5 दिन बाद भी सिविल में लीकेज नहीं हुई बंद

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जहां एक तरफ स्वास्थ्य विभाग लोगों को लगने वाली बीमारियों व बचाव सबंधी जागरूकता की कमी बता रहा है। वहीं कपूरथला का स्वास्थ्य विभाग जागरूक होने के बाद भी मरीजों और लोगों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ करने से पीछे नहीं हट रहा है। पिछले एक सप्ताह से अस्पताल के मेडिकल वार्ड की ऊपरी मंजिल की छत से आ रहे पानी के पाइप से पानी टपक रहा है जिससे उक्त जगह पर हरी काई (हरियाली) जम गई है। वहीं अब तो अब तो दीवारों में भी सीलन आ गई है।

इस समस्या को 5 दिन पहले सिविल सर्जन डॉ. जसमीत कौर बावा के ध्यान में लाया गया था और उन्होंने इस समस्या को जल्द दूर करने का दावा किया था। इसमें से वॉशबेसिन वाली और सफाई की समस्या ठीक हो गई पर मेडिकल वार्ड की छत पर लीक हो कूलर की टंकी को ठीक करने के लिए सिविल प्रबंधन को अब तक प्लंबर नहीं मिला है। इससे साफ जाहिर होता है कि स्वास्थ्य विभाग लोगों के स्वास्थ्य प्रति कितना गंभीर है। वहीं मानसून भी आने वाला है। यदि स्वास्थ्य विभाग ने जल्द इस और ध्यान न दिया तो अस्पताल में ही डेंगू, मलेरिया व चिकनगुनिया जैसी बीमारियां पैदा हो जाएगी।

मेडिकल वार्ड की ऊपरी छत्त से पानी टपकने से दीवारों में आई सीलन।

वॉशबेसिन व आसपास करवाई सफाई : सीएस | इस बारे में सिविल सर्जन डॉ. जसमीत कौर बावा ने कहा कि वॉशबेसिन में भरा पानी निकलवा दिया है। आसपास भी सफाई करवा दी है। अब तीसरी मंजिल पर रखे कूलर की टंकी लीक पाई गई है। वहां से पानी टपकने के कारण छत में सीलन है। इसे भी जल्द ही दूर करवा दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...