23 दिव्यांगो को आर्टीफिशियल अंग देने के लिए की गई पहचान, 9 तक जिले में लगाए जाएंगे कैंप

Kapurthala News - मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस मौके पर करवाए गए जिला स्तरीय कार्यक्रम स्थानीय फव्वारा चौक में स्थित...

Dec 04, 2019, 08:16 AM IST
मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस मौके पर करवाए गए जिला स्तरीय कार्यक्रम स्थानीय फव्वारा चौक में स्थित बीडीपीओ कार्यालय में आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य मेहमान को तौर पर डीसी ईंजी. डीपीएस खरबंदा ने शिरकत की। उनके साथ विशेष मेहमान के तौर पर नगर सुधार ट्रस्ट के चेयरमेन मनोज कुमार भसीन व देहाती ब्लाक कांग्रेस प्रधान अमरजीत सिंह मौजूद थे। इस कार्यक्रम में सुखजीत आश्रम होम फॉर मेंटली रिटायर्ड चिल्ड्रन में रहने वाले बच्चों को भी बुलाया गया। राष्ट्रीय विकलांग पार्टी के पंजाब स्टेज प्रचारक हरजिंदर पाल संधू ने डीसी को बताया कि बीते वर्ष 2018 में लगाए गए कैंप दौरान कुछ दिव्यांगों के लिए आर्टीफिशियल अंग देने के लिए नाप लिया गया था, जोकि वर्ष 2019 मार्च महीने में उनको मिले थे लेकिन वह आर्टीफिशियल अंग लिए गए नाप से मेल नहीं खाए जिस के चलते सभी लोग आर्टीफिशियल अंग से वंचित रह गए।

इस मौके जिला रैडक्रास सोसायटी के सचिव आरसी बिरहा, जिला प्रोग्राम अधिकारी स्नेह लता, गुरदीप सिंह बिशनपुर, कपिल देव, गुरमुख सिंह ढोड, अंजू बाला, गोपाल िकशन, अध्यापिका सुनीता सिंह, हरविंदर सिंह मरवाहा, लैहंबर सिंह, हरबंस सिंह कांजली, कश्मीरी लाल, पसरीचा, अमितेश लाल सुमन, अवदेश पाल, मोहन व भारी संख्या में दिव्यांग व अन्य थे।

अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस मौके जिला स्तरीय समागम दौरान दिव्यांगों को सम्मानित करते डीसी इंजी. डीपीएस खरबदा व सीजेएम अजीतपाल सिंह। -भास्कर

अलिमको कंपनी जिले में दिव्यांगों के लिए लगाएगी कैंप और उपकरण मुहैया करवाएगी

डीसी इंजी डीपीएस खरबंदा ने बताया कि भारत सरकार की ‘आरवीवाई’ और ‘एडीआईपी’ स्कीम तहत जिला प्रशासन द्वारा जिले के समूह ब्लाकों में 9 दिसंबर तक दिव्यांग व्यक्तियों को मुफ्त बनावटी अंग व उपकरण मुहैया करवाने के लिए विशेष कैंप लगाए जा रहे है, जिसकी शुरुआत कपूरथला ब्लाक से की गई। उन्होंने बताया कि सामाजिक सुरक्षा और स्त्री व बाल विकास विभाग के सहयोग से ‘अलिमको’ द्वारा लगाए जा रहे इन कैंपों में दिव्यांगो को बनावटी अंग और उपकरण मुहैया करवाने के लिए उनकी पैमाइश व पहचान की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस संबंधी 4 दिसंबर को बीडीपीओ कार्यालय सुल्तानपुर लोधी, 5 दिसंबर को बीडीपीओ कार्यालय ढिलवां, 6 दिसंबर को बीडीपीओ कार्यालय नडाला, 7 दिसंबर को सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल सिधवां और 9 दिसंबर को गीता भवन मंदिर, माडल टाउन फगवाड़ा में कैंप लगाए जाएंगे। उन्होंने दिव्यांगों और जरूरतमंद लोगों को इन कैंपों में अधिक से अधिक संख्या में शिरकत करके लाभ लेने की अपील की।

दिव्यांग सर्टिफिकेट न होने पर 11 वर्षीय बच्चा बूट से रह गया वंचित

स्थानीय बीडीपीओ कार्यालय में अलिमको कंपनी की ओर से दिव्यांग लोगों को आर्टीफिशियल अंग देने के लिए नाप लिया जा रहा था। तभी गांव बडियाल में रहने वाला हरदेव सिंह अपने 11 वर्षीय बच्चें के जोकि दिव्यांग होने के कारण चल नही सकता को सीने से लगाकर अलिमको कंपनी के कर्मचारियों के पास पहुंचता है। वह अपने बच्चें के लिए कंपनी के कर्मचारियों से दिव्यांग बच्चें के पांव में पहनाने के लिए बूट की मांग करता है ताकि वह चल फिर सके। लेकिन कंपनी द्वारा दिव्यांग सर्टीफिकेट की मांग की जाती है। जो हरदेव सिंह द्वारा पूरी नही की जाती वह निराश होकर लोगों से पूछ रहा था कि दिव्यांग सर्टीफिकेट कहा बनते है ताकि वह अपने बच्चें का सर्टीफिकेट बना सके तथा उसका बेटा अपने पैरों पर चल सके। जिससे साफ जाहिर होता है कि अभी भी जागरुकता की कही ना कही कमी खल रही है।

पहले दिन 23 दिव्यांगों की पहचान की गई | जिला सामाजिक सुरक्षा अधिकारी गुलबर्ग लाल ने बताया कि विभाग दिव्यांगों को मुख्य धारा में लाने के पूरी तरह से प्रयासरत है और उनको हरेक तरह की सुविधा मुहैया करवाने के लिए वचनबद्ध है। मंगलवार को लगाए गए कैंप दौरान 23 व्यक्तियों की पहचान की गई है। उन्होंने कहा कि इस मौके सुखजीत आश्रम के बच्चों द्वारा शानदार प्रोग्राम भी पेश किया गया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना