• Home
  • Punjab News
  • Longowal News
  • ‘अन्नदाता’ का मंचन कर दर्शाई किसानों की समस्या
--Advertisement--

‘अन्नदाता’ का मंचन कर दर्शाई किसानों की समस्या

नौजवान भारत सभा की ओर से गांव नमोल में इन्कलाबी नाटक मेला कराया गया। मेले की शुरूआत शहीदों को श्रद्धांजलि देकर...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:35 AM IST
नौजवान भारत सभा की ओर से गांव नमोल में इन्कलाबी नाटक मेला कराया गया।

मेले की शुरूआत शहीदों को श्रद्धांजलि देकर की गई। श्रद्धांजलि के उपरांत क्रांतिकारी पेंडू मजदूर यूनियन के जिला सचिव लखबीर लौंगोवाल ने कहा कि आजादी के 70 वर्ष बाद भी भारतीय राज प्रबंधक लोगों की समस्याओं को हल करने में नाकाम साबित हुआ है। लोगों को कानूनी हक प्राप्त करने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। नौजवान भारत सभा के प्रधान जगसीर नमोल ने कहा कि कैप्टन ने चुनावों से पहले घर-घर नौकरी देने का वादा किया था परंतु सत्ता हासिल करते ही कैप्टन अपने वादे को भूल गए हैं। कांग्रेस ने किसान-मजदूरों को कर्जमाफी के झूठे वायदे किए। अपनी मांगों के लिए सभी को एकजुट होकर संघर्ष करना होगा।

इस उपरांत रंगमंच पटियाला की टीम की ओर से बलविंदर सिंह के निर्देशन में किसानों व मजदूरों की जिंदगी पर आधारित नाटक अन्नदाता खेला गया। नशों के रूझान पर आधारित नाटक-एह कैसी रूत आई, मजदूरों की हालत ब्यान करता- तैं की दर्द न आया भी पेश किए गए। लवली बुढलाडा, जगजीवन आजाद, सुरप्रीत बुढलाडा, विमल कौर, बिनु नमोल ने इन्कलाबी गीत पेश किए।

इस मौके पर लखबीर सिंह, गुरदित सिंह, पारसदीप सिंह, अमरीक सिंह, सतनाम सिंह, जसविंदर कौर, मनजीत सिंह आदि उपस्थित थे।

आजादी के 70 वर्ष बाद भी हक के लिए संघर्ष को मजबूर लोग : लखबीर

संगरूर के नमोल में नाटक पेश करते कलाकार।