परमजीत सिंह उर्फ पंजवड़ हाजिर हो... यह आवाज अदालत में 1990 से लगाई जा रही

Kapurthala News - पंजाब पुलिस के पास पंजवड़ की कई दशक पुरानी तस्वीरें हैं, थानों में भी वही लगी है परमजीत सिंह उर्फ पंजवड हाजिर...

Feb 22, 2020, 07:56 AM IST
Kapurthala News - paramjit singh alias panjwad be the spot this voice has been being heard in the court since 1990
पंजाब पुलिस के पास पंजवड़ की कई दशक पुरानी तस्वीरें हैं, थानों में भी वही लगी है

परमजीत सिंह उर्फ पंजवड हाजिर हो...। यह आवाज साल 1990 से कपूरथला की अदालत में सुनाई दे रही है। परमजीत हाजिर नहीं हुआ। साल 1992 में अदालत ने उसे भगौड़ा घोषित किया, फिर भी यह चेहरा अदालत में नहीं दिखा। क्या आप जानते हैं यह परमजीत कौन है..?, कहां का रहने वाला है। बहुत कम लोगों को पता होगा कि परमजीत सिंह कौन है। यह कोई और नहीं, खालिस्तान कमांडो फोर्स का चीफ और पंजाब का खूंखार आतंकी परमजीत सिंह पंजवड़ है। थाना भुलत्थ पुलिस ने 17 अक्टूबर 1990 को हत्या, आर्मज एक्ट और अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया था। तभी से मामला अदालत में है। अदालत ने उसे 1992 से भगौड़ा करार दे रखा है लेकिन पंजवड़ एक बार भी अदालत नहीं पहुंचा। अदालत के आदेश पर पुलिस ने पंजवड़ पर एक और केस बनाया है। बता दें कि पंजवड़ कई दशक से पाकिस्तान में बसा हुआ है। जहां से वह अब तक भारत विरोधी कई साजिशों को अंजाम दे चुका है। पंजवड पर पंजाब और अन्य कई राज्यों में हत्याओं, हथियार सप्लाई और अन्य क्राइम आदि के दर्जनों मामले दर्ज हैं। हालात ऐसे हैं कि पुलिस के पास पंजवड़ की कई दशक पुरानी तस्वीरें हैं। पुलिस ने उसी तस्वीरों को थानों में लगा रखा है लेकिन अदालत बार-बार उसे पेश होने के आदेश देती रही है।

7 और भगौड़े आरोपियों पर केस दर्ज

भास्कर संवाददाता| कपूरथला

अदालतों में चल रहे मामलों में पेश न होने पर कई साल पहले भगौड़ा घोषित आरोपियों पर पुलिस ने 7 और आरोपियों पर कार्रवाई की है। सातों आरोपी लंबे समय से अदालत में हाजिर नहीं हो रहे थे। यह ऐसे आरोपी हैं, जिनके घरों में पुलिस ने कई बार रेड भी की लेकिन आरोपी कहीं नहीं मिले। कोई हत्या के मामले में वांछित है। किसी ने जानलेवा हमला किया है जबकि कोई आरोपी घर में दाखिल होकर हमला करने वालों में शामिल रहा है। अदालत के आदेश पर कपूरथला में भगौड़े आरोपियों पर कार्रवाई पिछले 5 दिन से जारी है।

}पहला मामला- थाना बेगोवाल के गुरदेव सिंह ने बताया कि अमरजीत सिंह उर्फ बावा पुत्र मंगल सिंह निवासी बलोचक्क, मक्खन सिंह उर्फ सुक्खा निवासी बेगोवाल और गुरिंदर सिंह उर्फ न्यूटन पुत्र धर्म सिंह निवासी उधरा जिला होशियारपुर के खिलाफ 16 नवंबर 2011 को हत्या और आर्मज एक्ट के तहत केस दर्ज हुआ था। मामला अदालत पहुंचा। पुलिस ने तीनों आरोपियों के घर कई बार रेड भी की लेकिन आरोपी अदालत में नहीं पहुंचे। अदालत ने तीनों आरोपियों को भगौड़ा करार दे रखा है। पुलिस ने अदालत के आदेश पर आरोपी के खिलाफ धारा 174-ए के तहत कार्रवाई की है।

}दूसरा मामला- थाना बेगोवाल के एएसआई बलजिंदर सिंह ने बताया कि कुलबीर सिंह पुत्र खजान सिंह निवासी ईशरबुच्चा बेगोवाल के खिलाफ 31 मार्च 2012 को धारा 307, 498-ए, 120-बी और 304-बी के तहत केस दर्ज किया था। आरोपी अदालत नहीं पहुंचा। आरोपी को भगौड़ा करार दे दिया। बावजूद इसके आरोपी अदालत में हाजिर नहीं हुआ। अदालत के आदेश पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 174-ए के तहत कार्रवाई की है। आरोपी अभी भी फरार है।

