धर्म व भौतिक विज्ञान दोनों का जीवन से गहरा संबंध : ऋतु

Kapurthala News - दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान कपूरथला आश्रम में सत्संग का आयोजन किया गया। जिसमें साध्वी ऋतु भारती ने अपने...

Oct 22, 2019, 08:05 AM IST
दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान कपूरथला आश्रम में सत्संग का आयोजन किया गया। जिसमें साध्वी ऋतु भारती ने अपने प्रवचनों में कहा कि धर्म और भौतिक विज्ञान दोनों का हमारे जीवन से घनिष्ठ संबंध है। दोनों के सदुपयोग से ही हमारे जीवन का सौन्दर्य परिपूर्ण होता है। भौतिक विज्ञान का सदुपयोग समाज को बाहृय सौन्दर्य प्रदान करता है। वहीं धर्म आंतरिक सौन्दर्य, धर्म का संबंध उस चेतन ब्रहम शांित से है, जो सर्व व्यापक है, जिसके द्वारा मानव के मानवीय गुण संचालित होते हैं। भौतिक विज्ञान का चरण मानव के अंत: प्रदेश में प्रवेश कर भी गया, तो उस दिन वह भौतिक रहेगा भी नहीं अभौतिक विज्ञान हो जाएगा। वह धर्म का ही साक्षात रूप हो जाएगा। भौतिक विज्ञान, भौतिक है ही तब तक जब तक उसके कार्य का क्षेत्र बाहृय है। चेतन का रुप तो उसे भी चेतनता के क्षेत्र में खींच ले जाएगा। समाज में जितनी भी कोमल भावनाएं हैं, जैसे प्रेम, दया, क्षमा, सदभाव इत्यादि यह सब मानव के अंतस के आभूषण हैं। किसी वैज्ञानिक के शोद्ध का विषय नहीं। इसलिए विद्वानों ने एकमत होकर कहा कि अकेला भौतिक विज्ञान अपूर्ण है, एक पक्षीय है। यही कारण है कि धार्मिक ग्रंथों में हमारे महापुरुष ज्ञान विज्ञान सहित का संदेश देते हैं। इनमें आप धर्म और विज्ञान, दोनो का समन्वय दे सकते हैं। इसके साथ ही साध्वी रमन भारती ने मधुर भजनों का गायन किया।

साध्वी ऋतु भारती प्रवचन करतीं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना