--Advertisement--

चाचा ने भतीजी से लिया ऐसा बदला, शरीर में लगी थी आग और भाग रही थी रोड पर

कंबल से आग बुझाने वाले पड़ोसी युवक ने आरोपी को पकड़ा, लोगों ने की धुनाई

Danik Bhaskar | Feb 09, 2018, 02:46 AM IST
मोहल्ले वालों ने पकड़ा था चाचा को । लड़की के जले हुए कपड़े। मोहल्ले वालों ने पकड़ा था चाचा को । लड़की के जले हुए कपड़े।

कपूरथला. ग्रीस से भेजे साढ़े सात लाख रुपए न देने पर रिश्तेदारी में चाचा लगते व्यक्ति ने उनके घर में आकर चाय पीने के बहाने गैस के पास खड़ी भतीजी पर ज्वलनशील पदार्थ फेंक दिया। इससे युवती को आग लग गई। यह एसिड आरोपी ने युवती की मां पर फेंकना था लेकिन वह पीछे हट गई। पीड़िता और उसकी मां मंजीत कौर ने एसिड अटैक होने की बात कही है जबकि पुलिस का कहना है कि पेट्रोल से अटैक किया था। वहीं, सिविल अस्पताल में तैनात ड्यूटी डॉक्टर का कहना है युवती झुलसने के कारण फिलहाल उन्हें किस चीज से अटैक किया गया, इसकी जानकारी नहीं है। हालांकि अस्पताल प्रशासन ने एसिड होने की संभावना जताई है। ये था मामला...


- पीड़िता 12वीं की छात्रा है। हमला करने वाला आरोपी बैग में टॉयलट क्लीनर में एसिड मिलाकर लेकर आया था।

- जैसे ही युवती उसके कहने पर चाय बनाने लगी उसने बैग से कैनी निकाल कर गिलास में डालकर युवती के चेहरे पर लिक्विड उड़ेल दिया।

- पहले भी कपूरथला में ऐसे 2 मामले सामने आ चुके है। 8 साल पहले भी दो युवतियों पर अलग-अलग समय में मनचलों ने एसिड अटैक कर उनका चेहरा और शरीर जला दिया था।

हमला के बाद युवती गालियां देती आरोपी के पीछे भागी

- पड़ोसी बुजुर्ग महिला माया रानी ने कहा कि जैसे ही कोमलप्रीत पर हमला हुआ, उसके शरीर को आग लग गई।

- एेसी हालत में ही कोमलप्रीत गालियां देती हुई आरोपी के पीछे भागी। गली में शोर सुनकर सभी बाहर आ गए।

- लोगों ने आग बुझाने की खूब कोशिश की लेकिन इस हालत में भी कोमलप्रीत आरोपी को गालियां देते हुए पकड़ने की दुहाई दे रही थी। लोगों ने आरोपी का पीछा कर उसे दबोच लिया।

वाटर प्यूरीफायर भी जला
- मां मनजीत कौर ने बताया कि दोपहर को वह घर में अकेली थी। अभी उसकी लड़की कोमलप्रीत कौर (16) स्कूल से लौटी थी कि उसके पति कुलदीप सिंह की बुआ के लड़के हरदीश सिंह निवासी गांव घिनौली जिला होशियारपुर घर में आ गया।

- आते ही उसने कोमलप्रीत कौर को चाय बनाने के लिए कहा। कोमलप्रीत चाय बनाने लग गई। हरदीश सिंह ने केनी से एसिड गिलास डाला और उसमें कुछ पाउडर मिक्स किया और उसपर फेंका।

- तभी वह अचानक पीछे हट गई और बेटी कोमलप्रीत कौर पर लिक्विड गिर गया। जैसे ही यह हमला हुआ तो पास में चल रही गैस से कोमलप्रीत पर गिरे एसिड को आग लग गई। देखते ही देखते वह झुलस गई। आग इतनी तेज थी कि रसोई में लगा वाटर प्यूरी फायर भी जल गया।

पुलिस बोली- आरोपी ने भाभी पर फेंका था पेट्रोल, पीछे हट गई

- डीएसपी सब-डिविजन गुरमीत सिंह ने बताया कि आरोपी से की प्रारंभिक पूछताछ में खुलासा हुआ है कि उसने एसिड नहीं, पेट्रोल से हमला किया था।

