--Advertisement--

हेड कांस्टेबल के बेटे ने इंस्पेक्टर के बेटे पर किया हमला, DSP ने बचाया ऐसे

एक इंस्पेक्टर का तो दूसरा हेड कांस्टेबल का बेटा है। दोनों में बुधवार रात मामूली तकरार हुई थी।

Danik Bhaskar | Dec 22, 2017, 07:16 AM IST
सिविल अस्पताल में भर्ती घायल सुखप्रीत। सिविल अस्पताल में भर्ती घायल सुखप्रीत।

कपूरथला. सुुबह डीएसपी दफ्तर के सामने स्थित अनाज मंडी में दो पुलिसकर्मी के बेटों में फिल्मी स्टायल में भिड़ंत हुई। एक इंस्पेक्टर का तो दूसरा हेड कांस्टेबल का बेटा है। दोनों में बुधवार रात मामूली तकरार हुई थी।

वीरवार को हेडकांस्टेबल का लड़का बीती रात हुई तकरार के राजीनामे के लिए इंस्पेक्टर के लड़के को बुला रहा था। वह नहीं आया तो हेड कांस्टेबल के लड़के ने पैदल आते हुए इंस्पेक्टर के लड़के पर पीछे से सफारी गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। वह गिरा, उठा और राहगीर से लिफ्ट लेकर भागा तो उसके मोटरसाइकिल को फिर से टक्कर मारकर तोड़ दिया। यही नहीं हमलावरों ने उसे नीचे गिराकर दातर से हमला कर घायल कर दिया। हमले के बाद मौके पर पहुंचे डीएसपी गुरमीत सिंह ने वायरलेस से गाड़ी को एक घंटे में तो पकड़ लिया। लेकिन, हमला करने वाले हाथ नहीं लगे। पुलिस मामले की जांच में लगी हुई है।

सुखप्रीत सिंह निवासी थाना सदर क्वार्टर ने बताया कि बुधवार रात 8 बजे उसके मोहल्ले के ही हेडकांस्टेबल सुरजीत सिंह के लड़के मनिंदर सिंह से उसकी मामूली बहस हो गई थी। वीरवार को सुबह मनिंदर ने उसे समझौते के लिए फोन कर बुलाया, लेकिन वह नहीं गया। 10.30 बजे के करीब जब वह आनाज मंडी से पैदल रहा था तभी पीछे से एक सफारी गाड़ी से रहे मनिंदर ने उस पर गाड़ी चढ़ी दी। हालांकि वह बच गया। बाद में जान बचान के लिए वह एक बाइक सवार से लिफ्ट लेकर क्वार्टर की तरफ भागने लगा तो मनिंदर ने पीछे से बाइक पर टक्कर मार दी और उस पर दातरों से हमला कर दिया। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। इस घटना में लिफ्ट देने वाले युवक की बाइक भी टूट गई। सूचना मिलते ही डीएसपी वहां पहुंचे, तब तक हमलावर वहां से फरार हो चुके थे। पुलिस हमलावरों की तलाश कर रही है।