--Advertisement--

दो स्कूलों के 22 बच्चे फ्रांस में लापता, सीबीआई ने दर्ज की एफआईआर, छापेमारी

फरीदाबाद और दिल्ली स्थित परिसरों में छापेमारी कर दस्तावेज जब्त किए गए।

Danik Bhaskar | Dec 30, 2017, 05:52 AM IST

नई दिल्ली/कपूरथला. CBI ने मानव तस्करी के एक बड़े रैकेट का पर्दाफाश किया है। रग्बी कोचिंग की आड़ में अवैध रूप से फ्रांस ले जाए गए पंजाब, हरियाणा और दिल्ली के 22 नाबालिग लापता हो गए हैं। इन्हें कपूरथला के दो स्कूलों के जरिए रग्बी ट्रेनिंग के लिए फ्रांस भेजा गया था। सीबीआई ने वीरवार को इस मामले में तीन ट्रैवल एजेंटों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। शुक्रवार को इनके फरीदाबाद और दिल्ली स्थित परिसरों में छापेमारी कर दस्तावेज जब्त किए गए।

ट्रैवल एजेंट फरीदाबाद के ललित डेविड डीन और दिल्ली के संजय रॉय तथा वरुण चौधरी का नाम सीबीआई की एफआईआर में है। आरोप है कि इन्होंने नाबालिगों को विदेश भेजने के बदले हरेक के परिवार से 25-30 लाख रुपए लिए। वीजा आवेदन में लिखा गया था कि 13-18 वर्ष आयु वर्ग के 25 लड़के पेरिस में रग्बी ट्रेनिंग कैम्प में जा रहे हैं। सीबीआई के अनुसार दरअसल साल 2016 के फरवरी महीने में कपूरथला के दो स्कूलों के जरिए 25 छात्र फ्रेंच फेडरेशन के बुलावे पर रग्बी ट्रेनिंग कैम्प के लिए दिल्ली एयरपोर्ट से रवाना हुए थे। इन्होंने एक हफ्ते तक कैम्प में हिस्सा भी लिया। इसी बीच ट्रैवल एजेंटों ने वापसी टिकट रद्द कर दिए। गड़बड़ी की आशंका पर दो लड़के भारत लौट आए।

सीबीआई अधिकारियों के अनुसार वहां बचे नाबालिगों को एक गुरुद्वारे में रखा गया, जिसके बाद वह गायब हो गए। उनमें से एक लड़का फ्रांसीसी पुलिस को मिल गया। इसकी सूचना इंटरपोल के जरिये सीबीआई को मिली। सीबीआई ने प्राथमिक जांच के बाद एफआईआर दर्ज कर ली। जल्द ही लड़कों के परिवारों से संपर्क कर पता किया जाएगा कि क्या कोई गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करवाई गई है या नहीं।