• Hindi News
  • Punjab
  • Kapurthala
  • दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान में साप्ताहिक सत्संग करवाया
--Advertisement--

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान में साप्ताहिक सत्संग करवाया

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान कपूरथला आश्रम में साप्ताहिक सत्संग का करवाया गया। जिसमें साध्वी रितु भारती ने अपने...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:40 AM IST
दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान में साप्ताहिक सत्संग करवाया
दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान कपूरथला आश्रम में साप्ताहिक सत्संग का करवाया गया। जिसमें साध्वी रितु भारती ने अपने प्रवचनों में बताया कि जब प्रभु की कृपा होती है तभी संत से मुलाकात होती है। संत की संगति से प्रभु के नाम के आनंद का पता चलता है। तब दिन रात उसी का सिमरन करने से सुख और आनंद बहुत ही सुलभता से प्राप्त हो जाता है। सतसंग शब्द सत् और संग दो शब्दों से जुड़कर बना है। सतसंग अर्थात जिसने सत्य का संग कर लिया, उसी ने वास्तव में सतसंग की प्राप्ति की है। जिस समय सत्य को जानने वाला सत्य की चर्चा करेगा तब उस चर्चा को श्रवण करने वालों को भी उस सत्य की प्राप्ति के बारे में बताएगा। उसका उद्देश्य केवल कथा कहानियों या ग्रंथ, वेद, शास्त्रों की चर्चा करना नहीं होगा। जो मनुष्य सत्य को जान लेता है वह दूसरों से भी उसी सत्य को जानने की ही चर्चा करता है। परंतु जिसने सत्य को जाना ही नहीं, उसके द्वारा हम कितनी भी चर्चा क्यों न श्रवण कर लें, उसके द्वारा जीवन के लक्ष्य की प्राप्ति होना असंभव है। गोस्वामी तुलसीदास जी कहते है कि सत्य को जाने बिना मोह भंग नहीं हो सकता। जब तक मोह रुपी अज्ञानता का नाश नहीं होगा तब तक प्रभु के चरणों में प्रीति दृढ़ नहीं हो सकती। साध्वी रमन भारती ने मधुर भजनों का गायन किया।

X
दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान में साप्ताहिक सत्संग करवाया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..