Hindi News »Punjab »Ludhiana» Akali Dal Left For BSP 4 Wards

गठबंधन के बाद अकाली दल ने बसपा के लिए छोड़े 4 वार्ड, तो भाजपा के लिए 6

अकाली दल-भाजपा बसपा में वार्डों को लेकर जारी गतिरोध को सुलझा लिया गया है।

bhaskar news | Last Modified - Dec 04, 2017, 03:56 AM IST

  • गठबंधन के बाद अकाली दल ने बसपा के लिए छोड़े 4 वार्ड, तो भाजपा के लिए 6
    डेमो फोटो

    बलाचौर/नवांशहर.बलाचौर नगर कौंसिल चुनावों में अकाली दल-भाजपा बसपा में वार्डों को लेकर जारी गतिरोध को सुलझा लिया गया है। भाजपा के लिए 6 वार्ड छोड़ने की बात फाइनल होने के बाद अकाली दल के नेताओं ने बसपा नेताओं के साथ देरशाम बैठक की। बसपा के लिए चार वार्ड छोड़े गए हैं। समझौते के तहत भाजपा 6 पर, अकाली दल 5 पर तथा बसपा 4 वार्डों पर चुनाव लड़ेगी। इसके अलावा गठबंधन के तहत तीनों दलों की ओर से अब यह फैसला लेना रह गया है कि जब गठबंधन ही बन गया है तो चुनाव लड़ने के लिए अपनी-अपनी पार्टी के सिंबल की बजाए अब निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में एक ही सिंबल लिया जाए। कुल मिलाकर तीनों दलों में वार्ड पर सहमति बन चुकी है।

    भाजपा बसपा की ओर से पार्टी चिन्ह पर चुनाव लड़ने के लिए कोई जरूरी शर्त जारी नहीं की गई है तथा इन दोनों दलों ने पार्टी सिंबल को छोड़ अन्य सिंबल पर लड़ने की बात कह दी है। इसके अलावा अकाली दल की ओर से पार्टी चिन्ह पर चुनाव लड़ने की घोषणा की हुई है तथा पूर्व विधायक चौधरी नंद लाल की ओर से हाईकमान से बलाचौर में पार्टी चिन्ह पर प्रत्याशी उतारने संबंधी पाबंदी लगाने की बात की जाएगी ताकि गठबंधन के सभी सदस्य एक ही चिन्ह पर चुनाव लड़ें। देर शाम हुई बैठक में चौधरी नंद लाल, दलजीत मानेवाल, विमल कुमार चेयरमैन, हरबंस लाल चणकौआ, दिलबाग राय मेहंदीपुर, जसबीर औलियापुर, सुरजीत कोहली, हरदीप सिंह सियाना, जोगिंदर सिंह अटवाल, हजूरा सिंह पैली, गुरचरण सिंह लधनी, शम्मी सरपंच उधनोवाल, सन्नी भाटिया आदि भी उपस्थित थे। जिला भाजपा प्रधान संजीव भारद्वाज कहते हैं कि पार्टी बलाचौर में छह वार्डों पर लड़ रही है। बाकी नौ वार्डों में से अकाली दल कितने पर लड़ेगा तथा अन्य कांग्रेस विरोधी दल कितनी सीटों पर लड़ेंगे, ये फैसला अकाली दल पर ही छोड़ा गया था।

    बलाचौर. बलाचौर कौंसिल चुनावों को लेकर आम आदमी पार्टी ने जिस तरह से दूरी बनाए रखी है, उससे पार्टी के वर्करों में मायूसी छाई हुई है। वार्ड बूथ लेवल पर काम करने वाले वर्कर का ऐसे में छिटकना संभावित है। बता दें कि कौंसिल चुनावों की नोटिफिकेशन के बाद जहां कांग्रेस, अकाली दल, भाजपा, बसपा वामदलों के नेताओं की ओर से लगातार बैठकें की जा रही हैं, वहीं प्रदेश की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी आम आदमी पार्टी की एक भी बैठक नहीं हो पाई है। पार्टी की ओर से विधानसभा चुनाव लड़ने वाले ब्रिगेडियर राज कुमार की ओर से कौंसिल चुनावों को लेकर वर्करों के साथ एक भी बैठक नहीं की गई।

    हालांकि बलाचौर में आम आदमी पार्टी को चुनावों में शहरी क्षेत्र से बहुत ज्यादा वोट तो नहीं मिल पाए थे, लेकिन पार्टी की ओर से एक भी बैठक करना बेहद हैरानीजनक है। पार्टी के वर्करों में भी इस प्रति निराशा दिखाई दे रही हैं। कुछ वालंटियर की मानें तो उनके अनुसार भले ही पार्टी चुनाव लड़े, कम से कम पार्टी नेता को वर्करों के साथ टच तो होना ही चाहिए तथा उनकी राय जरूर लेनी चाहिए। उधर इस मामले में आप के सीनियर सदस्य चंद्र मोहन जेडी ने कहा कि सोमवार को ब्रिगेडियर राज कुमार की ओर से बैठक की जाएगी तथा जो भी फैसला लेना होगा वह सोमवार को ले लिया जाएगा। अगर हमख्याली दलों से तालमेल बना तो वह भी विचार किया जाएगा।

    वार्ड नं. 10 पर नहीं हुआ फैसला, 15 नंबर में असमंजस

    पार्टियों में तय फार्मूले के मुताबिक अब बसपा समर्थित उम्मीदवार वार्ड नंबर 1, 2, 4 12 से चुनाव लड़ेंगे, जबकि भाजपा की ओर से वार्ड नंबर 7, 8, 9, 11, 13 पर अपने प्रत्याशी उतारे जाएंगे। इसके अलावा अकाली दल वार्ड नंबर 3, 5, 6, 14 15 पर अपने प्रत्याशी उतारे जाएंगे। वार्ड नंबर 10 को लेकर अंतिम फैसला नहीं हो पाया है। वैसे इस वार्ड पर भाजपा के प्रत्याशी के उतरने की संभावना ज्यादा जताई जा रही है। इसके अलावा वार्ड नंबर 15 पर बसपा से जुड़े एक नेता ही ओर से दावेदारी भी जताई जा रही है। ऐसे में अकाली दल ने स्पष्ट कर दिया है कि अगर उन्हें लगा कि बसपा का प्रत्याशी ज्यादा मजबूत हुआ, तो वह वार्ड भी बसपा को दे दिया जाएगा, लेकिन बसपा का प्रत्याशी उनके सिंबल पर लड़ेगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ludhiana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×