• Home
  • Punjab News
  • Kapurthala News
  • पांच साल के बेटे की हत्या में मॉडर्न जेल में बंद विचाराधीन गर्भवती के 7 महीने के बच्चे की मौत
--Advertisement--

पांच साल के बेटे की हत्या में मॉडर्न जेल में बंद विचाराधीन गर्भवती के 7 महीने के बच्चे की मौत

मॉडर्न जेल कपूरथला में 302 के मामले में महिला विचाराधीन कैदी के पेट में पल रहे 7 महीने के बच्चे की संदिग्ध हालात में...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:35 AM IST
मॉडर्न जेल कपूरथला में 302 के मामले में महिला विचाराधीन कैदी के पेट में पल रहे 7 महीने के बच्चे की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। जेल परिसर में बुधवार देर रात उसकी तबीयत बिगड़ने के कारण उसे सिविल अस्पताल लाया गया। डॉक्टरों के मुताबिक जब महिला सिविल में लाई गई तो बच्चा आधा बाहर था और मरा हुआ था। बता दें कि मॉडर्न जेल में बंद महिलाओं के लिए लेडी डॉक्टर उपलब्ध नहीं है। सूत्रों के मुताबिक गर्भवती महिला हवालाती को जब सिविल अस्पताल के लिए रेफर किया जा रहा था तभी उसने मृत बच्चों को जन्म दे दिया था। फिलहाल महिला का सिविल अस्पताल के जच्चा-बच्चा वार्ड में इलाज चल रहा है। उक्त महिला पर अपने पांच साल के बेटे की हत्या करने के आरोप में मामला विचाराधीन है।

बुधवार देर रात मॉडर्न जेल में 27 वर्षीय गर्भवती महिला विचाराधीन कैदी राजवंत कौर के पेट में दर्द होने की शिकायत मिलने के बाद मॉडर्न जेल प्रबंधन ने उसे सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया। जेल में लेडी डाक्टर न होने के कारण अन्य कैदी महिलाओं ने गर्भवती राजवंत कौर को सहारा दिया। सिविल अस्पताल लाने के बाद गर्भवती महिला का बच्चा लगभग आधा बाहर था, जिसे डॉक्टरों ने बाहर निकालकर महिला की जान बचाई लेकिन बच्चे को बचा नहीं सके। दूसरी तरफ गायनी डॉक्टर सिम्मी धवन ने जेल से शिफ्ट हुई गर्भवती महिला राजवंत कौर के बच्चे के मृत होने की पुष्टि करते हुए बताया कि जब महिला सिविल में लाई गई तो बच्चा आधा बाहर था और उसकी मौत हो चुकी थी।

राजवंत कौर।

राजवंत कौर को हो गई थी बीपी की शिकायत

सिविल अस्पताल में इलाज करने वाली गायनी डॉक्टर के मुताबिक गर्भवती महिला विचाराधीन कैदी राजवंत कौर का पहले भी सिविल में इलाज चल रहा था। प्रेगनेंसी के दौरान उसे बीपी बढ़ने की शिकायत हो गई थी। गर्भवती महिला को 7वां महीना चल रहा था। गायनी डॉक्टर ने बताया कि एेसी स्थिति में यदि जेल प्रबंधनों से आग्रह किया जाए तो एक महीने की छुट्टी मिल जाती है। सूत्रों के मुताबिक गर्भवती महिला ने पिछले तीन चार दिन से बीपी की दवा नहीं खाई थी। बीते बुधवार को वह जेल में लेबर करने के लिए चली गई थी।

महिला जब जेल आई थी तो 4 महीने की गर्भवती थी : सुपरिंटेंडेंट मॉडर्न जेल

मॉडर्न जेल सुपरिंटेंडेंट एसपी खन्ना ने बताया कि उक्त महिला की देर रात तबीयत खराब होेने पर उसे सिविल अस्पताल में रेफर कर दिया गया था। जेल परिसर में हर बीमारी के विशेषज्ञ की ओर से रुटीन से कैदियों का चेकअप करवाया जाता है। उक्त महिला जब जेल में आई थी तो चार महीने की गर्भवती थी। उसका इलाज निरंतर चल रहा था।