• Home
  • Punjab News
  • Khanna News
  • ‘सुप्रीम कोर्ट का फैसला दलितों के अधिकारों पर डाका’
--Advertisement--

‘सुप्रीम कोर्ट का फैसला दलितों के अधिकारों पर डाका’

खन्ना| सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के फैसले को लेकर सरपंचों ने भी सोमवार को भारत बंद का समर्थन...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:10 AM IST
खन्ना| सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के फैसले को लेकर सरपंचों ने भी सोमवार को भारत बंद का समर्थन किया है। गांव रसूलड़ा के सरपंच सुरजीत सिंह ने कहा कि भारतीय संविधान के निर्माता बाबा साहेब डा. भीम राओ अंबेडकर ने संविधान के निर्माण समय समाज में रुतबे के मुताबिक जातियों को अलग अलग कैटागिरी में रखते हुए उन्हें अधिकार प्रदान किए थे। जिस आधार पर हमारे देश में हर कैटागिरी के लोग अपना अच्छा जीवन व्यतीत कर रहे हैं। लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले से दलितों में रोष है। क्योंकि, यह फैसला उनके अधिकारों पर डाके के समान है। इसे वापस लिया जाना चाहिए। नंबरदार साधू सिंह ने कहा कि संविधान में मिले अधिकारों के चलते ही देश में जाति भेदभाव खत्म करने की कोशिश की गई। लेकिन सरमाएदारों ने जो अपने अंदर आज भी नीची जातियों के लोगों के लिए भावना पैदा की हुई है, वो गलत है। इस फैसले से ऐसे लोगों को तरजीह मिलेगी।