}तीसरा मामला-थाना सदर कपूरथला के एएसआई लखवीर सिंह ने बताया कि इंद्रजीत सिंह पुत्र सतनाम सिंह निवासी ढपई जिला कपूरथला के खिलाफ 26 मार्च 2014 को धारा 307, 326, 324 के तहत क्रॉस केस दर्ज हुआ था। आरोपी अदालत में पेश नहीं हुआ। अदालत से भगौड़ा करार दे दिया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 174-ए के तहत कार्रवाई की है।

}चौथा मामला- थाना भुलत्थ के इंस्पेक्टर करनैल सिंह ने बताया कि हरजिंदर सिंह पुत्र ज्ञान सिंह निवासी चौहान जिला होशियारपुर के खिलाफ 8 नवंबर 1990 को धारा 307, 34 आईपीसी और आमर्ज एक्ट तहत केस दर्ज हुआ था। आरोपी अदालत में पेश नहीं हुआ। 20 नवंबर 1991 को एडिशनल सेशन जज कपूरथला की अदालत ने आरोपी को भगौड़ा करार दे दिया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 174-ए के तहत कार्रवाई की है।

}पांचवां मामला-थाना तलवंडी चौधरियां के एएसआई सर्बजीत सिंह ने बताया कि तजिंदर सिंह पुत्र गुरचरण सिंह निवासी टोडरवाल जिला कपूरथला के खिलाफ 22 मई 2012 को धारा 452, 427, 324, 323 आईपीसी के तहत केस दर्ज हुआ था। 16 मार्च 2013 को एसडीजेएम सुल्तानपुर लोधी की अदालत ने आरोपी को भगौड़ा करार दे दिया। आरोपी के घर पुलिस ने कई बार रेड भी की। लेकिन वह कहीं नहीं मिला। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की है।

परमजीत सिंह
उर्फ पंजवड़

कई दशक से पाकिस्तान में छिपा हुआ है, सूबे में आतंकी वारदात करने की कोशिश में लगा रहता है

खालिस्तान कमांडो फोर्स (केसीएफ) के मुखी परमजीत सिंह पंजवड़ भारतीय खुफिया एजेंसियों के मुताबिक पाकिस्तान में छिपा हुआ है। पंजाब के नौजवानों को गुमराह कर उनके जरिए सूबे में आतंकी वारदात को अंजाम देने की कोशिश में लगा रहता है। परमजीत तरनतारन जिला के गांव पंजवड़ का निवासी है। आतंकवाद के दौर में परमजीत कई हत्याओं, हथियार समगलिंग और अन्य क्राइम की घटनाओं को अंजाम दे चुका है। आतंकी पंजवड़ के आलावा कई और आतंकी भी हैं, जो पाकिस्तान में छिपे हुए हैं, जिन्हें भारतीय एजेंसियां करीब दो दशकों से तलाश रही हैं लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला है।

खालिस्तान कमांडो फोर्स का चीफ है पंजवड़... भारत विरोधी कई साजिशों में शामिल रहा है, पंजवड़ पर पंजाब और अन्य राज्यों में हत्याओं समेत दर्जनों केस दर्ज

थाना भुलत्थ के इंस्पेक्टर करनैल सिंह ने बताया कि परमजीत सिंह उर्फ पंजवड पुत्र कश्मीर सिंह निवासी गांव पंजवड़ जिला तरनतारन के खिलाफ 17 अक्टूबर 1990 को थाना भुलत्थ में धारा 302, 436, 34. 25,54,59 आर्मज एक्ट, 3/4/5 टीडीए (पी) एक्ट तहत केस दर्ज हुआ था। मामला एडिशनल सेशन जज कपूरथला की अदालत मंे चल रहा है। परमजीत एक बार भी अदालत में पेश नहीं हुआ। 25 मई 1992 को अदालत ने परमजीत को भगौड़ा करार दे दिया। बावजूद इसके परमजीत अदालत में हाजिर नहीं हुआ। अदालत के आदेश पर पुलिस ने आरोपी पर एक और कार्रवाई की है। आरोपी के खिलाफ अदालत के आदेश का उल्लंघन करने पर 174-ए आईपीसी का मामला बनाया है।

X
Kapurthala News - paramjit singh alias panjwad be the spot this voice has been being heard in the court since 1990

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना