--Advertisement--

आतंकी छात्रों का खुलासा / पेड़ पर नंबर-19 यानी दशहरे पर करने थे सीरियल ब्लास्ट



Terrorists arrested from Jalandhar told to serial blasts on Dussehra
X
Terrorists arrested from Jalandhar told to serial blasts on Dussehra
  • हरबंस नगर में भाजपा मंडल प्रधान के घर रह रहे 4 कश्मीरी स्टूडेंट हिरासत में लिए
  • अमृतसर में पेड़ पर लिखे 19 का मतलब था दशहरे वाला दिन; ब्लास्ट कहां करने थे, ये आदेश मिलने थे

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 08:33 AM IST

सतपाल, जालंधर.  अलकायदा से जुड़ा कश्मीरी आतंकी संगठन अंसार गजवत-उल-हिंद (एजीएच) दशहरे पर सीरियल बम ब्लास्ट को अंजाम देने की साजिश रच रहा था। अमृतसर में पुल के पास एक पेड़ पर लिखे नंबर-19 का मतलब था कि 19 अक्टूबर। इसी दिन दशहरा है। खुफिया एजेंसियां अब अमृतसर में लगे सीसीटीवी के जरिए उस शख्स को ट्रेस करने की कोशिश कर रही हैं, जिसने हथियार छिपाए थे।

 

सूत्रों के अनुसार पूछताछ में खुलासा हुआ है कि गिरफ्तार कश्मीरी स्टूडेंट जाहिद गुलजार को आतंकी संगठन एजीएच ने पेड़ पर 19 नंबर लिखकर सिग्नल दिया था कि 19 अक्टूबर को सीरियल ब्लास्ट को अंजाम देना है। ब्लास्ट कहां पर करने थे, इस पर अरेस्ट स्टूडेंट कह रहे हैं कि उनकी जिम्मेदारी हथियारों और विस्फोटक को सेफ रखना था। आगे का ऑर्डर टेलीग्राम मैसेंजर के जरिए मिलना था। फिलहाल तीनों से पूछताछ जारी है।

 

वहीं, शुक्रवार को हरबंस नगर की विरदी कॉलोनी में भाजपा के मंडल प्रधान पवन कश्यप के घर से भी पुलिस ने 4 कश्मीरी स्टूडेंट हिरासत में लिए हैं। ये स्टूडेंट पकड़े गए कश्मीरी छात्रों के दोस्त हैं और यहां किराये पर रह रहे थे। पंजाबभर में चौकसी बढ़ा दी गई है। बस अड्डे और रेलवे स्टेशन पर सादे कपड़ों में पुलिस तैनात है। बता दें कि जम्मू व जालंधर पुलिस ने सीटी इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग के हॉस्टल से 3 छात्र जाहिर गुलजार, यूसुफ रफीक भट्ट और मोहम्मद इदरिश शाह को पकड़ा था। वहीं, पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने कहा कि कश्मीर से पकड़ा गया चौथा छात्र सुहेल केस की मुख्य कड़ी है और उससे पूछताछ की जा रही है कि टारगेट क्या था। 

 

एजेंसियाें को ये है आशंका... एजेंसियां यह भी मान कर चल रही हैं कि कश्मीरी संगठन का इस्तेमाल आईएसआई इसलिए कर रही है, क्योंकि खालिस्तानी संगठन 11 साल के दौरान राज्य में कोई बड़ी वारदात को अंजाम नहीं दे सके। 14 अक्टूबर, 2007 को लुधियाना के शिंगार सिनेमा बम कांड खालिस्तानी संगठन का अंतिम वारदात थी। खासकर फेस्टिवल सीजन के दौरान हर जगह भीड़ ही भीड़ होती है। जालंधर में ही सेना और अॉयल डिपो भी है। 

 

कोर्ट में बोली पुलिस- सुहेल जानता है अमृतसर में हथियार छिपाने वाले का नाम, 10 दिन का रिमांड मिला : देरशाम ही सुहेल को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। यहां पर पुलिस ने कोर्ट में दलील दी कि सुहेल से लंबी पूछताछ की जरूरत है। इन के साथी जाहिद गुलजार, यूसुफ रफीक भट्ट और मोहम्मद इदरिश शाह से मिले असलाह के बारे पूछताछ करनी है। सुहेल अमृतसर में असलाह की खेप रखने वाले शख्स को टच में था। पुलिस उससे पता करना चाहती है कि उनके संगठन का टारगेट क्या था। इसलिए 14 दिन के रिमांड की जरूरत बताई। इसके बाद कोर्ट ने सुहेल को 10 दिन के रिमांड पर भेज दिया। सुहेल को सिविल अस्पताल में डाॅक्टरी जांच भी करवाई गई। 

 

इधर... जगराओं से जुड़े तार, गायब हुए 2 कश्मीरी छात्र : जगराओं | लुधियाना पुलिस ने शुक्रवार को गांव चौकीमान के पास स्थित सीटी यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे जम्मू-कश्मीर के छात्रों के बारे में जानकारी जुटाई। इस दौरान पता चला कि जालंधर में तीन छात्रों के पकड़े जाने के बाद से यहां पढ़ रहे दो कश्मीरी छात्र गायब हैं। पुलिस उनकी तलाश में जुट गई है। 

 

थाना मकसूदां बम कांड को लेकर सुहेल से पूछताछ : पुलिस कमिश्नर ने खुद सुहेल से पूछताछ की। एजेंसियां मान कर चल रही हंै कि हो सकता है कि दहशत फैलाने के लिए कश्मीरी आतंकी संगठन ने ही पिछले माह मकसूदां थाने पर हमला करवाया हो। सुहेल से इसी बारे में पूछताछ की जा रही है। वहीं, सुहेल ने यह भी माना है कि उसके कहने पर संगठन से राजपुरा और नूरपुरा से काफी युवा एजीएच से जुड़ गए थे। सुहेल का दावा है कि उसने गुलजार को अमृतसर से असलाह लाने के लिए मैसेज नहीं किया था। 

 

फ्लाइट से चंडीगढ़ लाया गया सुहेल... कश्मीर के अवंतीपुरा में पकड़े गए 19 साल का सुहेल अहमद भट्ट को जालंधर पुलिस के हवाले कर दिया गया। यहां से पुलिस उसे फ्लाइट से चंडीगढ़ एयरपोर्ट लेकर आई। वहां से सड़क के रास्ते शाम को जालंधर लेकर आ गई। उससे पूछताछ की जा रही है। 

--Advertisement--
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..