डराने के लिए गवाहों पर करनी थी फायरिंग, कांग्रेसी नेता समेत 3 पकड़े

Jalandhar News - जालंधर| बहुचर्चित सेहरा फील्ड गोलीकांड और शशि शर्मा अटैक कांड में गवाहों को डराने के लिए उन पर फायरिंग करने की...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:05 AM IST
Jalandhar News - to scare witnesses had to be firing holding 3 including congress leader
जालंधर| बहुचर्चित सेहरा फील्ड गोलीकांड और शशि शर्मा अटैक कांड में गवाहों को डराने के लिए उन पर फायरिंग करने की इनपुट पर सीआईए स्टाफ की पुलिस ने 3 युवक कस्टडी में लिए हैं। इनमें एक यूथ कांग्रेसी नेता भी बताया गया है। हालांकि इनसे एक पिस्टल बरामद हुआ है मगर पुलिस आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं कर रहीं है। सीआईए स्टाफ के इंचार्ज हरमिंदर सिंह ने कहा कि इल्लीगल वेपन की इनपुट पर पुलिस जांच कर रही हैं। जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती, तब तक कुछ कहा नहीं जा सकता।

सीआईए स्टाफ की पुलिस को सूचना मिली थी कि सिटी में इल्लीगल वेपन आए हैं। इनका इस्तेमाल सेहरा फील्ड गोलीकांड के गवाह कमलप्रीत सिंह और शशि शर्मा और केस से जुड़े अन्य गवाहों पर किया जाना है। इन्हें डराने के लिए पहले उन पर फायरिंग करनी है और अगर गवाह न मुकरे तो उन्हें टारगेट बनाया जा सकता है। इसके बाद पुलिस ने प्रीत नगर से जुड़े एक युवक को उठाया। इस युवक का चचेरा भाई शशि अटैक कांड में जेल में बंद है। उसने पूछताछ में कहा कि उसने पिस्टल यूथ कांग्रेसी नेता को दिया है। इसके बाद पुलिस ने नेता को पकड़ लिया। नेता से पूछताछ की गई तो उसने कहा कि वेपन उसके एक अन्य दोस्त के पास है। पुलिस ने वेपन बरामद कर लिया है। यूथ नेता ने कहा कि उसकी दुश्मनी चल रही है। इसलिए लंबे समय से पिस्टल रखा हुआ है और वह कभी-कभार पिस्टल अपने दोस्तों को दे आता था। तीनों से देर रात तक अलग-अलग पूछताछ चल रही थी। पुलिस को पता चला है कि इनके पास एक नहीं, बल्कि 2 या तीन पिस्टल थे।

कस्टडी में लेकर पुलिस ने देर रात तक आरोपियों से अलग-अलग की पूछताछ

5 फरवरी की शाम सेहरा फील्ड में फायरिंग की गई। फायरिंग में दविंदर सिंह रिंकू बाबा की मौत हो गई थी, जबकि उनका छोटा भाई कमलप्रीत सिंह बब्बू जख्मी हो गया था। पुलिस ने इस केस में महिला सब इंस्पेक्टर सोनम बाजवा के भाई गुरप्रीत सिंह गोपी बाजवा, सुखविंदर पाल सिंह गोल्डी, विकास कल्याण नन्नू, अभिनंदन शर्मा नंदू, प्रवीण मेहता चिद्दी और भूपिंदर सिंह भिंदा अरेस्ट कर जेल भेज दिए थे। केस में रेकी करने वाला सातवां आरोपी मानक शर्मा फरार है। केस में सोमन बाजवा, नोनी शर्मा और मिक्की अपहरण कांड में उम्र कैद की सजा काट रहे पूर्व कांग्रेसी कौंसलर सुखमीत सिंह डिप्टी को नामजद किया गया था। इनसे पूछताछ की थी, मगर जांच में कोई सबूत न मिलने पर उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई है।