- वहीं, सिटी एसएचओ गब्बर सिंह का कहना है कि आरोपी पीड़िता की मां पर हमला करना चाहता था लेकिन मां अचानक साइड में हो गई। आरोपी हरजीत सिंंह पिछले सात साल से ग्रीस में था। अभी साढ़े तीन महीने पहले ही वह ग्रीस से लौटा है।

- पुलिस के मुताबिक ग्रीस में रहते हुए उससे मंजीत कौर ने साढ़े सात लाख रुपए अलग-अलग समय में मंगवाए। कई बार वह पैसे उसके घर घनोली से भी लेकर आई है।

- अब जैसे ही वह वापस लौटा तो उसने मंजीत कौर से अपने पैसे वापस मांगे लेकिन इन्होंने कोई रिस्पांस नहीं दिया। आज भी उसने अपने पैसे मांगे तो मंजीत कौर ने मना कर दिया। जिसके बाद उसने अपनी भाभी पर पेट्रोल फेंक दिया।

आगे की स्लाइड्स में जानें पुलिस की जांच में क्या आया सामने...

आग लगने से रसोई का सामान जल गया। आग लगने से रसोई का सामान जल गया।

आरोपी पुलिस की हिरासत में, युवती की हालत नाजुक होने पर किया अमृतसर रेफर

 

- लिक्विड फेंकने के बाद युवती ने चीखते पुकारते हुए खुद पर ही पानी डालकर आग बुझाने की कोशिश की। उसका पूरा चेहरा और शरीर झुलस गया। इसी हालत में युवती आरोपी का पीछे करते हुए गली तक भागी। 

- शोर सुनकर दूसरे कमरे से मां भी चीखने लगी। साथ में रह रहे एक युवक संदीप कुमार ने घर से कंबल लाकर पीड़िता के शरीर पर डाल दिया। इससे आग बुझ गई। 

- बाद में उसी युवक ने ही आरोपी का पीछा कर उसे दबोचा है। आरोपी को लोगों ने जमकर पीटा की और उसे पुलिस के हवाले कर दिया। 

- पीड़िता को सिविल अस्पताल में उपचार के बाद अमृतसर रेफर कर दिया है। पुलिस ने घटना को अंजाम देने वाले एसिड और आरोपी को कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है।

 

पेट्रोल की गंध नहीं आ रही थी: काहलों


सिविल अस्पताल का सिविल सर्जन एचएस काहलों ने बताया कि एसिड होने की संभावना है। युवती जब लाई गई तो पेट्रोल की गंध नहीं आ रही थी। उन्होंने बताया कि जब पेट्रोल डालने से किसी भी व्यक्ति को  आग लगती है तो उसके सिर के बाल और भवें जल जाती हैं। इस घटना में युवती के कपड़े भी कम जले हुए हैं जबकि पेट्रोल से आग लगने से कपड़े पूरी तरह जल जाते हैं। इससे संभावना है कि एसिड हो सकता लेकिन जांच के बाद पता ही चलेगा कि हमला एसिड से किया था या पेट्रोल से।

 

चाचा को मोहल्ले वालों ने आरोपी की पकड़कर धुनाई कर दी। चाचा को मोहल्ले वालों ने आरोपी की पकड़कर धुनाई कर दी।

झुलसे कपड़े कर दिए हैं पुलिस के हवाले : डा. राजीव पराशर


सिविल अस्पताल में इमरजेंसी ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर राजीव पराशर ने बताया कि जब पीड़िता को गंभीर हालत में लाया गया तो वो चिल्ला रही थी। उसकी हालत खतरे से बाहर है। झुलसे हुए कपड़े पुलिस के हवाले कर दिए हैं। इनकी जांच के बाद पता चलेगा कि युवती पर डाला जाने वाला लिक्विड क्या था? फिलहाल पीड़िता के परिजनों की मांग पर जख्मी कोमल को अमृतसर मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया है।

युवती के झुलसे हुए कपड़े। युवती के झुलसे हुए कपड़े।
झुलसी युवती ने खुद पर डाला पानी। झुलसी युवती ने खुद पर डाला पानी।