आयुष्मान योजना में फर्जी बिल जमा करवाने वाले अस्पतालों पर नजर रखेगा स्टेट एंटी फ्रॉड यूनिट

Jalandhar News - आयुष्मान बीमा योजना में अब अगर इम्पेनल्ड प्राइवेट अस्पतालों की तरफ से फर्जी क्लेम नेशनल हेल्थ अथॉरिटी और...

Nov 22, 2019, 08:11 AM IST
आयुष्मान बीमा योजना में अब अगर इम्पेनल्ड प्राइवेट अस्पतालों की तरफ से फर्जी क्लेम नेशनल हेल्थ अथॉरिटी और इंश्योरेंस कंपनी को भेजे गए तो उन पर कार्रवाई तय है। अथॉरिटी ने निजी अस्पतालों द्वारा भेजे जाने वाले बिलों पर नजर रखने के लिए स्टेट एंटी फ्रॉड यूनिट का गठन किया है। यूनिट के तीन लेवल हैं- नेशनल, स्टेट और डिस्ट्रिक्ट। डिस्ट्रिक्ट लेवल पर काम करने वाली टीम की चेयरमेन डिप्टी मेडिकल कमिश्नर को बनाया गया है। उनके अधीन दो सीनियर मेडिकल अफसर, डिस्ट्रिक्ट कोआर्डिनेटर स्टेट हेल्थ एजेंसी, डिस्ट्रिक्ट ग्रीवेंस आॅफिसर अॉफ थर्ड पार्टी इंश्योरेंस और एक रिप्रजेंटेटिव अॉफ स्टेट अथॉरिटी रहेंगे। स्टेट से आने वाली शिकायत को डिस्ट्रिक्ट यूनिट जांच करेगा। यूनिट के सदस्यों द्वारा जो रिपोर्ट नेशनल हेल्थ अथॉरिटी को भेजी जाएगी, उसे जांच रिपोर्ट माना जाएगा। वीरवार को डिस्ट्रिक्ट टीम को चंडीगढ़ में यूनिट की वर्किंग के बारे में ट्रेनिंग भी दी गई। एनएचए ने यूनिट को चलाने के लिए दो पोर्टल भी बनाए हैं, जहां मरीज संबंधित अस्पताल के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा सकेंगे। पोर्टल में शिकायत करने वाले मरीज का नाम गुप्त रखा जाएगा। यूनिट की शुरुआत दिसंबर में की जाएगी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना