--Advertisement--

ब्रिटेन के पहले सिख सांसद तनमनजीत ढेसी को अब ब्रिटिश सरकार के रुख का इंतजार

- ऑपरेशन ब्लू स्टार के दस्तावेज सार्वजनिक करने के आदेश कोर्ट दे चुकी है

Danik Bhaskar | Jun 14, 2018, 05:53 AM IST
तनमनजीत ढेसी तनमनजीत ढेसी

फगवाड़ा, पंजाब. ब्रिटेन सरकार के पास पड़े ऑप्रेशन ब्लू स्टार से जुड़े दस्तावेजों को सार्वजनिक करने की मांग कर रहे ब्रिटेन के पहले सिख सांसद तनमनजीत सिंह ढेसी को अब अदालत के आदेश के बाद ब्रिटिश सरकार की कार्रवाई का इंतजार है। बुधवार को दैनिक भास्कर से बातचीत में सलोह से सांसद ढेसी ने कहा, उन्होंने सेक्रेट्री ऑफ डिफेंस को पत्र लिख इस संबंधी बयान जारी करने को कहा था तो उन्हें कहा गया था कि सरकार की नीति और सुरक्षा कारणों से टिप्पणी नहीं की जा सकती। अब जब अदालत ने दस्तावेज जारी करने को कहा है तो उन्हें अब ब्रिटेन सरकार के रुख का इंतजार है। उधर, 1984 के पीड़ितों के केस लड़ रहे वकील एचएस फूलका ने भारत सरकार से दस्तावेज सार्वजनिक करने की मांग की है।

- बता दें कि ब्रिटेन के कानून के अनुसार किसी भी दस्तावेज को 30 साल से ज्यादा गोपनीय नहीं रखा जा सकता। चूंकि उक्त घटना को 30 साल हो चुके हैं। बता दें कि साल 2014 में आॅप्रेशन ब्लू स्टार के 30 साल पूरे होने के चलते सार्वजनिक हुए इन दस्तावेजों से पता चला था कि आप्रेशन ब्लू स्टार में ब्रिटेन की सरकार ने भी सलाह दी थी।

- इस मामले पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरून ने वहां की संसद में एक बयान जारी करते हुए कहा था कि ब्रिटेन ने सिर्फ सलाह दी थी और ब्रिटेन का रोल सिर्फ इतना ही था।

पता चलना चाहिए ऑपरेशन में कौन शामिल था : एसजीपीसी

अमृतसर. ऑप्रेशन ब्ल्यू स्टार में ब्रिटेन सरकार की भूमिका संबंधी दस्तावेज सार्वजनिक करने के अदालत के आदेश का एसजीपीसी ने स्वागत किया है। प्रधान गोबिंद सिंह लौंगोवाल ने भारत सरकार को भी इस संबंधी दस्तावेज सार्वजनिक करने को कहा। ताकि हमले में जिस किसी की भी शमूलियत हो, सामने आनी चाहिए।