पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वर्ल्ड बैंक के 2200 करोड़ के वाटर वर्क्स प्रोजेक्टों से इंडस्ट्री को फायदा

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दस साल पहले तक पाइप फिटिंग इंडस्ट्री में हमारे शहर का नाम सबसे आगे थे। फिर हालात बदलने पर पाइप फिटिंग इंडस्ट्री के वजूद पर ही संकट मंडराने लगा। अब एक बार फिर स्थानीय इंडस्ट्री के लिए उम्मीद की किरण जगी है। विश्व बैंक के सहयोग से पंजाब के गांवों में 2200 करोड़ रुपए खर्च कर ट्यूबवेल स्थापित करने की योजना है।

पंजाब सरकार ने नियम बनाया है कि ट्यूबवेल लगाने के लिए पाइप फिटिंग कंपोनेंट्स की 50 फीसदी तक खरीद स्थानीय इंडस्ट्री से की जाएगी। माना जा रहा है कि ओवरहेड टंकी के पाइप जोड़ने वाले कंपोनेंट्स आदि के रूप में स्थानीय इंडस्ट्री को करीब 500 करोड़ रुपए के ऑर्डर मिलेंगे। 500 करोड़ रुपए का बिजनेस जालंधर की हैवी पाइप फिटिंग व वाॅल्व बनाने वाली कंपनियों में जान फूंकेगा। फिलहाल प्रदेश में धीमी कंस्ट्रक्शन के चलते लोकल डिमांड कम है।

कारोबारियों को उम्मीद- स्ट्रक्चर डेवलपमेंट से इंडस्ट्री को मिलेगा कारोबार
जालंधर में 100 के करीब कारखाने हैं जो हैवी पाइप फिटिंग व सरकारी प्रोजेक्टों में सप्लाई के लिए स्किल्ड यूनिट हैं। इन्हें प्रोजेक्ट की जानकारी मिली है। वाटर एंड सेनिटेशन डिपार्टमेंट ने बीते दिनों प्रोजेक्ट संचालन के लिए कंसल्टेंसी फर्म की नियुक्ति के लिए सिलेक्शन प्रोसेस शुरू किया। डिपार्टमेंट के जानकारों ने बताया कि हर गांव में या नई वाटर ट्यूबवेल स्थापित होने हैं या फिर पुरानों को अपग्रेड किया जाना है। नए ऑर्डर्स की संभावना पर प्रमुख पाइप फिटिंग उत्पादक और जालंधर चेंबर आॅफ इंडस्ट्री एंड कॉमर्स के जनरल सेक्रेटरी चरणजीत सिंह महंगी ने कहा कि छोटी इंडस्ट्री के लिए कोर सेक्टर मे लोकल डिमांड लंबे समय से धीमी चल रही है। इसकी वजह रियल एस्टेट सेक्टर में कंस्ट्रक्शन कम होना था। अब उम्मीद बंधी है कि दोनों सेक्टर में स्ट्रक्चर डेवलपमेंट तेज होने के चलते पाइप फिटिंग इंडस्ट्री को कारोबार मिलेगा।

सरकार बड़े प्रोजेक्ट बड़ी कंपनियों को देती है
हैवी पाइप फिटिंग मेन्यूफेक्चरर गुरचरण सिंह कहते हैं कि अक्सर जब बड़े प्रोजेक्ट आते हैं तो सरकार की नजरें सिर्फ मल्टीनेशनल कंपनियों को अलॉटमेंट देने पर फोकस्ड होती है। यह कंपनियां भी आखिरकार लोकल यूनिटों से ही उपकरण बनवाकर सरकार के प्रोजेक्ट में फिट करती हैं। वर्ल्ड बैंक के नए प्रोजेक्ट में यह प्रावधान किया जाना चाहिए कि लोकल इंडस्ट्री के बने साजो सामान को सीधे तौर पर खरीदा जाएगा। इससे लोकल इंडस्ट्री को बड़ा सपोर्ट मिलेगा। वहीं, एग्रो वाॅल्व निर्माता हेमंत जैन ने कहा कि इन दिनों पंजाब का माल उत्तर प्रदेश, बिहार और गुजरात क्षेत्रों में सप्लाई हो रहा है। वर्ल्ड बैंक के नए प्रोजेक्ट से लोकल डिमांड पैदा होगी यह हमारे लिए अच्छा मौका है।

मेन्यूफेक्चरर्स के लिए अच्छे अवसर
प्रोजेक्ट में जिस लोकल इंडस्ट्री को टेंडर मिलेगा, उसे 50 परसेंट कोटे का तभी लाभ होगा जब वह कच्चा माल भी पंजाब की ही फर्म से खरीदेगा। सरकारी प्रोजेक्ट में पानी के पाइप सीमेंट या फिर प्लास्टिक के इस्तेमाल होते हैं। इस लिहाज से जालंधर में जो इनके नए यूनिट लगे हैं, उनके लिए भी बिजनेस का मौका है। वैसे पंजाब में धुरी शहर पाइप इंडस्ट्री की हब है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें