ज्ञान सिर्फ स्कूलों तक ही सीमित नहीं रहा, इंटरनेट के आने से विद्यार्थियों के ज्ञान में बढ़ोतरी हुई है : डॉ.नीलिमा

Kapurthala News - आज के युग में अब वह समय नहीं रहा जब विद्यार्थियों का ज्ञान सिर्फ स्कूलों तक ही सीमित होकर रह जाए। समय का पाबंद बनने...

Bhaskar News Network

Oct 12, 2019, 08:16 AM IST
Kapurthala News - knowledge is not limited only to schools students39 knowledge has increased with the advent of internet dr nilima
आज के युग में अब वह समय नहीं रहा जब विद्यार्थियों का ज्ञान सिर्फ स्कूलों तक ही सीमित होकर रह जाए। समय का पाबंद बनने के लिए यह बहुत जरूरी हो चुका है कि शुरू से ही बच्चों को कंप्यूटर के ज्ञान के जरिए अधिक से अधिक प्रेक्टिकल ज्ञान से जोड़ा जाए। अब का विद्यार्थी जितना क्लास में पढ़ता है उससे कहीं ज्यादा इंटरनेट व ई-शिक्षा के जरिए उसे दुनिया भर का ज्ञान दिया जा सकता है। यह प्रगटावा पुष्पा गुजराल साइंस सिटी में पंजाब के विभिन्न स्कूलों के प्रिंसिपल व डायरेक्टरों को संबोधित करते हुए पुष्पा गुजराल साइंस सिटी की डायरेक्टर जनरल डॉ. नीलिमा जेरथ ने किया। उन्होंने आए हुए प्रिंसिपल को कहा कि जब से इंटरनेट दुनिया में आया है तब से ही विद्यार्थियों के ज्ञान के स्रोतों में भी बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है। सोशल मीडिया, स्मार्ट फोन, ऑनलाइन शिक्षा, गूगल व लिखित संदेश के जरिए हम घर बैठे ही दुनिया का ज्ञान हासिल कर सकते हैं। इन सबके परिणाम भी अच्छे आ रहे हैं।

विद्यार्थियों को रस्मी से गैर रस्मी शिक्षा की ओर ले जाना समय की जरूरत

अब समय आ चुका है कि शुरू से विद्यार्थियों को ऐसा ज्ञान दिया जाए, जिससे वह जिंदगी के नए सरहदें तय कर सके, भाव उन्हें रस्मी से गैर रस्मी शिक्षा की ओर ले जाना समय की अहम ज़रुरत है। इसलिए यहां पहुंचे सभी स्कूल इंचार्जों को यह सलाह दी जाती है कि वह भी अपने विद्यार्थियों को गैर रस्मी शिक्षा से जोड़ने के लिए अधिक से अधिक प्रय| करें ताकि विद्यार्थियों को आधुनिकता के साथ जोड़ा जा सके।

पुष्पा गुजराल साइंस सिटी की डायरेक्टर जनरल डॉ. नीलिमा जैरथ बढ़िया कारगुजारी करने वाले स्कूल डायरेक्टरों और प्रिंसिपल्स को सम्मानित करते हुए। -भास्कर

दुनिया में विद्यार्थियों की जिंदगी बनाने व रोजगार पैदा करने की दौड़ लगी है : रितिक चंदा पारुक

रितिक चंदा पारुक ने कहा कि दुनिया की सभी शिक्षा संस्थाओं में विद्यार्थियों की जिंदगी बनाने व रोजगार के मौके पैदा करने की दौड़ लगी हुई है। अब विशेष समय व विशेष पाठ्यक्रम की जरूरत नहीं है, बल्कि इस विषय की ओर ध्यान देने की जरूरत है कि अध्यापक बच्चों को बात समझाने में कितना निपुन है।

इन्फार्मेशन टेक्नोलॉजी का क्षेत्र जानकारियां देने में अहम भूमिका निभा रहा : सीईओ अमनजीत सिंह

टू बी इनोवेशन के सीईओ अमनजीत सिंह ने बताया कि इन्फार्मेंशन टेक्नालॉजी का क्षेत्र जानकारियां देने में अहम भूमिका निभा रहा है। इन्फार्मेंशन टेक्नालॉजी के चलते आज अध्यापन के क्षेत्र में बड़े सुधार देखे जा रहे हैं। इसके द्वारा अध्यापक अपने पढ़ाने के कौशल में सुधार करके बच्चों को अच्छे ढंग से पढ़ा सकता है और उनका बौद्धिक विकास कर सकता है।

विज्ञान के प्रसार और प्रचार के लिए िवज्ञान केंद्र खोले : डॉ. तबसम जमाल

डॉ. तबसम जमाल ने कहा कि देश के विद्यार्थी वर्ग को विज्ञान की तरफ लगाने के लिए भारत बड़े स्तर पर प्रय| कर रहा है। इसके प्रसार व प्रचार के लिए जहां विज्ञान केंद्र खोले जा रहे हैं, वहीं स्कॉलरशिप स्कीमों के अधीन विज्ञानिक लेक्चर व लेख के जरिए विद्यार्थियों को प्रेरित किया जा रहा है।

Kapurthala News - knowledge is not limited only to schools students39 knowledge has increased with the advent of internet dr nilima
X
Kapurthala News - knowledge is not limited only to schools students39 knowledge has increased with the advent of internet dr nilima
Kapurthala News - knowledge is not limited only to schools students39 knowledge has increased with the advent of internet dr nilima
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना