Hindi News »Punjab »Kapurthala» धर्म ग्रंथों का सच्चे मन से अध्ययन कर प्राप्त होगा ज्ञान : स्वामी कमलानंद

धर्म ग्रंथों का सच्चे मन से अध्ययन कर प्राप्त होगा ज्ञान : स्वामी कमलानंद

श्री कल्याण कमल आश्रम हरिद्वार के अनंत श्री विभूषित 1008 महामंडलेश्वर स्वामी कमलानंद गिरि जी महाराज ने कहा कि...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 02:40 AM IST

श्री कल्याण कमल आश्रम हरिद्वार के अनंत श्री विभूषित 1008 महामंडलेश्वर स्वामी कमलानंद गिरि जी महाराज ने कहा कि मनुष्य को धार्मिक ग्रंथों को सिर्फ रटने तक ही सीमित नहीं रहना चाहिए, बल्कि इन्हें अपने मन के भीतर सच्चे हृदय से उतारना चाहिए क्योंकि अगर मनुष्य सच्चे मन से धर्म ग्रंथों का अध्ययन करे तो उसे बहुत सारा ज्ञान प्राप्त हो सकता है।

महामंडलेश्वर स्वामी कमलानंद जी ने यह विचार श्री स्नेह बिहारी मंदिर जलौखाना कपूरथला में आयोजित श्रीमद् भागवत गीता कार्यक्रम के दौरान वीरवार को श्रद्धालुओं के विशाल जनसमूह के समक्ष प्रवचन करते व्यक्त किए। स्वामी जी ने कहा कि प्रभु मिलते तो सभी को हैं, लेकिन जिसके जीवन में सिमरन तथा साधना अधिक है वही ईश्वर को पहचान पाता है। भगवान को पहचानने के लिए विनम्रता का चश्मा नेत्रों पर चढ़ाना बेहद जरूरी है, तभी उनके दर्शन होंगे। भगवान बुद्धि के नेत्रों से नहीं बल्कि श्रद्धा और ज्ञान के नेत्रों से नजर आते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kapurthala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×