--Advertisement--

नाबालिग ने किया था हमला, कोर्ट ने गुरुद्वारे में बूट पॉलिश करने की सजा सुनाई

जुवेनाइल कोर्ट ने आरोपी को दो महीने तक रोजाना गुरुद्वारा साहिब के जोड़ा घर में बूट पॉलिश करने की सजा सुनाई है।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 05:44 AM IST

मोहाली. गुरुद्वारा साहिब में माथा टेकने जा रहे व्यक्ति पर हमला करने के मामले में शुक्रवार को जुवेनाइल कोर्ट ने आरोपी को दो महीने तक रोजाना गुरुद्वारा साहिब के जोड़ा घर में बूट पॉलिश करने की सजा सुनाई है। आरोपी दो घंटे तक बूट पॉलिश करेगा। मोहाली की जुवेनाइल कोर्ट में करीब तीन साल से यह केस चल रहा था। शुक्रवार को दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया और आरोपी को दोषी करार किया। कोर्ट की ओर से कहा गया कि आरोपी को उसकी गलती सुधारने के लिए मौका दिया जाना जरूरी है। उसे गलती का अहसास भी होना चाहिए, इसलिए यह सजा दी जा रही है।


हफ्ते में एक दिन की छुट्टी, अधिकारी रखेंगे नजर: फैसला में कहा गया है कि आरोपी को हफ्ते में एक दिन की छुट्टी दी जाएगी। आरोपी शाम 4 बजे से 6 बजे तक गुरुद्वारे में संगतों के बूट पॉलिश करेगा। आरोपी की सजा पर निगरानी रखने के लिए एक अधिकारी को भी नियुक्त किया गया है, जो गुप्त तरीके से आरोपी पर नजर रखेगा। इससे पहले भी जुवेनाइल कोर्ट की आेर से दो नाबालिग आरोपियों को चोरी के केस में एक साल तक ट्रैफिक कंट्रोल करने की सजा सुनाई गई थी।

गुरुद्वारे में जाते हुए किया था हमला

22 दिसंबर 2013 को हंडेसरा के जगतार सिंह की ओर से थाने में शिकायत दी गई थी। कहा गया कि जब वो शाम के समय गुरुद्वारा साहिब में माथा टेकने जा रहा था तो उसपर एक परिवार ने जानलेवा हमला किया। जगतार सिंह को सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। पुलिस ने पूरे परिवार पर अटेंप्ट टू मर्डर का केस दर्ज किया था।

जुवेनाइल कोर्ट में चल रहा था केस
जुवेनाइल आरोपी की उम्र 18 साल से कम होने के चलते उसका केस जुवेनाइल कोर्ट में शिफ्ट कर दिया गया था। जबकि मामले में नामजद अन्य आरोपियों तथा जुवेनाइल
के अन्य पारिवारिक मेंबर्स का केस मोहाली की अलग कोर्ट
में चलाा।