--Advertisement--

एक दिन पहले जन्मा था बच्चा, नहर के किनारे बोरी में बंद मिला उसका शव

पुलिस गांवों से जुटा रही गर्भवतियों की जानकारी

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 03:02 AM IST

नवांशहर. करियाम रोड नहर से पुलिस को मंगलवार सुबह एक दिन के नवजात का शव मिला है। नवजात को कपड़ों में लपेटने के बाद एक बोरी में डालकर नहर में फेंका गया था। नहर इन दिनों बंद है। कबाड़ चुगने वाले युवक नहर में कबाड़ इकट्ठा करते रहते हैं। उन्हीं में से किसी ने सुबह प्लास्टिक के लिफाफे उठाए तो नीचे बोरी में एक नवजात बच्चा पड़ा था। कबाड़ चुगने वाले बच्चे ने तुरंत पास से गुजर रहे व्यक्ति प्रेम को इसके बारे में बताया, जिसने पुलिस को सूचित किया। इस दौरान लोग भी मौके पर इकट्ठा हो गए।


घटना की सूचना मिलते ही एसएचओ सिटी इंस्पेक्टर शहबाज सिंह पुलिस पार्टी के साथ मौके पर पहुंचे। मृत बच्चा लड़का था और वह शारीरिक तौर पर काफी हेलदी था। पुलिस ने आसपास के लोगों से बच्चे के बारे में जानकारी लेने की कोशिश की। जब कोई व्यक्ति आगे नहीं आया तो पुलिस ने बच्चे के शव को कब्जे में लेकर उसे सिविल अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया। बच्चे को पहचान के लिए तीन दिन मोर्चरी में रखा जाएगा। इसके बाद उसका पोस्टमार्टम कर अगली कार्रवाई की जाएगी।

सामाजिक वजहों से होती हैं ऐसी घटनाएं
मनोचिकित्सक डा. जेएस संधू कहते हैं कि ऐसी घटनाओं की मुख्य वजह सामाजिक कारण ही रहते हैं। हमारा समाज सिंगल मदर कंसेप्ट तो है ही नहीं, ऐसे में कुंवारी मां बनने पर समाज के डर से लोग ऐसा करते हैं।

अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज
पुलिस ने चर्च कालोनी निवासी प्रेम के बयान पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 318 व 201 के तहत मामला दर्ज किया है। प्रेम के अनुसार वह सुबह नहर पर बकरियां चरा रहा था। वहां उसने नवजात को देखा, जिसके बाद उसने पुलिस को सूचना दी। एसएचओ शहबाज सिंह ने कहा कि पुलिस आसपास की आबादी के घरों में सर्च कर रही है कि इस इलाके में कोई गर्भवती महिला की डिलीवरी तो नहीं हुई है।

उपकार व सीआईडी की मदद लेगी पुलिस
पुलिस इस एंगल पर जांच कर रही है कि किसी महिला ने अवैध संतान को छुपाने के लिए मासूम को बेरहमी से नहर में फेंक दिया। मौके पर लोगों से यह भी पूछताछ की जा रही थी कि कही बच्चे को किसी कुंवारी लड़की ने तो जन्म नहीं दिया है। पुलिस भ्रूण हत्या के खिलाफ काम करने वाली उपकार सोसायटी और सीआईडी की भी मदद लेगी।

मासूम को मारे न लोग, पंगूड़े में छोड़ें
उपकार कोआर्डिनेशन सोसायटी के सेक्रेटरी जसपाल सिंह गिद्दा ने इस घटना पर दुख जताते हुए लोगों से अपील की कि लोग अनचाहे बच्चों को मारने की बजाए, उन्हें पंगूड़े में छोड़े। उन्होंने बताया कि उपकार ने चंडीगढ़ रोड पर पंगूड़ा स्थापित किया हैै। उन्होंने कहा कि ऐसे बच्चे के मां-बाप की आईडी छुपा कर रखी जाती है। इससे मासूम की यहां जान बचती है। गिद्दा ने कहा कि यह एक सामाजिक बुराई है। समाज को अपनी मानसिकता बदलते हुए पंगूड़े जैसी सुविधा को अपनाना चाहिए।