जालंधर| बहुचर्चित सेहरा फील्ड गोलीकांड और शशि शर्मा अटैक कांड में गवाहों को डराने के लिए उन पर फायरिंग करने की इनपुट पर सीआईए स्टाफ की पुलिस ने 3 युवक कस्टडी में लिए हैं। इनमें एक यूथ कांग्रेसी नेता भी बताया गया है। हालांकि इनसे एक पिस्टल बरामद हुआ है मगर पुलिस आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं कर रहीं है। सीआईए स्टाफ के इंचार्ज हरमिंदर सिंह ने कहा कि इल्लीगल वेपन की इनपुट पर पुलिस जांच कर रही हैं। जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती, तब तक कुछ कहा नहीं जा सकता।

सीआईए स्टाफ की पुलिस को सूचना मिली थी कि सिटी में इल्लीगल वेपन आए हैं। इनका इस्तेमाल सेहरा फील्ड गोलीकांड के गवाह कमलप्रीत सिंह और शशि शर्मा और केस से जुड़े अन्य गवाहों पर किया जाना है। इन्हें डराने के लिए पहले उन पर फायरिंग करनी है और अगर गवाह न मुकरे तो उन्हें टारगेट बनाया जा सकता है। इसके बाद पुलिस ने प्रीत नगर से जुड़े एक युवक को उठाया। इस युवक का चचेरा भाई शशि अटैक कांड में जेल में बंद है। उसने पूछताछ में कहा कि उसने पिस्टल यूथ कांग्रेसी नेता को दिया है। इसके बाद पुलिस ने नेता को पकड़ लिया। नेता से पूछताछ की गई तो उसने कहा कि वेपन उसके एक अन्य दोस्त के पास है। पुलिस ने वेपन बरामद कर लिया है। यूथ नेता ने कहा कि उसकी दुश्मनी चल रही है। इसलिए लंबे समय से पिस्टल रखा हुआ है और वह कभी-कभार पिस्टल अपने दोस्तों को दे आता था। तीनों से देर रात तक अलग-अलग पूछताछ चल रही थी। पुलिस को पता चला है कि इनके पास एक नहीं, बल्कि 2 या तीन पिस्टल थे।

भाना के साथी दलबीर सिंह समेत 10 आरोपी जेल में... 27 नवंबर 2018 को मोता सिंह नगर मार्केट में मानवाधिकार संगठन के जिला प्रधान शशि शर्मा और उनके बेटे सार्थक शर्मा पर अटैक किया गया था। इस मामले में गैंगस्टर दलजीत सिंह भाना के करीबी साथी दलबीर सिंह समेत 10 आरोपी पकड़े गए थे।

5 फरवरी की शाम सेहरा फील्ड में फायरिंग की गई। फायरिंग में दविंदर सिंह रिंकू बाबा की मौत हो गई थी, जबकि उनका छोटा भाई कमलप्रीत सिंह बब्बू जख्मी हो गया था। पुलिस ने इस केस में महिला सब इंस्पेक्टर सोनम बाजवा के भाई गुरप्रीत सिंह गोपी बाजवा, सुखविंदर पाल सिंह गोल्डी, विकास कल्याण नन्नू, अभिनंदन शर्मा नंदू, प्रवीण मेहता चिद्दी और भूपिंदर सिंह भिंदा अरेस्ट कर जेल भेज दिए थे। केस में रेकी करने वाला सातवां आरोपी मानक शर्मा फरार है। केस में सोमन बाजवा, नोनी शर्मा और मिक्की अपहरण कांड में उम्र कैद की सजा काट रहे पूर्व कांग्रेसी कौंसलर सुखमीत सिंह डिप्टी को नामजद किया गया था। इनसे पूछताछ की थी, मगर जांच में कोई सबूत न मिलने पर उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई है।

X
Jalandhar News - to scare witnesses had to be firing holding 3 including congress leader
COMMENT