गाड़ी में दो युवक ड्रग लेकर आए हैं। डीसीपी गुरमीत सिंह की सुपरविजन में सीआईए स्टाफ के इंचार्ज हरमिंदर सिंह और थाना बस्ती बावा खेल के एसएचओ मेजर सिंह ने नहर पुली के पास से गाड़ी पकड़ ली। सीपी ने कहा कि प्राथमिक जांच में यह बात सामने आई है कि विक्की प्लस-2 पास है और वह इसी साल गांव का सरपंच बना था। विक्रम पेशे से किसान है। 

 

पिता के जेल जाने पर उसके कारोबार से जुड़ गया था विक्रम 

विक्रम के पिता राज सिंह करीब पांच साल से ड्रग तस्करी के धंधे में था। उन पर ड्रग तस्करी के 7 तो मारपीट के 6 केस दर्ज हैं। वर्तमान में राज सिंह राजस्थान की अनूपगढ़ जेल में सजा काट रहा है। पिता के जेल जाने के बाद आरोपी ने ड्रग का काम संभाल लिया था। वह सीमा पार से चल रहे ड्रग रैकेट से जुड़े हैं। आरोपी के खेत सीमा के पास हैं। इस लिए उसे आसानी से ड्रग मिल जाती थी। 

 

बीए पार्ट-2 का स्टूडेंट है दूसरा आरोपी करनवीर
विक्रम ने इस धंधे में अपने दोस्त काे पार्टनर बना लिया। बरामद की गई गाड़ी भी आरोपी के पिता के नाम पर है। पूछताछ में करनवीर ने माना कि वह फिरोजपुर के एक कॉलेज में बीए पार्ट-2 में स्टडी कर रहा है। वह दोनों करीब पांच महीने से ड्रग तस्करी का नेटवर्क चला रहे थे। दोनों के खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं हैं। सीपी ने कहा कि पुलिस यह भी पता लगा रही है कि ड्रग से इन लोगों अब तक कितनी कमाई की है और उससे क्या-क्या खरीदा है, ताकि केस में जायदाद और अन्य सामान जब्त किया जा सके।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना