पंजाब / लिम्का बुक में दर्ज होंगे 1213 किस्म के गोलगप्पे और 550 तरह के सैंडविच

जालंधर में चन्नी ट्रस्ट ग्रुप के शेफ सैंडविच बनाते हुए। जालंधर में चन्नी ट्रस्ट ग्रुप के शेफ सैंडविच बनाते हुए।
students from two Institutes of Jalandhar created something special for Limca Book
X
जालंधर में चन्नी ट्रस्ट ग्रुप के शेफ सैंडविच बनाते हुए।जालंधर में चन्नी ट्रस्ट ग्रुप के शेफ सैंडविच बनाते हुए।
students from two Institutes of Jalandhar created something special for Limca Book

  • गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव को समर्पित रहे सीटी ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस और जीएनए यूनिवर्सिटी के प्रयास
  • सीटी ग्रुप के होटल मैनेजमेंट के 550 विद्यार्थियों ने महज 3 मिनट 39 सेकंड्स में बनाए सैंडविच
  • जीएनए यूनिवर्सिटी की टीम में आठ फैकल्टी शेफ और 50 स्टूडेंट शेफ ने एक साथ काम किया

दैनिक भास्कर

Oct 16, 2019, 01:59 PM IST

जालंधर. शहर के दो बड़े शिक्षण संस्थानाें का नाम लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भेजा गया है। सीटी ग्रुप ऑफ के विद्यार्थियों ने 550 प्रकार के सैंडविच बनाए, वहीं जीएनए यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों ने 1213 तरह के गोलगप्पे तैयार किए। प्रोग्राम में तैयार किए गए बाद सैंडविच यूनिक होम, रेडक्रॉस स्कूल फॉर डेफ, बाल घर धाम तलवानी लुधियाना में बांट दिए गए। यह इवेंट गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश उत्सव को समर्पित हुए।

 

इवेंट में सीटी ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस के होटल मैनेजमेंट के 550 विद्यार्थियों में से हर किसी ने अलग तरह का यानि कुल 550 तरह के सैंडविच तैयार किए। इतने सारे सैंडविच तैयार करने में विद्यार्थियों को महज 3 मिनट 39 सेकंड्स का समय लगा। विद्यार्थियों ने इन सैंडविच की वैरायटी में फर्क करने के लिए भारी मात्रा में अरीगानो ब्रेड, ग्रिल्ड ब्रेड, मल्टीग्रेन ब्रेड, टूटी-फ्रूटी ब्रेड का इस्तेमाल किया।

 

ग्रुप के चेयरमैन चरणजीत सिंह चन्नी, एमडी मनबीर सिंह, वाइस चेयरमैन हरप्रीत सिंह, तानिका सिंह, रमाडा होटल के जीएम विशाल, एचआर मैनेजर रोहित, शाहपुर कैंपस के डायरेक्टर डॉ. जीएस कालड़ा, डीन डॉ. अनुपमदीप शर्मा, सीटीआईएचएम के डायरेक्टर डॉ. भरत कपूर और सीटीआईएचएम के प्रमुख दिवोय छाबड़ा आदि मौजूद थे। बाद में तैयार किए गए सैंडविच यूनिक होम, रेडक्रॉस स्कूल फॉर डेफ, बाल घर धाम तलवानी लुधियाना में वितरित किए गए।

 

जीएनए यूनिवर्सिटी की टीम भी इस इवेंट में शामिल हुई। फैकल्टी ऑफ हास्पिटैलिटी के डीन डॉ. वरिंदर सिंह राणा के साथ-साथ आठ फैकल्टी शेफ और 50 स्टूडेंट शेफ ने एक साथ काम किया। गोलगप्पों की किस्मों का रिकॉर्ड सामग्री के चार अलग-अलग वर्गीकरणों यानि सब्जियों, फलों, दालों और डेयरी उत्पादों पर आधारित था। लहसुनी करेला, हींग आलू पापड़ी, गोभी काला चना, दही पुदीना, बादामी घीया, चॉकलेट गोलगप्पे और कई अन्य इस रिकॉर्ड प्रयास के प्रमुख व्यंजन थे।

 

800 से अधिक छात्र इस रिकॉर्ड के गवाह बने, वहीं इस दौरान डीन डॉ. वरिंदर सिंह राणा ने छात्रों के प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा कि प्रो चांसलर गुरदीप सिंह सेहरा की तरफ से दिए गए आइडिया की बदौलत ही यह प्रोग्राम साकार हो पाया है। मैनेजिंग डायरेक्टर शेफ राहुल वली और शेफ नीलू कौर, सेलिब्रिटी शेफ ने इस रिकॉर्ड को देखा।

 

सैंडविच बनाने में क्या-क्या चीजें हुई इस्तेमाल

 

सामान मात्रा सामान मात्रा
सफेद ब्रेड 92 नग सेब 3 किलो
ब्राउन ब्रेड 83 नग नाशपाती 2 किलो
टूटी फ्रूटी ब्रेड 31 नग कॉर्न 1 किलो
गार्लिक ब्रेड 156 नग अनार 1 किलो
अरिगानो 92 नग पपीता 2 किलो
मल्टीग्रेन 98 नग अनानास 3 किलो
चैरी 3 किलो तरबूज 3 किलो
स्ट्राबेरी 500 ग्राम संतरा 1 किलो
पालक 3 किलो कद्दू 3 किलो
हरी फूलगोभी 3 किलो टमाटर 8 किलो
फूलगोभी 4 किलो प्याज 4 किलो
बंदगोभी 2 किलो मूली 3 किलो
गाजर 2 किलो आलू 6 किलो
मशरूम 2 किलो पुदीना 1 किलो
फलियां 3 किलो हरा प्याज 2 किलो
बैंगन 2 किलो कॉटेज चीज 8 किलो
चीज 3 किलो सोया 2 किलो
बेबी कॉर्न 1 किलो चावल 1 किलो
चॉकलेट 200 ग्राम भूरे चावल 1 किलो

 

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना