पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

Rs.100 करोड़ खर्च कर बनेगा स्किल डेवलपमेंट सेंटर

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जालंधर | स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शहर में 100 करोड़ रुपए से स्किल डेवलपमेंट सेंटर बनाया जाएगा। इसके लिए टाटा टेक्नोलॉजी कंपनी ने सर्वे शुरू किया है। कंपनी के अफसरों ने विधायक परगट सिंह के साथ दो लोकेशन भी देखी हैं। विधायक ने लायलपुर खालसा काॅलेज आॅफ इंजीनियरिंग और फोलड़ीवाल में सरकारी स्कूल को साइट के रूप में देखा है। सेंटर दो तरह के होंगे। अनस्किल्ड, डिप्लोमा होल्डर और डिग्री होल्डर युवाओं को टेक्निकली ट्रेंड कर इंडस्ट्री में वर्किंग के लिए तैयार किया जाएगा। इसीबीच स्मार्ट सिटी कंपनी ने शहर में 11 चौक री-डेवलप करने का टेंडर दूसरी बार लगाया है। पहले किसी भी कंपनी ने टेंडर में इंट्रेस्ट नहीं दिखाया था।

11 चौक री-डेवलप करने का दोबारा लगाया गया टेंडर
बेसिक सेंटर- बेसिक सेंटर पहले बनेगा और सुपर स्पेशियालिटी सेंटर दूसरे चरण में। बेसिक सेंटर में 8वीं क्लास से लेकर आईटीआई करने वालों को तकनीकी तौर पर ट्रेंड करेंगे। जिस फील्ड में डिप्लोमा किया होगा उसी फील्ड में ट्रेंनिग का काम सेंटर करेंगे।

स्किल डेवलपमेंट सेंटर बनने पर युवाओं के लिए रोजगार के साधन बढ़ेंगे। ट्रेनिंग प्राप्त युवाओं की इनकम बढ़ेगी। इंडस्ट्री को तकनीकी रुप से मजबूत स्टाफ मिलेगा। प्रोजेक्ट शुरू करना एक बड़ी सफलता रहेगी। - सीईओ विशेष सारंगल, स्मार्ट सिटी कंपनी

स्पेशियालिटी सेंटर - इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स को ट्रेंनिंग मिलेगी। हाई क्लास मशीनरी लगेगी। कैड-कैम साॅफ्टवेयर की ट्रेनिंग देंगे। स्पेशल फेकल्टी लोकल स्टाफ भी तैयार करेगी। आॅटो पाॅर्ट्स, आॅटोमोटिव मेनटेनेंस, सीएनसी आॅपरेटर, फिटर की ट्रेनिंग मिलेगी।

टाटा टेक्नोलॉजी 3 साल काम करेगी। इसके बाद इसे गवर्निंग बाॅडी रन करेगी। 100 करोड़ रुपए से ज्यादा इन्वेस्ट किए जाने हैं। पूरी योजना बनाएंगे कि प्रोजेक्ट शहर के लिए वरदान साबित हों। - परगट सिंह, विधायक

खबरें और भी हैं...