पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Kapurthala News Isolation Ward Facility In Arsif Hospital Two Counters For Fever Patients

अारसीएफ अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड की सुविधा, बुखार के मरीजों के लिए दो काउंटर लगाए

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रेल कोच फैक्टरी प्रशासन भी कॉलोनी निवासियों को कोरोना वायरस से सुरक्षित रखने के लिए सभी आवश्यक उपाय कर रहा है। आरसीएफ के लाला लाजपत राय अस्पताल में बुखार और रेस्पिरेटरी इन्फेक्शन के मामलों के लिए अलग वार्ड रिजर्व किए हैं। बुखार और इन्फेक्शन के सभी मामलों का अलग से इलाज किया जा रहा है। संदिग्ध मामलों के उपचार के लिए आरसीएफ अस्पताल के सभी बचाव और सुरक्षात्मक उपकरणों की उपलब्धता के साथ 4 बेड वाला आइसोलेशन वार्ड की सुविधा बनाई है। 26 बेड वाला क्वारनटाइन सुविधा बनाई गई है। बुखार, सर्दी और जुकाम के मरीजों के लिए दो विशेष काउंटर लगाए गए हैं।

आरसीएफ में बाहरी व्यवसायिक आगुन्तकों का प्रवेश बंद कर दिया गया है। आरसीएफ में तकनीकी टूर पर बाहर से स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी के सभी विद्यार्थियों का टूर भी रद्द कर दिया है। दूर के इलाकों से पब्लिक यातायात सुविधा का प्रयोग कर आने वाले कर्मचारियों की सुरक्षा को देखते हुए उन्हें 31 मार्च तक आरसीएफ कार्यस्थल पर न आने के निर्देश जारी कर दिए हैं। आरसीएफ कॉलोनी और फैक्टरी के सभी प्रवेश द्वारों पर थर्मल स्केवनिंग की ओर से आने वालों के शारीरिक तापमान की जांच की जा रही है। पिछले एक महीने के दौरान विदेश से लौटे कर्मचारियों के साथ मेडिकल विभाग संपर्क कर उनसे कोरोना वायरस से संबंधित लक्षणों के बारे में पूछताछ कर रहा है। पिछले 15 दिनों में विदेश से लौटे कर्मचारियों को होम क्वारटम के लिए कहा है और रोजाना उनकी निगरानी की जा रही है।

जगह-जगह पर लगाए जागरुकता पोस्टर

आरसीएफ के प्रिंसिपल चीफ मेडिकल अधिकारी डा. एसपीएस सचदेवा ने बताया कि आरसीएफ के मेडिकल विभाग ने कोरोना वायरस से बचाव के तरीकों के बारे में आम जनता को जागरूक करने के लिए जगह-जगह पर शिक्षित करने वाले पोस्टर लगाए हैं। कर्मचारियों और उनके पारिवारिक सदस्यों की जानकारी के लिए पोस्टरों को अस्पताल परिसर, कॉलोनी और कार्यस्थलों पर प्रमुखता से प्रदर्शित किया है। सभी निवासियों को मेडिकल विभाग के निर्देशों का पालन करने की अपील की।

रेल कोच फैक्टरी आने वाले लोगों के थर्मल स्केवनिंग से शारीरिक तापमान की जांच करते रेलवे सुरक्षा कर्मी। -भास्कर
खबरें और भी हैं...